Saturday, February 24, 2024

तेजस्वी यादव के आवास पर पहुंची बिहार पुलिस ,आनंद मोहन के बेटे ने लिखाई FIR

पटना (अभिषेक झा- ब्यूरोचीफ)  कल सुबह यानी 12 फरवरी को विधानसभा में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले बिहार की राजधानी पटना में राजनीतिक बिल्कुल फिल्मी अंदाज में चल रही है. लगातार राजनीतिक हलचल जारी है. जेडीयू  और बीजेपी के सभी विधायक और पार्षद  बारी बारी से पटना के सितारा होटलों में भेजे गये. अब ये लोग सीधे विधानसभा परिसर पहुंचाये जायेंगे. इस बीच रविवार शाम को तेजस्वी यादव Tejashwi Yadav के घर पर बड़ा घटनाक्रम हुआ.Tejashwi Yadav  के आवास पर जहां आरजेडी के विधायकों को रखा गया है वहां छानबीन करने पुलिस पहुंच गई.

तेजस्वी यादव के आवास पहुंची बिहार पुलिस 

पटना में राजद नेता तेजस्वी यादव के घर 5,देशरत्न आवास पर आज शाम अचानक पुलिस अधिकारियों का एक दल,  जिसमें कई वरिष्ठ अधिकारियों और भारी संख्या में पुलिसकर्मियों शामिल थे, वे लोग पहुंचे और घर के अंदर छानबीन की. तेजस्वी आवास पर पहुंचने वालों में पटना एसडीएम, पटना सिटी एसपी  शामिल थे. अचानक तेजस्वी यादव के घर पर पुलिस के देख माहौल गर्मा गया .पत्रकारों ने जब पूछा तो सिटी एसपी ने कहा कि कार्रवाई हो जाने दीजिए तब बताएंगे. राजद एमएलसी सुनील सिंह और राजद नेता शक्ति यादव तेजस्वी आवास से बाहर निकले और पुलिस अधिकारियों से बातचीत की.

राजद ने सोशल मीडिया पर किया पोस्ट 

इस घटना के बाद राजद ने अपने सोशल मीडिया पर इसके बारे में लिखा है. राजद ने कहा कि सरकार जाने के डर से नीतीश कुमार ने पुलिस को घर पर भेजा. वो हमारे विधायकों के साथ गलत अप्रिय करना चाहते थे……

आनंद मोहन के छोटे बेटे ने बड़े भाई के गायब होने की कराई FIR   

दरअसल खबर ये है कि बिहार पुलिस तेजस्वी यादव के घऱ पर आरजेडी विधायक चेतन आनंद और एक और विधायक को ढूंढने आई थी.  आरजेडी विधायक चेतन आनंद के छोटे भाई और आनंद मोहन के छोटे बेटे अंशुमन आनंद ने पाटलीपुत्र थाना में एक FIR दर्ज कराई थी,जिसमें कहा गया कि उनके बड़े भाई चेतन आनंद जो वर्तमान में शिवहर से राजद के विधायक हैं, वो कल दिनांक 10 .2 .2024 को करीब ढाई बजे दिन में परिजनों को ये कहकर निकले कि  मैं जरुरी मिटिंग के लिए जा रहा हूं. उसके बाद शाम करीब 6 बजे उनके मोबइल पर संपर्क किया गया तो उन्होने कहा कि ववो शाम 7 बजे तक घर आ जायेंगे लेकिन भाई वापस नहीं आ. ना ही उनसे संपर्क हो पा रहा है.जिसके कारण  परिवार के लोग चिंतित हैं. एक बार बहन सुरभी आनंद के मोबाइल फोन पर संपर्क हुआ था, लेकिन फिर संपर्क नहीं हो पा रहा है . अत: अनुरोध है कि न्यायोचित कार्रवाई करते हुए मेरे भाई को ढ़़ूढ़ने की कृपा की जाये.

Anshuman Anand FIR
Anshuman Anand FIR

राजद के  दो विधायकों के परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज की थी कि उनके परिजन को तेजस्वी आवास में जबरन बंदी बनाकर रखा गया है.  तेजस्वी आवास पर पुलिस इसी सिलसिले में छानबीन करने पहुंची था.

 10 फरवरी से राजद के सभी विधायक तेजस्वी आवास पर मौजूद   

दरअसल 12 फरवरी यानी कल सुबह  होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले राजद को डर है कि उनके विधायकों पर कहीं किसी तरह का दवाब ना पड़े. इसलिए  10 फरवरी की मिटिंग में आने के बाद ही सभी विधायकों से कह दिया गया था कि वो अगले दो दिन तक सभी वहीं रहेंगे. ऐसे में चेतन आनंद के भाई अंशुमन आनंद का  ये FIR  कुछ अलग ही कहानी की ओर इशारा कर रहा है. दरअसल ठाकुर का कुंआ प्रकऱण के बाद से कहा जा रहा है कि आनंद मोहन का झुकाव राजद की जगह जेडीयू की ओर हो गया है. जिस तरह से ठाकुर का कुंआ प्रकरण में आनंद परिवार के विरोध के बावजूद राजद की तऱफ से इसे तवज्जो नहीं दी गई, ये घटना उसी का परिणाम मानी जा रही है.

ये भी पढ़े:- RajyaSabha Elections 2024: बीजेपी ने बिहार समेत कई राज्यों के लिए जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट, सुशील मोदी के साथ जीतनराम मांझी का पत्ता साफ

कभी आरजेडी के करीबी माने जाने वाले आनंद मोहन का परिवार अब राजद से दूर जेडीयू की ओर झुकता नजर आ रहा है. वहीं आपको बता दें कि  इस समय भी आनंद मोहन के बड़े बेटे चेतन आनंद शिवहर से राजद के विधायक है.  राजद के विधायक होते हुए अपने ही नेता के खिलाफ FIR दर्ज कराना राजद के आस पास की राजनीति को बयान कर रहा है. ऐसे में खेला करने और नीतीश सरकार को बहुमत परीक्षण में हराने का दावा करने वाली राजद को विधान सभा में मुंह की खानी पड़ सकती है.

Latest news

Related news