Saturday, July 20, 2024

बारिश से बेहाल बेंगलुरु, ट्वीटर पर लोगों ने उड़ाया आईटी हब का मज़ाक

बेंगलुरु में पिछले एक हफ्ते से हो रही भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. यहां के कई इलाकों में इतना पानी भर गया है कि लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए नावों की मदद ली जा रही है. यहां के वार्थुर उपनगर में नावों को तैनात किया गया है सबसे प्रभावित इलाकों में बेलांदुर, सरजापुरा रोड, वाइटफील्ड, आउटर रिंग रोड और BEML लेआउट शामिल हैं. इससे पहले, 30 अगस्त को शहर में भारी बारिश हुई थी. तब भी ऐसे ही हालात बने थे.


पहली बार पॉश इलाकों में भी भरा पानी
मराठाहल्ली के स्पाइस गार्डन इलाके में टू-व्हीलर्स पानी में तैरते नजर आए. स्पाइस गार्डन से वाइटफील्ड तक पानी भरने के चलते सड़क को बंद करना पड़ा. यह पहली बार है कि कई पॉश इलाकों में पहली बार पानी भरा है. यहां के कई रेजिडेंट्स ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई से मदद मांगी है.


क्लासरूम में भरा पानी, किताबें-बस्ते डूबे
शहर के कई हिस्सों में स्कूलों में पानी भर गया. बच्चों के बैग-किताबें पानी में तैरते दिखे. यहां बच्चे क्लासरूम से पानी निकलने की कोशिश करते दिखे. स्कूल के शिक्षकों और कर्मियों ने किताबों समेत बाकी सामान को पानी से बाहर निकाला.


ट्वीटर पर लोगों ने उड़ाया आईटी हब का मज़ाक
बारिश से बेहाल शहर का लोगों ने ट्वीटर पर जमकर मज़ाक उड़ाया. एक यूजर ने लिखा “बेंगलुरु में नौकरी के लिए कोडिंग के साथ-साथ तैराकी भी आना चाहिए” एक दूसरे यूज़र ने लिखा “ शशशशशश चुप चाप टेक्स भरते रहिए” इसी तरह कुछ लोगों ने अपने घर के बाहर बह रहे पानी का वीडियो के साथ लिखा “इतनी बारिश तो मुंबई में रोज़ होती है, आईटी हब की एसी की तैसी ”

एयरपोर्ट पर भी पानी भरा, मुख्यमंत्री पर गुस्सा हुए लोग
भारी बारिश का असर बेंगलुरु एयरपोर्ट पर भी देखा गया. एयरपोर्ट के मेन गेट पर भी पानी भर गया. वाइटफील्ड मेन रोड पर BMC बस पानी में फंस गई, जिसे लोगों ने रस्सी से खींचकर निकाला. कई लोगों ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई पर निशाना साधा. लोगों ने कहा कि अब बेंगलुरु यूरोपीय स्तर का शहर हो गया है. यहां के इलाके वेनिस जैसे दिखाए देने लगे हैं. एक यूजर ने कहा कि इतना रेवेन्यू इकठ्‌ठा करने के बाद भी बेंगलुरु का इंफ्रास्ट्रक्चर देश के बदतर इंफ्रास्ट्रक्चर में से एक है.

9 सितंबर तक भारी बारिश जारी रहने का अनुमान
भारतीय मौसम विभाग ने बताया है कि 9 सितंबर तक कर्नाटक में बारिश जारी रहने की संभावना है. बेंगलुरु, तटीय कर्नाटक के 3 जिले और एक पहाड़ी क्षेत्र में भारी बारिश हो सकती है. 5 से 9 सितंबर के बीच कोडागू, शिवमोगा, उत्तरा कन्नड़, दक्षिण कन्नड़, उडुपी और चिकमंगलूर जिलों के लिए यलो अलर्ट यानी बारिश की चेतावनी जारी की गई है. मछुआरों को कहा गया है कि समुद्र की तरफ न जाएं.

Latest news

Related news