Monday, June 17, 2024

बिहार मंत्रिमंडल में शामिल होना मेरे लिए अपमान की बात-उपेंद्र कुशवाहा

 

 

 

समता पार्टी का विलय कर जेडीयू में शामिल होने वाले उपेंद्र कुशवाहा का कहना है कि बिहार सरकार में मंत्री बनना मेरे लिए सम्मान की नहीं बल्कि अपमान की बात है,मैं केंद्र में मंत्री रहा चुका हूं, इसलिए बिहार सरकार में मंत्री बनना मेरे लिए पदावनति (Demotion)की बात है. मैं जब चाहूं मंत्री बन सकता हूं.  मेरे बारे में अनर्गल बाते करने वालों को पता होना चाहिये कि अपने राजनीतक जीवन में पद ना मिलने पर मैंने कभी नाराजगी नहीं जताई. केंद्र में भी मैंने पद से इस्तीफा दिया था,मुझे निकाला नहीं गया था.

दरअसल उपेंद्र कुशवाहा ने एक बाऱ फिर से उस चर्चा को विराम देने की कोशिश की जिसमें सियासी गलियारों में ये कहा जा रहा है कि मंत्रिमंडल में जगह ना मिलने के कारण कुशवाहा सीएम नीतीश कुमार से नाराज हैं,इसलिए मंत्रिमंडल विस्तार के  समय राजभवन में मौजूद नहीं थे. मंत्रिमंडल विस्तार के करीब एक सप्ताह के बाद अब कुशवाहा पटना में हैं और लगातार किसी ना किसी माध्यम से लोगों के बीच ये संदेश देने में लगे हैं कि नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है,  मंत्रिमंडल में शामिल होने उनके लिए कोई बड़ी बात नहीं है.

हाल ही में जनता दल में अपनी पार्टी का विलय करने वाले उपेंद्र कुशवाहा मंत्रिमंडल विस्तार के समय सीएम नीतीश कुमार के साथ राजभवन में नजर नहीं आये. जबकि उपेंद्र कुशवाहा लगातार नीतीश कुमार के पक्ष में  बयान देकर उन्हें प्रधानमंत्री मैटेरियल बता चुके हैं. नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा एक ही कुशवाहा समाज से आते हैं. उपेंद्र कुशवाहा लगातार नीतीश कुमार के लिए मोर्चा थामते भी नजर आते हैं. ऐसे में सियासी गलियारो में ये चर्चा जोरों पर थी कि मंत्रिमंडल विस्तार में उन्हें कैबिनेट में अहम जगह मिलेगी,लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार से ऐन पहले कुशवाहा पटना से बाहर चले गये.

वापस पटना लौटने के बाद कुशवाहा लगातार अपनी सफाई दे रहे हैं जिसमें वो कह रहे हैं कि नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है. फेसबुक पर पोस्ट लिखने के बाद उन्होंने रविवार को पटना में प्रेस कांफ्रेस किया जिसमें एक बार फिर से कहा कि नाराजगी वाली कोई बात नहीं है,बिहार सरकार में मंत्री बनना उनके लिए सम्मान नहीं अपमान की बात है. वो केंद्र में मंत्री रह चुके हैं इसलिए बिहार में मंत्री बनना उनके लिए पदोन्नति नहीं पदावनति होगी.दूसरे शब्दों में कुशवाहा ने ये जताया कि अगर उन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली तो कोई बड़ी बात नहीं है. बिहार सरकार में मंत्री बन जाना कोई बहुत बड़े सम्मान की बात नहीं है. कुशवाहा ने यहां तक कहा कि वो बिहार में आज ही नहीं,आगे भी कभी कोई मंत्री पद नहीं लेंगे. कुशवाहा ने नाराजगी के खबरों को लेकर राजनीतिक गलियारों में चल रही चर्चा को अनर्गल बताते हुए साफ किया कि केंद्र में मंत्री रहने के बाद बिहार में मंत्री बनने की उनकी कोई लालसा नहीं है. कुशवाहा ने आरोप पर सफाई देते हुए कहा कि वो अपने परिवार के साथ समय बिताने गये थे, ये कार्यक्रम काफी पहले से तय था इसलिए मंत्रिमंडल विस्तार के समय मौजूद नहीं थे.

 

 

 

Latest news

Related news