Sunday, December 3, 2023

Nawada Bus Loot Kand: 5 दिन में पुलिस ने सुलझाया लूटकांड,लूट के माल के साथ 2 आरोपी गिरफ्तार 3 फरार

नवादा : नवादा पुलिस ने  15 नवंबर को हुए बस लूट कांड Nawada Bus Loot Kand में संलिप्त अपराधियों का खुलासा किया है और दो लोगों को गिरफ्तार किया है.Nawada Bus Loot Kand मामले के खुलासे के साथ ही लूटे गए माल की भी बरामदगी की गई है.

Nawada Bus Loot Kand का पुलिस ने किया खुलासा

नवादा एसपी अमरेश राहुल ने आज प्रेसवार्ता में बताया कि 15 नवंबर को बुंदेलखंड थाना क्षेत्र के जीवन अस्पताल के पास बुंदेला नाम के बस को रोक कर कुछ हथियार बंद अज्ञात अपराधियों ने डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था. इस घटना को नवादा पुलिस ने एक चुनौती के रूप में लेते हुए इसे सुलझाने के लिए एक टीम का गठन किया गया. इस टीम की कमान खुद जिला एसपी के हाथों में थी. पुलिस टीम ने अपराधियों का पता लगाने के लिए नवादा शहर के सभी चौक चौराहा और दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की, विभिन्न वैज्ञानिक तकनीकों का सहारा लिया गया. डिडेक्टिव्स/गुप्तचर तैनात किए गए और पुराने अपराधियों संलिप्तता की जांच के लिए सत्यापन भी किया गया.

 पांच दिन में पुलिस की कार्रवाई रंग लाई

पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई आखिकार रंग लाई और केवल पांच दिन में नवादा पुलिस ने घटना में शामिल अपराधियों की पहचान स्थापित कर ली. उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरु की गई. इसी बीच नवादा पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि गैंग के सदस्य फिर से नगर थाना क्षेत्र के डॉमटोली के दक्षिण खीरी नदी के किनारे इकट्ठा होकर डकैती की किसी नई घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं. इसी सूचना के आधार पर  पुलिस अधीक्षक के आदेश पर छापेमारी की. छापेमारी के दौरान गैंग के चार सदस्य मन्नू डोम,करण,बिरजू डोम और दीपक डोम को डकैती करने की योजना बनाते देखा गया. पुलिस ने जब दबिश दी तो दो पकड़े गये और बाकी अंधेरे का फायदा उठाकर ङाग गये. इन दोनों को जिंदा कारतूसों के साथ गिरफ्तार किया गया है. पुलिस अब भागे हुए तीन अपराधियों की तलाश में है.

गिरफ्तार लोगों ने घटना मे संलिप्तता मानी

गिरफ्तार किये गये आरोपियों से पूछताछ में उन्होंने ये स्वीकार किया कि उनके द्वारा ही 15 नवंबर को सुबह 3:00 बजे बुंदेला बस में डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था. फिलहाल पुलिस गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ कर रही है. नवादा पुलिस की इस कार्रवाई ने साबित कर दिया है कि अगर पुलिस चाह ले तो अपराधी चाहे कितना भी शातिर हो पकड़ में आ ही जाता है.

Latest news

Related news