Friday, February 23, 2024

Bihar Budget: सम्राट चौधरी ने अपना पहला 2.79 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया, आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में की महागठबंधन सरकार की जमकर तारीफ

मंगलवार को बिहार सरकार ने वित्त वर्ष 2024-25 के लिए विधानसभा में बजट पेश किया. उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने 2.79 लाख करोड़ रुपये का बजट सदन में पेश किया.

सम्राट चौधरी ने गिनाई महागठबंधन सरकार की उपलब्धियां

मज़ेदार ये रहा कि 15 दिन पहले ही सरकार में शामिल होने वाले बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने बजट पेश करते हुए पिछली आरजेडी-जेडीयू की तारीफ भी की और कहा कि चालू वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान राज्य में 2.5 करोड़ लोग गरीबी रेखा से ऊपर उठे है. 15 दिन पहले तक विकास थम जाने का दावा करने वाले सम्राट चौधरी ने अपने बजट भाषण में कहा कि बिहार की अर्थव्यवस्था दूसरे राज्यों से बेहतर रही है. उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष में प्रदेश की वृद्धि दर 10.64 प्रतिशत रही.

आर्थिक विकास के साथ हो रहा सामाजिक विकास

बजट सत्र के दूसरे दिन सदन में बिहार आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट 2023-24 पेश करते हुए सम्राट चौधरी ने पिछली महागठबंधन सरकार के काम की तारीफ की. वित्त मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में डेढ़ गुना वृद्धि हुई है. प्रदेश ने औद्योगिक क्षेत्र में लगातार बेहतर काम किया जा रहा है.

वित्त मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि प्रदेश में पहले जहां परिवहन और संचार क्षेत्र 46 हजार का था वो अब कई गुना बढ़कर 729 करोड़ हो गया है, ऐसे ही पशुपालन का बजट भी अब 12525 करोड़ से बढ़कर अब 28 हजार 621 करोड़ का हो गया है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की कृषि केंद्रित योजनाओं से किसान को काफी लाभ मिल रहा है और आत्मनिर्भर हो रहे हैं.

उपमुख्यमंत्री ने सामाजिक विकास को लेकर चलाई गई कई योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता योजना भत्ता के तहत अबतक 6.93 लाख से ज्यादा आवेदकों को लाभ मिला है. इस साल इसमें 693 करोड़ रुपये खर्च हुए है जिसे अगले वित्तीय वर्ष में बढ़ा कर 200 करोड़ करने का प्रावधान किया गया है. इसी तरह कुशल युवा कार्यक्रम के तहत पिछले साल 16.72 लाख से ज्यादा आवेदकों को प्रशिक्षण दिया गया था और फिलहाल 82 हजार से ज्यादा का प्रशिक्षण जारी है. उप मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार इसी योजना के लिए 363 करोड़ रुपये का प्रावधान कर रही है.
उपमुख्यमंत्री ने इस बात पर ज़ोर दिया कि राज्य में आर्थिक विकास के साथ सामाजिक विकास भी हो रहा है. इसके अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य और सामाजिक जागरूकता सरकार की प्रथमिकताओं में है.

स्वास्थ्य और खेल के क्षेत्र को प्रोत्साहित करने का है प्लान

सम्राट चौधरी ने अपने बजट बाषण में बताया कि देश के अन्य राज्यों के मुकाबले बिहार में मातृ मृत्यु दर बेहतर है. उन्होंने कहा कि इसमें 27 प्रतिशत की कमी हुई है. इसके साथ ही प्राथमिक एवं उच्च शिक्षा में ड्राप आउट होने वाले बच्चों की संख्या में कमी आई है.
सम्राट चौधरी ने बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि 31 जनवरी 2024 तक इस योजना के तहत 4766 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया है. जिसे उनकी सरकार आगामी वित्तीय वर्ष में 700 करोड़ रुपये करना चाहती है.

राज्य के खिलाड़ियों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रोत्साहित देने के लिए सरकार हर जिले में एक इंडोर स्टेडियम बनाने जा रही है.
सम्राट चौधरी ने स्वच्छ जल सभी तक पहुंचने की हर घर नल का जल योजना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना के तहत 1.85 लाख घरों को लाभ हुआ है, अगले वित्तीय वर्ष में इस योजना का बजट 1295 करोड़ रुपये रखा गया है.

बिजनेस के साथ पर्यटन पर भी है सरकार ध्यान

सम्राट चौधरी ने बिहार बिजनेस कनेक्ट का जिक्र करते हुए कहा कि इसके तहत प्रदेश में 50 हजार 503 करोड़ के निवेश पर एमओयू साइन किया गया.
नए वित्त मंत्री ने स्वरोजगार के लिए 94 लाख परिवारों को 2 लाख अनुदान देने की घोषणा भी की और साथ ही प्रदेश में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए नई पर्यटन नीति लागू करने का भी एलान किया.

ये भी पढ़ें-Asaduddin Owaisi: अपनी कुर्सी-बचाओ खेल प्रतियोगिता से समय मिल जाये तो थोड़ा काम भी कर लीजिए? AIMIM नेता की हत्या पर ओवैसी ने कसा नीतीश पर तंज

Latest news

Related news