Saturday, February 24, 2024

Bihar Floor Test : अवधबिहारी चौधरी, नीतीश कुमार, तेजस्वी पहुंचे विधानसभा, परिसर में भारी पुलिस फोर्स तैनात

पटना :  बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में गठित एनडीए सरकार का Bihar Floor Test विश्वासमत परीक्षण थोड़ी देर में शुरु होने वाला है. सरकार की वैधता को बनाये रखने के लिए  नीतीश सरकार को आज का फ्लोर पास करना अनिवार्य है. वहीं सरकार के समर्थन और विपक्ष के समर्थन में विधायकों की रेलमपेल मची है. लगातार ये आशंका तजाई जा रही है कि दोनों तरफ से क्रॉसवोटिंग होगी. यही कारण है कि  दोनो ही खेमा अपने अपने विधायको को संगठित रखने के लिए एडी चोटी का जोर लगाये हुए है.

Bihar Floor Test से पहले अवध बिहारी पहुंचे विधानसभा

तमाम सियासी करतबों के बाच विधानसभा अध्यक्ष आज की कार्रवाई के लिए विधानसभा पहुंच गये हैं. अभी  राज्यपाल विश्वनाथ अर्लेकर दोनों सदनों को संबोधित करने विधानसभा पहुंच रहे हैं. इन सारी कवायदों के बीच विधानसभा परिसर और परिसर के 100 मीटर के दायरे में भारी संख्या में फोर्स तैनात है. किसी ‘अप्रिय’ की आशंका से बचने के लिए चप्पे चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात किये गये हैं.

11 बजे शुरु होगी विधानसभा की कार्रवाई 

सबसे पहले आज 11 बजे विधानसभा और विधान परिषद की कार्यवाही शुरू होगी, फिर अध्यक्ष और सभापति अपना प्रारंभिक संबोधन करेंगे. फिर दोनों सदनों के सदस्य सेंट्रल हॉल पहुंचेंगे , जहां राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर का संबोधन होगा.राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर का अभिभाषण समाप्त होते ही दोनों सदनों के सदस्य अपने अपने निर्धारित सदनों विधानसभा और विधानपरिषद में पहुंच जायेंगे और फिर आज की कार्रवाई शुरु होगा. इस बीच सीएम नीतीश कुमार,तेजस्वी यादव समेत सभी नेता विधानसभा पहुंच गये हैं.

तेजस्वी यादव भी पहुंचे

विधानसभा अध्यक्ष को हटाने के लिए आयेगा अविश्वास प्रस्ताव 

विधानसभा में नीतीश सरकार अपनी सरकार के लिए विश्वासमत पेश करने से पहले विधानसभा अध्यक्ष को को हटाने के लिए अविश्वास प्रस्ताव लायेगी. अध्यक्ष ये देखेंगे कि प्रस्ताव के समर्थन में कितने सदस्यों का समर्थन है और कितने का समर्थन नहीं है. अगर सदन में मौजूद सदस्यों में से 38 सदस्य या इससे अधिक प्रस्ताव के पक्ष में खड़े होकर समर्थन करते हैं, तो इसे स्वीकार मान लिया जायेगा. प्रस्ताव स्वीकार होते ही अध्यक्ष आसन हट जायेंगे और उनकी जगह पर  उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी आसन पर विजमान हो जायेंगे.अध्यक्ष के खिलाफ आये प्रस्ताव के लिए दोनो पक्षों के सदस्यों की गिनती होगी, अगर अध्यक्ष के खिलाफ बहुमत हुआ तो  नये अध्यक्ष के चयन के लिए आगे की कार्रवाई शुर होगी.

नये अध्यक्ष चुने जाने तक उपाध्यक्ष चलायेंगे सदन 

सदन के नियमों के मुताबिक नये अध्यक्ष के आने से पहले तक की कार्रवाई  उपाध्यक्ष संचालित करेंगे.  अगर इस बीच विधानसभा उपाध्यक्ष इस्तीफा दे देते हैं तो मतदान की नौबत नहं आयेगी. विधानसभा अध्यक्ष के बाद सरकार के विश्वास प्रस्ताव की बारी आयेगी. तमाम सियासी उठापटक के बावजूद ये उम्मीद की जा रही है कि दोनों सदनों में नीतीश कुमार की नी सरकार का विश्वासमत ध्वनीमत से पास हो जायेगा.

सरकार के विश्वास मत के बाद  राज्य सरकार आर्थिक सर्वक्षण रिपोर्ट सदन में रखा जायेगा. सदन के नियमों के अनुसार पहले दिन की कार्रवाई के दौरान अगर सत्र के बीच में किसी की मृत्यू हो गई होती है, तो उनके लिए शोक प्रस्ताव लाया जाता है.आज भी ऐसा ही होने की संभावना है. इन कार्रवाी के बाद सदन को  अगले दिन तक के लिए स्थगित कर दिया जाएगा.

Bihar VidhanSabha
Bihar VidhanSabha

बिहार विधानसभा में दलगत स्थिति  

एनडीए गठबंधन -128 MLA ( बहुमत के लिए जरुरी 122 से 6 ज्यादा ) 

भारतीय जनता पार्टी (BJP) – 78 MLA,जनता दल यूनाइटेड (JDU)- 45 ,हिंदुस्तानी आवामी लीग (HAM)-4 ,OTHER – 1

राजद  महागठबंधन  -114 (बहुंमत के लिए जरुरी से 8 विधायक कम )
243 सदस्यों वाले विधानसभा में सरकार के बहुमत के लिए 122 सदस्यों का समर्थन होना अनिवार्य है.  एनडीए के दावे के मुताबिक उनके पास 128 विधायक है यैनी बहुमत के आंकड़े से 6 ज्यादा , वहीं राजद महागठबंधन में 114 विधायक है , बहुमत से 8 कम. ऐसे में अगर कोई विधायक सदन नहीं पहुंचता है या क्रॉस वोटिंग होती है तो 15 दिन पहले बनी नीतीश कुमार की सरकार खतरे  में पड़ सकती है.

Latest news

Related news