Tuesday, September 26, 2023

लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सामने रखा नया लक्ष्य, कहा साल 2047 तक देश को बनाना है विकसित भारत

आजादी के अमृत महोत्सव को खास बनाने की हर कोशिश के साथ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सामने आए. अपने 80 मिनट के भाषण में पीएम ने आज़ादी के मतवालों को याद किया तो देश के सामने 5 प्रतिज्ञाएं भी रखी जो 2047 तक पूरा करने का उन्होंने लक्ष्य रखा.
15 अगस्त समारोह की शुरुआत सुबह पीएम मोदी के राज घाट दौरे से हुई. पीएम ने महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी और फिर वह पहुंचे लाल किले जहां उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज फहराया. पीएम का अंदाज़ा आज पिछले 7 सालों से जुदा था. आपको याद होगा नरेंद्र मोदी हर साल स्वतंत्रता दिवस पर एक खास तरह की पगड़ी पहनते हैं. अमृत महोत्सव के जश्न में उन्होंने अपनी पगड़ी का रंग और स्टाइल दोनों बदल दिया. इस मौके पर पीएम ने राष्ट्रीय ध्वज के रंग वाली कई धारियों की सफेद पगड़ी पहनी.
देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबसे पहले स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया. पीएम ने कहा- हम बापू, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबासाहेब अंबेडकर, वीर सावरकर के शुक्रगुजार हैं, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी.
प्रधानमंत्री ने इस मौके पर स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल महिलाओं को भी सलाम किया. पीएम मोदी ने कहा जब हम देश की महिलाओं की ताकत को याद करते हैं फिर चाहे वह रानी लक्ष्मीबाई हो, झलकारीबाई, चेन्नम्मा, या बेगम हजरत महल तब हर भारतीय का सीना गर्व से भर जाता है.
पीएम ने कहा, “मैं इस अमृत काल में देश की तरक्की में कई गुना योगदान नारी शक्ति का देख रहा हूं, माताओं, बहनों और बेटियों का देख रहा हूं. हम जितने ज्यादा अवसर हमारी बेटियों को देंगे, जितनी सुविधाएं बेटियों पर केंद्रित करेंगे वे हमें उससे कई गुना लौटा कर देंगी. वो देश को नई ऊंचाई पर ले जाएंगी”.
पीएम मोदी ने देशवासियों से कहा कि ये वक्त स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को पूरा करने का है. पीएम ने लोगों से 2047 तक पांच प्रतिज्ञाओं के साथ आगे बढ़ने को कहा. पीएम मोदी ने कहा कि हर देशवासी को साल 2047 तक ये पांच प्रतिज्ञाएं पूरी करनी चाहिए. पीएम ने अह्वान किया की विकसित भारत, गुलामी को दूर करना, विरासत में गर्व, एकता, नागरिकों का कर्तव्य इन पांच प्रतिज्ञाएं को हर देशवासी 2047 पूरा करें. पीएम मोदी ने विकसित भारत पर खास ज़ोर देते हुए कहा कि हमें इससे कम कुछ नहीं चाहिए. उन्होंने कहा कि वह 25 साल के भीतर विकसित भारत बनाएंगे. इसके साथ ही पीएम मोदी ने भारत की विविधता का जिक्र करते हुए कहा कि हमें गुलामी की मानसिकता से निकलना होगा. पीएम ने देश की सेवा में लगे सेना के अधिकारियों को सलाम किया. और कहा कि भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद देश की सबसे बड़ी चुनौती है.
इस बार के जश्न में सभी कुछ अलग किया गया है. लाल किले पर आजादी के नायकों की बड़ी-बड़ी तस्वीर और पोस्टर लगाए गए. इसमें खासकर स्वतंत्रता सेनानियों की पेंटिंग सबसे खूबसूरत लगी. इन तस्वीरों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, आजाद हिंद फौज के नायक सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह के अलावा बाल गंगाधर तिलक और राम प्रसाद बिस्मिल भी जैसे कई नायक शामिल हैं.
राजधानी दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आंतकी खतरें को देखते हुए कड़े सुरक्षा बंदोबस्त भी किए गए हैं. लाल किले की सुरक्षा के लिए 10,000 से अधिक जवानों को तैनात किया गया है. साथ ही दिल्ली में सुरक्षा मज़बूत करने 1000 कैमरे भी लगाएं गए है.

Latest news

Related news