Sunday, May 26, 2024

बिहार में एक साथ 32 जगहों पर NIA की रेड, आतंकियों के बड़े नेटवर्क का खुलासा

देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी NIA ने आज बिहार में बड़ी कार्रवाई की है. NIA ने आतंकी मामलों की छानबीन के क्रम में बिहार के कई जिलों में एक साथ 32 जगहों पर छापेमारी की है. ये छापेमारी फुलवारीशरीफ ‘आतंकवादी मॉड्यूल’ से जुड़े मामले में की जा रही है. NIA  की ये छापेमारी पटना के फुलवारीशरीफ समेत दरभंगा, मधुबनी, छपरा, अररिया और मुजफ्फरपुर समेत कई और जगहों पर चल रही है.

NIA ने अररिया के जोकीहाट में एहसान परवेज़ के घर पर  छापा मारा है. फुलवारीशरीफ मामले में एहसान का नाम सामने आया था. एहसान SDPI का प्रदेश महासचिव है. NIA की टीम ने परवेज के घर की तलाशी ली और परवेज को हिरासत में ले लिया है. NIA सूत्रों के मुताबिक एहसान PFI का जिला संयोजक है.

उधर NIA ने फुलवारीशरीफ में भी दो जगहों पर छापेमारी की है. एनआईए की टीम पटना पुलिस के साथ पंहुची है. फुलवारीशरीफ के मिल्कियाना मोहल्ला और गोनपुरा गांव में ये छापेमारी चल रही है. वहीं दरभंगा के दो जगहों पर NIA की छापेमारी की खबर है. दरभंगा के सिंहवाड़ा थाना क्षेत्र के शंकरपुर गांव और लहेरियासराय थाना क्षेत्र में भी एनआईए की टीम ने रेड किया है. सिंहवाड़ा थाना क्षेत्र के शंकरपुर गांव में मोहम्मद मुस्तकीम के घर पर छापेमारी की गयी है. फुलवारीशरीफ मामले में मुस्तकीम के खिलाफ एफआईआर हुई थी. एफआईआर में इस गांव के मो मुस्तकीम के साथ सनाउल्लाह को भी आरोपी बनाया गया था.  पिछले महीने ही एनआईए की टीम ने इन दोनों जगहों पर छापेमारी की थी. NIA की टीम मुस्तकीम की मां, पिता और भाई से पूछताछ कर रही है. सिंहवाड़ा पुलिस ने पूरे गांव की नाकेबंदी कर रखी है.

इसके अलावा NIA की टीम ने मधुबनी में प्रतिबंधित इस्लामिक संगठन PFI के सक्रिय सदस्य अंसारुल्लाह उर्फ अंसार के घर की छापेमारी की है. मधुबनी के लदनियां थाने के डलोखर पंचायत के बलुआ टोल स्थित अंसारुल्लाह के घर में  छापा पड़ा है. NIA की टीम कई वाहनों से गांव में पहुंची है. स्थानीय पुलिस की मदद से आसपास के सारे रास्ते को ब्लॉक कर दिया है.  छपरा में भी PFI सदस्य परवेज आलम के घर NIA ने छापा मारा है. परवेज का घर छपरा के जलालपुर थाना क्षेत्र के रुदलपुर गांव में है. आज अहले सुबह वहाँ NIA की टीम पहुंची है.

दरअसल कुछ महीने पहले  पटना में PM मोदी के दौरे से ठीक पहले पटना पुलिस ने फुलवारीशरीफ से कुछ संदिग्ध आतंकियों को  गिरफ्तार किया था. उनकी गिरफ्तारी के बाद PFI  के आतंकी मंसूबों का भंडाफोड़ हुआ था. फुलवारी में आतंकियों को ट्रेनिंग दी जा रही थी, उनके निशाने पर पीएम मोदी थे. तब बिहार पुलिस ने कहा था कि गिरफ्त में आये लोग एक आतंकी मॉड्यूल चला रहे थे और मुस्लिम युवकों का ब्रेनवॉश करने में लगे थे. इन संदिग्धों में एक सिमी का पूर्व सदस्य भी शामिल है. फुलवारीशरीफ में आतंकियों को पीएम मोदी के दौरे से  पहले ट्रेनिंग दी जा रही थी. बाद में इस मामले की जांच NIA ने शुरू कर दी थी. इसी कड़ी में NIA ने आज छापेमारी की है.

Latest news

Related news