Tuesday, June 18, 2024

विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा हुई अब और पुख़्ता, मंदिर को मिला पिनाक के रूप में अत्याधुनिक कंट्रोल रूम

विश्वनाथ कॉरिडोर बनने के बाद अधिकारी से लेकर दर्शनार्थी तक के लिए खास व्यवस्था की जा रही है. इसी क्रम में सुरक्षाकर्मियों के लिए भी एक हाइटेक यन्त्रों से सुसज्जित भवन बनाया गया है. इस भवन सुरक्षाकर्मियों को सौंप दिया गया . इस नये भवन का नाम पिनाक रखा गया है. पिनाक शिव जी की धनुष का नाम था. इसी के नाम पर विश्वनाथ मंदिर के सुरक्षाकर्मियों के ऑफिस का नाम रखा गया है जो अब पूरी तरह से उन्हें हैण्ड ओवर कर दिया गया है.

विश्वनाथ मंदिर का गेट नंबर 4 हमेशा के लिए हुआ बंद

विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर 4 से वीआईपी लोग एंट्री लेते थे और मुस्लिम समाज के लोग नमाज़ पढ़ने जाते थे लेकिन अब सबके लिए यह गेट हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है. चौंकाने वाली बात यह है कि विश्वनाथ मंदिर के कार्यपालक अधिकारी गेट को बंद करने को लेकर को स्पष्ट जवाब नहीं दे रहे हैं. विश्वनाथ मंदिर के कार्यपालक अधिकारी सुनील वर्मा का कहना है कि जो गेट बंद किया गया है वह गेट केवल एग्जिट के लिए था जिसे अब बंद कर दिया गया है लेकिन जो छत्ता द्वार था वह आज भी खुला हुआ है.

इस गेट के बंद होने से जहाँ  एक तरफ श्रद्धालु भ्रमित हो रहे हैँ तो दूसरी तरफ गेट नंबर 4 के सामने के दुकानदारों की बिक्री पर भी असर पड़ा है.

Latest news

Related news