Sunday, February 25, 2024

प्रधानमंत्री जी 80 करोड़ गरीबों को ‘फ्री फंड का खाना’ दे रहे हैं..

विपक्ष द्वारा महंगाई पर चर्चा की लगातार मांग के बाद आज आखिरकार सदन में मंहगाई पर चर्चा चल रही है.चर्चा के दौरान बीजेपी नेता निशिकांत दूबे ने एक बयान दिया जो चर्चा में है. निशिकांत दूबे ने अपनी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि 2014 में जब मोदीजी की सरकार सत्ता में आई थी तो देश की हालत खस्ता थी. मोदी जी ने देश को अर्थिक संकट से उबारा. देश के किसानों को इतना सशक्त बना दिया कि वो अपनी ही सरकार के खिलाफ एक साल तक आंदोलन करने का साहस जुटा पाये और इसी दौरान निशिकांत दूबे ने कहा  कि “ हमारे प्रधानमंत्री जी 80 करोड़ गरीबों को ‘फ्री फंड का खाना’ दे रहे हैं,क्या प्रधानमंत्री को बधाई नहीं देना चाहिए?

प्रधानमंत्री इस देश के 80 करोड़ लोगों को फ्री फंड में खाना खिला रहे हैं, ये बयान उस देश की जनता के लिए शर्मनाक है जो आत्मनिर्भर भारत की बात करता है. जो भारत देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है और जो देश अपने आप को पांच ट्रिलियन इकोनॉमी बनने वाला देश बता रहा है उस देश के 80 करोड़ लोग, यानी तकरीबन 60 प्रतिशत जनता मुफ्त में भोजन लेने के लिए मजबूर है. जाहिर तौर पर 80 करोड़ लोगों की आर्थिक हालत ठीक नहीं है, क्योंकि कोई भी आर्थिक रुप से समर्थ व्यक्ति या परिवार फ्री में भोजन कभी नहीं लेना चाहेगा.

सत्ताधारी दल के सासंद के इस बयान के बारे में आप सोचें कि इसके बारे में क्या कहा जा सकता है?

Latest news

Related news