Monday, July 15, 2024

राजनीति में कोई किसी का न दोस्त, न दुश्मन -ओपी राजभर

सुभासपा के 20 वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर बरसे. ओ पी राजभर ने आरोप लगाया कि अखिलेश ने गठबंधन का धर्म नहीं निभाया. सुभासपा के स्थापना दिवस पर सावधान यात्रा का आयोजन किया गया. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने भी इसमें शिरकत की, कुदरहा में सावधान यात्रा के दौरान जनसभा को सम्बोधित करते हुए एसपी पर जमकर हमला बोला उन्होंने कहा की हमें हराने के लिए गठबंधन में मिली सीटो पर डमी कैंडिडेट उतारे गए. उन्होंने आरोप लगाया कि बस्ती मण्डल की तीन सीटें हम जीत सकते थे लेकिन हम समाजवादी पार्टी का शिकार हो गए, अगर हम लोग सूझबूझ से काम नहीं लेते तो बस्ती की महादेवा सीट पर भी हमारे सामने डमी कैंडिडेट उतारने की तैयारी थी. हम ने आखिरी समय में कहा की दूधराम को एबी फार्म दो जो भी होगा हम अखिलेश से दो-दो हाथ करने के लिए तैयार हैं, अखिलेश जी चाहते थे की ओम प्रकाश राजभर को जो सीट दी जा रही है वो जीत कर न आएं नहीं तो हम से बहुत लडेंगा, बस्ती मण्डल की तीनों सीट हम को हरवाने के लिए लगे थे, जहां जहां हम को सीट दिया तय किया था की कैंडिडेट हमारा होगा सिम्बल सुभासपा का, हम दोस्ती निभाना जानते हैं जब दोस्ती टूटने पर दुश्मनी भी मजबूती से निभाना जानते हैं.
अखिलेश यादव पर किया जमकर हमला
ओ पी राजभर ने कहा कि अखिलेश यादव के बीजेपी को सबसे बड़ी झूठी पार्टी बताया है लेकिन पहले वो ये बताये की वह खुद कौन सा सही पार्टी हैं, राजभर ने कहा कि अखिलेश ने सहारनपुर में कांग्रेस के बड़े मुस्लिम नेता को पार्टी ज्वाइन कराई, आजमगढ़ में गुड्डू जमाली को पार्टी ज्वाइन कराई लेकिन उन को टिकट नहीं दिया, यह कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं.
सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उनके बीजेपी पर दिए बयान का भी जिक्र किया, राजभर ने कहा, “अखिलेश का आरोप है कि बीजेपी और चुनाव आयोग ने मिल कर मुस्लिम और यादव के 30 से 40 हजार वोट वोटर लिस्ट से कटवा दिये है. उस समय अखिलेश जी क्या कर रहे थे, जनता के बीच टीवी पर आ कर बोलना अलग बात है, संविधान में बाबा साहब ने दिया है की जब वोट कटता है और बढ़ता है तो सभी राष्ट्रीय और मान्यता प्राप्त पार्टियों को एक कापी देता है, उस समय वह क्या कर रहे थे सो रहे थे, 5 साल में साढ़े चार साल बैठ कर लूडो खेलोगे और 6 महीने में आकर सत्ता पाओगे, जो 5 साल मेहनत करता है वो डिस्टिंक्शन पाएगा की आप.” विधायक अब्बास अंसारी के भगौड़ा घोषित किए जाने के सवाल पर राजभर ने कहा कि ये मामला अदालत में है, अदालत अपना काम कर रही हम अपना काम कर रहे हैं.

2024 चुनाव पर क्या वोले राजभर
सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी राजभर ने 2024 में फिर से समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन के सवाल पर कहा कि “राजनीति में कोई किसी का न दोस्त है, न दुश्मन एसपी बीएसपी में 36 का आंकड़ा था, दोनों को एक मंच पर देखा गया, फिर बिहार चलिए नीतीश जी को देखिए कभी कहा की राजनीति छोड़ दूंगा बीजेपी के साथ नहीं जाऊंगा फिर मोदी जी के साथ खड़े हो गए. कह रहे थे सन्यास ले लेंगे लालू की पार्टी में नहीं जाएंगे, बिहार में दोनों ने मिल कर सरकार बना ली, कश्मीर में देख लीजिए पीडीपी और बीजेपी दोनों दो दुश्मन है फिर भी दोनों मिल कर सरकार चलाए”

Latest news

Related news