Monday, June 17, 2024

ज्ञानदेव अहूजा के बयान से मचा बवाल,कांग्रेस ने कहा बीजेपी का असली चेहरा सामने आया

बीजेपी नेता ज्ञानदेव अहूजा के एक कबूलनामे ने बवाल मचा दिया है.अभी तक जो लोग बीजेपी पर दंगा कराने और अपने राजनीतिक फायदे के लिए सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने का आरोप लगाते थे उनको बीजेपी के ही एक पूर्व विधायक नेता ज्ञानदेव अहूजा से कबूलमाना मिल गया है.

राजस्थान में आये दिन एक के बाद दूसरे शहर में हो रहे सांप्रदायिक हिंसा और तनाव के बीच ज्ञानदेव अहूजा के बयान ने माहौल को और अधिक गर्मा दिया है .राजस्थान के रामगढ़ से बीजेपी के पूर्व विधायक रहे ज्ञानदेव अहूजा का एक वीडियो वायरल है जिसमें वो खुले आम दूसरे समुदाय के लोगों के कत्ल की बात कर रहा है.चौपाल पर बैठकर खुल्मखुल्ला दंगे फैलाने की रणनीति बनाते हुए कह रहा है कि “अब तक पांच हमने मारे हैं.कार्यकर्ताओं को खुली छूट दे रखी है कि मारो,जमानत हम करवायेंगे.पहली बार इन लोगों ने हमारे एक व्यक्ति को मारा है”

ज्ञानदेव अहूजा का ये बयान उस समय सामने आया जब गोविंदगढ़ में मॉब लिंचिंग में मारे गये चिरंजीलाल के घर पर शोक जताने गया था.इस बातचीत के दौरान अहूजा ने उदयपुर में कन्हैया लाल का सिर कलम करने की घटना का भी जिक्र किया.

वीडियो वायरल होने के बाद इस मामले में पुलिस ने ज्ञानदेव आहूजा के खिलाफ अनर्गल टिप्पणी करने और धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया है. पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद अब आहूजा सफाई देते नजर आ रहा है. अपनी सफाई में अहूजा ने कहा कि मैं ना सांप्रदायिक व्यक्ति हूं ना ही मुसलमानों के खिलाफ हूं.

ये पहला मामला नहीं है जब ज्ञानदेव आहूजा ऐसे भड़काउ बयान देता नजर आया है. इससे पहले राजस्थान के अलवर में बडौदामेव इलाके में बाइक से 8 साल की लड़की को टक्कर लगने के बाद लोगों ने बाइक सवार योगेश जाटव की बेरहमी से पिटाई कर दी थी, जिसमें युवक की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद आहूजा के बयान ने बवाल मचा दिया था. इस घटना को सांप्रदायिक रंग देते हुए आहूजा ने  एक समुदाय विशेष के लोगों पर पीट-पीट कर हत्या करने (मॉब लिंचिंग) का आरोप लगाया दिया था. जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था.

ज्ञानदेव आहूजा के ताजा बयान पर राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि- बीजेपी के मजहबी आतंक और कट्टरता के और क्या सबूत चाहिये.पूरे देश के सामने बीजेपी का असली चेहरा आ गया है.

मामला सामने आने के बाद पुलिस ने ज्ञानदेव आहूजा के खिलाफ सांप्रदायिक भावना भड़काने के मामले में धारा 153 A के तहत मुकदमा दर्ज किया है.

 

 

Latest news

Related news