खूब होता था झगड़ा, पत्नी पीटती भी थी, नाराज होकर पति ताड़ के पेड़ को बनाया आशियाना

0
208

पति पत्नी का रिश्ता बड़ा पेचीदा होता है. इस रिश्ते में अगर 7 जन्म तक साथ निभाने की ताकत होती है. तो जनाब छोटी छोटी बातों पर तकरार भी होती है. शायद ही पूरी दुनिया में कोई मर्द होगा जो अपनी बीवी से डरता ना हो. तो आज कुछ ऐसा ही मामला सामना आया जहाँ पत्नी से लड़ाई के बाद पति ने कुछ ऐसा किया कि आज ख़बरों की सुर्ख़ियों में है.

मामला यूपी के मऊ का है. जहाँ पत्नी से झगड़े के बाद पति 32 दिन तक 100 फीट ऊंचे ताड़ के पेड़ पर चढ़ा रहा. यहाँ तक कि पत्नी के डर से उस शख्स ने उस ताड़ के पेड़ को ही अपना नया आशियाना बना लिया. अब इसे पत्नी का डर कहें या पति का गुस्सा. वो समझ से बाहर है. इस खबर को सुनने के बाद आपको वो कहावत जरूर याद आई होगी कि आसमान से गिरा और खजूर में अटका. तो यही कुछ हाल इन जनाब का हुआ. जिन्होंने ताड़ के पेड़ पर पत्नी से दूर परिवार से दूर अपना आशियाना बसा लिया. ऐसा करने वाले शख्स का नाम है रामप्रवेश जिन्हे फिलहाल पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद नीचे उतारा और हिरासत में लिया.

दरअसल मऊ के थाना कोपागंज क्षेत्र के बशारतपुर गांव के दलित बस्ती में रहने वाले रामप्रवेश का पत्नी के साथ 6 माह से झगड़ा चल रहा था. उसका आरोप था कि पत्नी द्वारा उसे मारा-पीटा जाता था. जिससे नाराज होकर वो अपने घर के पास ताड़ के 100 फीट ऊंचे पेड़ पर एक महीने से रहने लगा था. परिवार और ग्रामीणों ने उसे नीचे उतारने की काफी कोशिश की पर वो नीचे नहीं उतरा. पेड़ पर ही भगवान की पूजा करने लगा.

रामप्रवेश के पिता ने बताया कि उसका पत्नी से झगड़ा होता रहता था. जिसके बाद उसने पेड़ पर ही रहना शुरू कर दिया था. उसे रस्सी के सहारे पेड़ पर खाने को दिया जाता था. वहीं ग्रामीणों का कहना है कि वो रात में नीचे उतरता था. अपनी निजी क्रिया कर वापस पेड़ पर चढ़ जाता था.

एसडीएम हेमंत चौधरी ने बताया, “बिना वर्दी की पुलिस के जवानों और नौजवानों को अगल-बगल के ताड़ के पेड़ पर चढ़ाया गया. पहले टीम ने रामप्रवेश द्वारा बनाए गए खांचे को नीचे गिराया. इसके बाद दो युवाओं को रामप्रवेश वाले पेड़ पर चढ़ाकर जाल पर गिराकर सही सलामत रेस्क्यू किया.
तो कैसा लगा एक पत्नी के अत्याचारों से सताये एक अबला पति की कहानी जानकार . खबर पर अपनी राये जरूर बताएं और देखते रहे.