Friday, February 23, 2024

देशभर में आज रक्षाबंधन का त्योहार

पिछले कई दिनों से शुभ समय को लेकर चल रहे असमंजस के बाद आज देशभर में  रक्षाबंधन का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. हर साल सावन पूर्णिमा के दिन रक्षा बंधन का त्योहार पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है. लेकिन इससाल दो दिन सावन पूर्णिमा की तिथि होने के कारण असमंजस की स्थिति बनी हुई थी.  हिंदु मान्यता के अनुसार श्रावण पूर्णिमा का दिन बेहद शुभ होता है इसलिए बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रेशम के धागे का रक्षासूत्र बांध कर उनके जीवन को हर मुसीबत से बचाये रखने के लिए  भगवान से प्रार्थना करती हैं.इस साल बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी कब बांधे इसे लेकर असमंजस है,क्योंकि हिंदु तिथि गणना के मुताबिक इस साल सावन 11 अगस्त औऱ 12 अगस्त दोनों दिन है साथ ही भद्रा के प्रभाव की बात भी की जा रही है..ऐसे में ये जानना जरूर है कि आज बहनें किस किस समय अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बंध सकती हैं.

ज्योतिषियों के मुताबिक इस साल सावन पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10 बजकर 37 मिनट पर शुरु हो रही है और 12 अगस्त को सुबह 7 बजकर 06 मिनट तक रहेगी. कुछ लोगों का मानना है कि 11 अगस्त को पूर्णिमा पर भद्रा का साया रहेगा.भद्रा वो समय है जिसमें कोई भी शुभकार्य वर्जित होता है,साथ ही आज पूर्णिमा की उदया तिथि भी नहीं है. हिंदु मान्यता के मुताबिक है जिस तिथि में सूर्योदय हो उसी तिथि को माना  जाता है. सावन पूर्णिमा की उदया तिथि 12 अगस्त को होगी. इसलिए कुछ लोगों का मानना है कि राखी 12 को होनी चाहिये.

ज्योतिषों के मुताबिक 12 अगस्त को उदया तिथि होने के बावजूद त्रिमुहूर्त व्यापनी दिन तक नहीं है इसलिए 12 अगस्त रक्षा बंधन के लिए उपयुक्त नहीं है. वहीं 11 अगस्त को भद्रा का साया होने के बावजूद इस का कुछ खास असर सावन पूर्णिमा के शुभ दिन पर नहीं पड़ेगा, क्योंकि उस समय भद्रा के विचरण की स्थिति पाताल लोक में मानी जा रही है.  इसलिए 11 अगस्त को  ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जा सकता है

11 अगस्त को रक्षा बंधन के लिए शुभ समय

दोपहर 12 बजे से 12 बजकर 53 मिनट तक (अभिजीत मूहूर्त)

दोपहर 02.39 मिनट से 03. 32 मिनट तक ( विजय मुहूर्त)

शाम 5.18 मिनट से शाम 06.20 मिनट तक (भद्रा पूंछ काल)

रात 8.53 मिनट से रात 9 .50 मिनट तक ( भद्राकाल समाप्त)

रात 8.53 मिनट से रात 9.50 मिनट तक (प्रदोष काल)

जो लोग 12 अगस्त को राखी बांधना चाहते हैं वो सुबह 7 बजे तक राखी बांध सकते हैं.

 

Latest news

Related news