Saturday, February 24, 2024

Rahul Gandhi: पहलवानों से मिलने झज्जर पहुंचे राहुल गांधी, खेला कुश्ती के दांव, खाई बाजरे की रोटी और साग

झज्जर :  बुधवार सुबह हरियाणा के झज्जर जिले के एक अखाड़े में अचानक पहुंचे कांग्रेस सांसद Rahul Gandhi को देख पहलवान आश्चर्यचकित रह गए. कांग्रेस सांसद Rahul Gandhi यहां अपने यूट्यूब चैनल के लिए वीडियो बनाने पहुंचे थे . उन्होंने यहां खिलाड़ियों से उनके दिनचर्या के बारे में बात की, उनके साथ अभ्यास किया और उन्हें अपने जिउ-जित्सु अनुभव के बारे में बताया . राहुल गांधी ने पहलवानों से  कुश्ती की बारीकियों के बारे मे भी जाना . कुश्ती के दांव लगान के बाद कांग्रेस नेता ने पहलवानों से साथ जमीन पर बैठकर उनके साथ बाजरे की रोटी, दही और हरा साग खाया.

Rahul Gandhi सुबह 6.15 पर ही पहुंचे छारा गांव के वीरेंद्र आर्य अखाड़े

हरियाणा के झज्जर के छारा गांव में वीरेंद्र आर्य अखाड़े के पहलवानों का कहना था कि उन्हें कोई अंदाजा नहीं था कि कांग्रेस नेता यहां आने वाले है. जब राहुल पहलवानों के बीच पहुंचे तो माहौल खुशनुमा हो गया. रीहुल ने यहां पहलवानों के साथ अभ्यास किया, ओलंपिक खेलों के कांस्य पदक विजेता बजरंग पुनिया के साथ कुस्ती के दाव भी आज़माएं और खिलाड़ियों से हाल में कुश्ती संघ और महिला खिलाड़ियों के बीच हुए विवाद पर बात की. राहुल ने अपने इस अनुभव की तस्वीरों को एक्स पर साझा करते हुए लिखा, “वर्षों की जीतोड़ मेहनत, धैर्य एवं अप्रतिम अनुशासन के साथ अपने खून और पसीने से मिट्टी को सींच कर एक खिलाड़ी अपने देश के लिए मेडल लाता है. आज झज्जर के छारा गांव में भाई विरेंद्र आर्य के अखाड़े पहुंच कर ओलंपिक पदक विजेता बजरंग पूनिया समेत अन्य पहलवान भाइयों के साथ चर्चा की. सवाल सिर्फ एक है – अपने अखाड़े की लड़ाई छोड़ अगर इन खिलाड़ियों, भारत की बेटियों को अपने हक और न्याय की लड़ाई सड़कों पर लड़नी पड़े तो कौन अपने बच्चों को यह राह चुनने के लिये प्रोत्साहित करेगा? यह किसान परिवार के निश्छल, सीधे एवं सरल लोग हैं, इन्हें तिरंगे की सेवा करने दीजिए. इन्हें पूरे मान और सम्मान के साथ भारत का सर गौरव से ऊंचा करने दीजिए.“

राहुल के दौरे पर क्या बोले पुनिया

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के झज्जर जिले के छारा गांव में वीरेंद्र आर्य अखाड़े के दौरे पर पहलवान बजरंग पूनिया ने कहा, “वह हमारी कुश्ती की दिनचर्या देखने आए थे… उन्होंने कुश्ती की… वह दिन-प्रतिदिन एक पहलवान की गतिविधियाँ देखने आए थे”


आपको बता दें, कुश्ती संघ और महिला पहलवानों की लड़ाई में ताज़ा जानकारी ये है कि साक्षी मलिक के सन्यास, बजरंग पुनिया के पद्मश्री लौटाने के बाद अब दो बार की विश्व चैंपियनशिप पदक विजेता विनेश फोगाट ने मंगलवार को अपना खेल रत्न और अर्जुन पुरस्कार प्रधानमंत्री को लौटाने का फैसला किया और कहा कि जब पहलवान न्याय के लिए बुरी तरह संघर्ष कर रहे हैं तो ऐसे सम्मान निरर्थक हो गए हैं.
आपको याद दिला दें कि कुश्ती संघ के चुनावों में पूर्व कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के करीबी संजय सिंह की जीत के बाद पहलवानों ने अपना विरोध जताना शुरु किया था जिसके बाद सरकार ने कुश्ती संघ को ही निलंबित कर दिया था.

ये भी पढ़ें-Rahul Gandhi: 14 जनवरी से 20 मार्च राहुल निकालेंगे न्याय यात्रा, बस और पैदल…

Latest news

Related news