Sunday, April 14, 2024

पीएम मोदी का रिमोट 2 उद्योगपतियों के हाथ में-राहुल गांधी

दिल्ली के रामलीला मैदान से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रिमोट दो उद्योगपतियों के हाथ में है. प्रधानमंत्री उनके लिए 24 घंटे काम करते है. अगर वह उद्योगपति ना चाहे तो मोदी प्रधानमंत्री नहीं रह सकते. मीडिया के सहयोग के बिना नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री रहना मुश्किल है.
कांग्रेस के “बढ़े कदम जुड़े वतन” अभियान की शुरुआत करते हुए दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस ने महंगाई पर हल्ला बोल रैली की. इस रैली में कांग्रेस के नेता और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर चौतरफा हमला किया. महंगाई, बेरोजगारी, गोदी मीडिया, 2 उद्योगपतियों की सरकार से लेकर ईडी और सीबीआई तक बोलते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार को घेरा. राहुल ने कहा मोदी सरकार के आने के बाद से देश में नफरत बढ़ी है.


मोदी सरकार के आने के बाद से नफरत बढ़ी
धार्मिक आधार पर ध्रुवीकरण की चर्चा करते हुए राहुल गांधी ने कहा “देश की हालत आपको दिख रही है, जब से बीजेपी की सरकार आई है, तब से देश में नफरत और क्रोध बढ़ता जा रहा है. नफरत डर का रूप है, जिसको डर होता है, सिर्फ उसके दिल में नफरत पैदा होती है. जो डरता नहीं है, उसके दिल में नफरत पैदा नहीं होती है. हिंदुस्तान में डर बढ़ता जा रहा है. किस चीज का डर- – भविष्य का डर – महंगाई का डर – बेरोजगारी का डर ये डर बढ़ता जा रहा है, इसके कारण हिंदुस्तान में नफरत बढ़ती जा रही है. नफरत से लोग बंटते हैं, देश बंटता है, देश कमजोर होता है. बीजेपी-संघ के नेता देश को बांटते हैं, जानबूझकर देश में भय पैदा करते हैं, नफरत पैदा करते हैं.”
2 उद्योगपतियों के हाथ है पीएम मोदी का रिमोट
राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि “पिछले 8 साल में हिंदुस्तान के गरीब आदमी को, किसान, मजदूर और छोटे दुकानदार को नरेंद्र मोदी की सरकार ने क्या फायदा दिया? पूरा फायदा हिंदुस्तान के सिर्फ दो उद्योगपति उठा रहे हैं. आप बाकी उद्योगपतियों से भी पूछ लीजिए, वह भी आपको बताएंगे कि पिछले 8 साल में हमारा कोई फायदा नहीं हुआ, सिर्फ 2 व्यक्तियों का फायदा हुआ है.”
ईडी और सीबीआई का इस्तेमाल विरोध की आवाज़ दबाने-राहुल गांधी
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर ईडी और सीबीआई का इस्तेमाल कर विपक्ष को डराने का आरोप लगाया. राहुल ने कहा, “हिंदुस्तान के आम नागरिक बहुत मुश्किल में हैं, बहुत दर्द सह रहे हैं. जब विपक्ष इन बातों को संसद में उठाना चाहता है, तब मोदी सरकार विपक्ष को संसद में बोलने नहीं देती. जो भी नरेंद्र मोदी के खिलाफ काम करना चाहता है, चाहे कोई भी हो, उसके पीछे ED, CBI, IT को लगा दिया जाता है. मुझे 55 घंटे ED ने बिठाकर रखा, मगर नरेंद्र मोदी को कहना चाहता हूं कि मैं आपकी ED से नहीं डरता.”
राहुल गांधी ने कहा, “हमारा संविधान देश की आत्मा है, इसको बचाने का काम हर हिंदुस्तानी को करना पड़ेगा. अगर हमने ये काम नहीं किया तो फिर ये देश नहीं बचेगा. यह देश सभी का है और देश की जनता जो अपना खून-पसीना देती है, उसका फायदा चुने हुए लोगों को नहीं मिलना चाहिए, उसका फायदा देश के किसान, मजदूर, छोटे दुकानदारों को मिलना चाहिए.”
किसान, मज़दूर और गरीब विरोधी है मोदी सरकार- राहुल गांधी
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने यूपीए की सरकार में हुए काम गिनाते हुए कहा कि जो काम हमने 10 साल में किए, मोदी सरकार ने उनको 8 साल में खत्म कर दिया. राहुल गांधी ने कहा, ”यूपीए की सरकार ने किसानों को ₹70,000 करोड़ दिए और नरेंद्र मोदी की सरकार ने किसानों को काले कानून दिए. यूपीए की सरकार ने मजदूरों के लिए महत्वपूर्ण कानून मनरेगा दिया, नरेंद्र मोदी ने मनरेगा को मजदूरों का अपमान बताया. हम किसान हितैषी भूमि अधिग्रहण बिल लाए, हमने लाखों करोड़ रुपये से गरीब जनता की मदद की. पहले किसानों से उनकी भूमि बिना पूछे छीन ली जाती थी, हम उसके खिलाफ कानून लाए, मगर नरेंद्र जी ने पहला काम उस कानून को रद्द करने की कोशिश की. हमने 10 साल में 27 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला, और भी बहुत अधिकार दिए- – मनरेगा – भोजन का अधिकार – कर्ज़ माफी इन अधिकारों से हमने 27 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला. पिछले 8 सालों में नरेंद्र मोदी ने 23 करोड़ लोगों को फिर से गरीबी में धकेल दिया है. हमने 10 साल में जो काम किया, उन्होंने 8 साल में वो खत्म कर दिया.”
राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि “ पिछले 40 साल में सबसे अधिक बेरोजगारी नरेंद्र मोदी की देन है. मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या बेरोजगारी, महंगाई, नफरत से देश मजबूत होता है?”


जनता के बीच जाना ही है एकमात्र विकल्प- राहुल गांधी
राहुल गांधी ने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का धन्यवाद देते हुए कहा कि अब देश बचाने के लिए हमें जनता के बीच जाना होगा. राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा “आप हमारी विचारधारा के लिए लड़ते हो, आप हिंदुस्तान के लिए लड़ते हो, आप संविधान के लिए लड़ते हो. कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता ही देश को बचा सकता है. हमारे लिए सब रास्ते बंद हैं, हमारे लिए सिर्फ एक ही रास्ता बचा है, वो रास्ता है- जनता के बीच जाकर जनता को देश की सच्चाई बताना और जनता की बात को सुनना व समझना. इसलिए कांग्रेस पार्टी भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने जा रही है.” राहुल गांधी ने कहा “कांग्रेस पार्टी देश को जोड़ती है, हम नफरत मिटाते हैं और जब नफरत मिटती है, डर कम होता है, तब देश आगे बढ़ता है.”
महंगाई और बेरोज़गारी से जनता परेशान है- राहुल गांधी
राहुल गांधी ने आकड़ों के जरिए महंगाई पर मोदी सरकार को घेरा. राहुल ने गेस से लेकर तेल तक के दाब बताए और कहा आम जनता महंगाई से परेशान है और पीएम अपने दोस्तों का काम कर रहे हैं ” 2014 में LPG सिलेंडर ₹410 का था, आज ₹1050 – पेट्रोल ₹70 प्रति लीटर, आज तकरीबन ₹100 प्रति लीटर – डीज़ल ₹55 प्रति लीटर, आज ₹90 प्रति लीटर – सरसों का तेल ₹90 प्रति लीटर, आज ₹200 प्रति लीटर. आपको आज जो बेरोजगारी दिख रही है, वो आने वाले समय में और बढ़ेगी. आपको एक तरफ बेरोजगारी की चोट लग रही है और दूसरी तरफ महंगाई की. आज देश अगर चाहे भी तो अपने युवाओं को रोजगार नहीं दे पाएगा. क्योंकि देश को रोजगार ये दो उद्योगपति नहीं देते हैं, देश को रोजगार स्मॉल-मीडियम बिजनेस, किसान देते हैं और इन लोगों की रीढ़ की हड्डी नरेंद्र मोदी जी ने तोड़ दी है. बीजेपी ने GST को बदला, पांच अलग-अलग टैक्स थोपकर स्मॉल-मीडियम बिजनेस, किसान, मजदूर, छोटे दुकानदारों पर जबरदस्त चोट मारी. नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की, क्या नोटबंदी से गरीबों का फायदा हुआ? गरीबों की जेब से पैसा निकाला, गरीबों से कहा गया कि ये काले धन के खिलाफ लड़ाई है। फिर सरकार ने देश के बड़े उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया.”


किसानों ने अपनी ताकत दिखाई- राहुल गांधी
राहुल गांधी ने अपने भाषण में किसान आंदोलन का ज़िक्र करते हुए कहा कि मोदी सरकार को किसानों के आगे झुकना पड़ा क्योंकि किसानों ने अपनी ताकत दिखाई. “ये किसान का कर्ज माफ नहीं करेंगे, किसानों के खिलाफ 3 काले कानून लाएंगे. कहा गया कि ये 3 काले कानून किसानों के हित में हैं, तो फिर किसान सड़कों पर क्यों खड़ा है. ये 3 काले कानून किसानों के लिए नहीं थे, ये 3 काले कानून उन्हीं दो उद्योगपतियों के लिए थे. ये बात किसान समझ चुके थे, इसलिए हिंदुस्तान के किसान सड़कों पर आ गए और नरेंद्र मोदी को किसानों की शक्ति दिखा दी”
राहुल गांधी ने मीडिया तो भी आड़े हाथों लिया
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने मीडिया पर भी निशाना साधा. राहुल गांधी ने कहा “मीडिया देशवासियों को डराती है, इससे नफरत पैदा होती है। फिर बीजेपी पूरा का पूरा फायदा इन्हीं दो लोगों को दे रही है. टीवी दो उद्योगपतियों का है, अखबार दो उद्योगपतियों के हैं. ये दो उद्योगपति नरेंद्र मोदी के लिए 24 घंटे काम करते हैं और नरेंद्र मोदी जी इन उद्योगपतियों के लिए 24 घंटे काम करते हैं: यहां हमारे मीडिया के मित्र हैं, इनका काम जनता के मुद्दों को उठाने का होता है, मगर ये भी अपना काम नहीं करते हैं. ये अपना काम कैसे करेंगे, क्योंकि ये मीडिया भी उन्हीं दो उद्योगपतियों की मीडिया है. जो हिंदुस्तान के संस्थान हैं- चाहे मीडिया हो, प्रेस, ज्यूडिशियरी या चुनाव आयोग हो; उन सब पर दवाब है, उन सब पर सरकार आक्रमण कर रही है. इसलिए हमारे लिए भारत जोड़ो यात्रा महत्वपूर्ण है, हमें जनता के बीच जाना होगा”
राहुल गांधी के भाषण के बीच खूब नारे बाज़ी भी हुई. कांग्रेस के कार्यकर्ता बैनर लेकर आए थे जिसमें राहुल गांधी को अगला कांग्रेस अध्यक्ष बताया गया था.

Latest news

Related news