Friday, June 21, 2024

नए पोस्टर में अखिलेश यादव पर तंज, “जो अपने खून का सगा नहीं हुआ”

समाजवादी पार्टी अखिलेश यादव को बीजेपी से ज्यादा खतरा साथ छोड़ गए अपनों से है. पहले चाचा शिवपाल यादव ने निकाय चुनाव में एसपी के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला किया अब कभी एसपी के चहेते रहे अमित जानी की पार्टी अखिलेश को पोस्टर वॉर में घसीट रही है.
लोकसभा चुनाव में अभी वक्त है लेकिन उत्तर प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ती जा रही है. यूपी में बीते 1 हफ्ते लगातार दूसरा पोस्टर सामने आया है. बीते महीने बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से जनता दल यूनाइटेड के अलग होने और राष्ट्रीय जनता दल के साथ गठबंधन सरकार बनाने के बाद उत्तर प्रदेश में भी राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है.
क्या लिखा है नए पोस्टर में
इस नए पोस्टर में एसपी नेता अखिलेश यादव पर निशाना साधा गया है. पोस्टर में पुराने पोस्टर का जिक्र कर लिखा गया है -“पहले राहुल भैया, फिर माया बुआ, फिर राजभर व चाचा का मूर्ख बनाया है, जो अपने खून का सगा ना हुआ उसे बिहार याद आया है.” बताया जा रहा है कि ये पोस्टर उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना की ओर से जारी किया गया है. पोस्टर में एसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और बिहार के सीएम नीतीश कुमार की फोटो भी लगाई गई है.
क्या लिखा था पहले पोस्टर में
बिहार सीएम नीतीश कुमार की दिल्ली यात्रा और विपक्षी दलों से मुलाकात के बाद लखनऊ में एसपी दफ्तर के बाहर एक पोस्टर लगाया गया था. इस पोस्टर में नीतीश और अखिलेश की फोटो के साथ लिखा था “यूपी + बिहार = गई मोदी सरकार.” पोस्टर एसपी नेता आईपी सिंह की तरफ से लगाया गया था.

आपको बता दें 6 सितंबर को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मेदांता में एसपी प्रमुख मुलायम सिंह से मुलाकात की थी. इसके बाद जब वो अखिल्श यादव से मिले तो उन्होंने बढ़ा बयान देते हुए कहा था कि “यह आगे यूपी का नेतृत्व करेंगे.” जिसके बाद पहला पोस्टर सामने आया था.
बीजेपी ने पहले पोस्टर पर क्या कहा था
सपा नेता के इस पोस्टर पर राज्य के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि लोग मुंगेरीलाल के हसीन सपने देखते हैं. 2024 में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी सरकार बनाएगी.

Latest news

Related news