Saturday, April 13, 2024

बिहार में शोहदों की मनमानी , झगड़ा सुलझाने गई पुलिस को बनाया बंधक   

संवाददाता अजय धारी सिंह, मधुबनी (Madhubani):  मधुबनी में गांव एरेरा में उस समय हंगामा ममच गया जब वहां एक  विवाद को सुलझाने गई पुलिस की टीम को ही स्थानीय कुछ लोगों ने बंधक बना लिया. बंधख बनाने के साथ साथ उनके मोबाइल फोन भी छीन लिया. स्थानीय लोगों ने जिन्हें  बंधक बनाया उनमें  थानेदार और साथ गए पुलिसकर्मी  शामिल थे. जिन लोगों ने पुलिसकर्मियों को बंधक बनाया, उन्होंने ना केवल उनके फोन छीने बल्कि पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट भी की. घटना के दौरान करीब एक घंटे तक असामाजिक तत्वों ने  दरोगा समेत पुलिसकर्मियों  को बंधक बनाये रखा. साथ ही थानेदार का मोबाइल छीनकर जमकर हंगामा किया गया.

ग्रामीणों ने पुलिस को बनाया बंधक

घटना की सूचना जब डीएसपी को मिली, तब आसपास के कई थानों की पुलिस मौके पर पहुँची और बंधक बनाये गये पुलिसकर्मियों को छुड़ाया. साथ ही थानेदार नेहा निधि सहित अन्य जख्मी पुलिसकर्मी को रहिका पीएचसी में इलाज के लिए भर्ती भी कराया गया. मिली जानकारी के अनुसार फिलहाल पुलिस ने मामले में संलिप्त तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है.

विवाद के चलते घर के अंदर घुसकर मारपीट

जानकारी के अनुसार ढंगा के साक्षी कुमारी, दीपाली और विनती ठाकुर एक ही ऑटो से मैट्रिक की परीक्षा देने के लिए कलुआही होते हुए मधुबनी के वाटसन हाई स्कूल स्थित सेंटर आती-जाती थी. बीते दो दिन पूर्व किसी बात को लेकर विनती ठाकुर और साक्षी के बीच विवाद हो गया था. विवाद मंगलवार को हुआ था. जिसके बाद विनती ठाकुर के भाई ने बाइक से साक्षी और उसकी सहेली दीपाली से बदसलूकी की. मंगलवार की देर शाम विनती ठाकुर के परिजन दर्जनों लोगों के साथ साक्षी के घर पहुँच गए और मारपीट एवं गाली गलौज करने लगे. जिसकी सूचना साक्षी की बहन रोजी ने अरेर एसएचओ को दी.

लोगो ने थाना की वाहन पर किया पथराव

संध्या गश्ती पर निकली एसएचओ नेहा निधि लोहा चौक से दो पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची. नेहा निधि ने उग्र हुए लोगों को शांत कराया और एक व्यक्ति को पुलिस गाड़ी में बैठने के लिए कहा. इसी दौरान लोग उग्र हो गए और थाना की वाहन पर पथराव कर एसएचओ समेत चार पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया. इस दौरान एसएचओ ने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए सरकारी मोबाइल से डीएसपी बेनीपट्टी को घटना की सूचना दी. सूचना पर कलुआही, रहिका और औंसी ओपी की पुलिस पहुँच कर बंधक बने पुलिस को बाहर निकाला गया.

Madhubani एसएचओ नेहा निधि ने बताया

इस मामले में एसएचओ नेहा निधि के बयान पर ढंगा के गुलाब ठाकुर, जयप्रकाश ठाकुर, लालबाबू ठाकुर, शैलेन्द्र ठाकुर, बिकाऊ ठाकुर, निर्मला देवी, भगवान जी यादव, रविन साव, सुजीत ठाकुर, राहुल कामत, मनिता कामत सहित 25 अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

ये भी पढ़ें: INDIA Alliance: यूपी में 17 कांग्रेस तो 63 पर एसपी और सहीयोगी लड़ेंगे चुनाव, डिंपल बोली-समाजवादी पार्टी शुरू से ही गठबंधन चाहती थी

मिली जानकारी के अनुसार अरेर एसएचओ नेहा निधि ने बताया कि मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. कांड के अन्य लोगों को भी बख्शा नहीं जाएगा. हालांकि मामले को लेकर कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है और साथ ही घटना की आधिकारिक पुष्टि अभी तक नही हो पाई है. मामले को लेकर पुलिस कुछ भी बात बता नही रही है.

Latest news

Related news