जैकलीन की पटियाला हाउस कोर्ट पेशी, जेल में दिल्ली पुलिस ने रिक्रिएट किया पूरा क्राइम सीन और फिर …

0
200

बॉलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज को ठग सुकेश से मनी लॉन्ड्रिंग केस में बड़ी राहत मिली है . पटियाला हाउस कोर्ट से उन्हें 50 हज़ार के मुचलके पर अंतरिम जमानत दी है. इससे पहले जैकलीन आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुईं थी. जहाँ उन्हें 200 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अदालत ने तलब किया था. मामले की अगली सुनवाई 22 अक्टूबर को होगी. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश शैलेंद्र मलिक ने जमानत याचिका पर ईडी से जवाब मांगा. तब तक जैकलीन की नियमित जमानत कोर्ट में लंबित रहेगी. जैकलीन के वकील के अनुरोध पर कोर्ट ने जैकलीन को 50 हजार रुपये के मुचलके पर अंतरिम जमानत दी है.

वहीँ दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा की टीम 200 करोड़ की ठगी के मामले में शनिवार को तिहाड़ जेल की जेल नंबर एक में जांच के लिए पहुंची थी. यहां पर सुकेश ठग मामले में 2 एक्ट्रेस को साथ में लेकर क्राइम सीन रीक्रिएट कराया गया था. ये दोनों एक्ट्रेस निकिता तम्बोली और सोफिया सिंह थीं. इन दोनों को तिहाड़ जेल की 1 नंबर जेल में ठग सुकेश चंदशेखर से मिलवाया गया था. सुकेश ने तिहाड़ की बैरक को अपना अड्डा बनाया हुआ था. दोनो एक्ट्रेस कैसे तिहाड़ में गई थीं किस गेट से गई थीं वो सब क्राइम सीन रीक्रिएट कराया गया. जिससे पता लगाया जा सके कि क्या वो सच बोल रही है . दोनो को पिंकी ईरानी के जरिये सुकेश से इन सभी अभिनेत्रियों को मिलवाया गया था.

सुकेश चंद्रशेखर फिलहाल जेल में बंद है. आपको बता दें सुकेश चंद्रशेखर पर फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रमोटर शिविंदर मोहन सिंह की पत्नी अदिति सिंह जैसे हाई-प्रोफाइल व्यक्तियों सहित कई लोगों को धोखा देने का आरोप है. ईडी के मुताबिक, जैकलीन और एक अन्य बॉलीवुड एक्ट्रेस नोरा फतेही को उनसे लग्जरी कारें और अन्य महंगे गिफ्ट्स मिले.

आपको बता दें महाठग सुकेश चंदशेखर ने तिहाड़ की जेल को ही अपना दफ्तर बनाया हुआ था. जेल में काम करने वाले पुलिस अधिकारीयों को अपना मुलाज़िम समझता था .सुकेश सिर्फ पैसा फेंकता और अधिकारी उसके कहे मुताबिक उसके सभी आदेशों का पालन करते.
सुकेश चंद्र शेखर ने सभी अभिनेत्रियों को महंगे बजट वाली फिल्मों में काम का झांसा देकर बेवक़ूफ़ बनाया. ये आरोप निकिता तम्बोली से लेकर जैकलीन और नोरा फ़तेहि का भी है .

सुकेश मामले में सबसे महत्वपूर्ण पहलू है की जेल के अंदर से उसने ये सब ऑपरेट किया. जेल के अंदर मौजूद तमाम अधिकारी उसका हर कहा मानते रहे. बदले में सुकेश उनपर पैसा लुटाता रहा . बार बार ये सामने आ रहा था की जेल के अंदर बुलाया जाता था. उनको झांसा दिया जाता था. इसी कड़ी में EOW का कहना है कि उनके केस के लिए काफ़ी अहम था कि वो ये सब जान सके कि किस प्रकार एंट्री करता था. कहाँ पर बैठथा था.. कैसे मिलता था उसी के लिए सीन को रिक्रिएट किया गया है . पुलिस का कहना है कि जब मामले का ट्रायल होगा तब ये काफ़ी महत्वपूर्ण होगा की ये सिंडिकेट कैसे चल रहा था.. जेल के अंदर कैसे अधिकारीयों को उसने अपने झांसे में लिया और कैसे अधिकारी भी उसकी प्लानिंग में शामिल थे.

जब पुलिस अधिकारीयों ने अभिनेत्रियों से पूछ कि कभी उन्हें सुकेश की ठगी का पता नहीं चला. इस पर दोनों अभिनेत्रियों ने कहा कि शक तो हुआ था लेकिन ये सुकेश बड़ी चालाकी से कहता था कि मैं जेल के अंदर बैठ कर फ़िल्म बना रहा हूँ. मेरा कैंपस यहाँ पर है इस तरह के झूठ बोलता था. झाँसा देने में एक्सपर्ट है जो शक करते है उनको भी अपनी बड़ी बड़ी बातो से अपने झांसे में ले लेता है..

पुलिस का कहना है कि सुकेश ठगी मामले में और भी कई एक्ट्रेसेस का नाम शामिल है कुछ हीरोइन बची है जिनसे आने वाले वक्त में पूछताछ की जायेगी.
इस पूरी घटना में गौर करने वाली बात ये है कि 2018 से जेल से ये सब चल रहा था. जिसमे जेल के अधिकारी भी शामिल हुए* जेल के अंदर हीं पूरा सेटअप कर लिया गया . पुलिस अधिकरियों का कहना है कि यूनिटेक के चंद्रा ब्रदर को सुप्रीम कोर्ट के कहने पर एक छोटा ऑफिस खोलने का इजाज़त मिली थी. उसी को देख कर इसने अपना सेटअप कर लिया जिसमे जेल अधिकारियो की मिली भगत रही..
EOW का कहना है कि इस ठगी में और भी कई एक्ट्रेस शामिल है . अभी तक कुछ ही लोगों का नाम सामने आया है. जिनकी फाइनेंसियल ट्रांसेक्शन हुई है. लेकिन लिस्ट अभी और भी लंबी है. फिलहाल किसी को क्लीन चिट नहीं दी है. जरुरत पड़ने पर सभी को बुलाया जाता रहेगा.