Sunday, April 14, 2024

अधीर रंजन को महिला आयोग का नोटिस

 

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर कांग्रेस के लोकसभा सांसद अधीर रंजन चौधरी की टिप्पणी के मामले ने तूल पकड़ गया है. हलांकि अधीर रंजन चौधरी ने अपनी टिप्पणी पर सफाई देते हुए कहा है कि शब्द बोलते समय उनकी जुबान फिसल गई थी. राष्ट्रपति का अपमान करना उनका उद्देश्य नहीं था,लेकिन बीजेपी कांग्रेस नेता की इस सफाई को मानने के लिए तैयार नहीं है.

दरअसल सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ का विरोध कर रही कांग्रेस राष्ट्रपति भवन में विरोध करने पहुंची थी. इस दौरान एक निजी चैनल को इंटरव्यू देते हुए अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के लिए “राष्ट्रपत्नी’ शब्द का इस्तेमाल किया था. सत्ताधारी दल बीजेपी ने इस

मामले को गंभीरता से लेते हुए अधीर रंजन से तत्काल माफी मांगने को कहा

बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी ने कहा वे (अधीर रंजन चौधरी) नेता प्रतिपक्ष होते हुए देश की राष्ट्रपति के लिए इस तरीके की बयानबाजी कैसे कर सकते हैं वो भी पब्लिकली..तो माफी भी पब्लिक से मांगे.उनके बयान से जो लोग आहत हुए हैं उनसब से और जनजातीय समूह के लोगों से भी माफी मांगनी चाहिए.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बयान को अक्षम्य बताते हुए कहा कि –

“राष्ट्रपति देश का सर्वोच्च पद है.राष्ट्रपति किसी दल के नहीं होते, पूरे देश के होते हैं.कांग्रेस नेता ने जिस मानसिकता का परिचय दिया है वो क्षमा के लायक नहीं है. उन्होंने राष्ट्रपति का अपमान किया.ये सर्वोच्च पद पर बैठी एक बहन का अपमान है,नारी शक्ति का अपमान है”

वहीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारामण ने कहा –“अधीर कह रहे हैं कि मैं माफी नहीं मांगूंगा और सोनिया गांधी कह रही हैं कि वह पहले ही माफी मांग चुके हैं.आप देश को गुमराह कर रही हैं. मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी को ये सब बंद करके राष्ट्रपति और पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए”

महामहिम राष्ट्रपति के लिए प्रयोग किये गये शब्द (राष्ट्रपत्नी) को गंभीरता से लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग NCW) ने कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी को व्यक्तिगत रूप से पेश होने और अपनी टिप्पणी के लिए लिखित स्पष्टीकरण देने के लिए नोटिस दिया है. सुनवाई 3 अगस्त को सुबह 11:30 बजे निर्धारित की गई है. NCW ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी इस मामले में हस्तक्षेप करने और अधीर रंजन चौधरी के खिलाफ उनकी अपमानजनक टिप्पणी के लिए उचित कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा है.

मामले के तूल पकड़ने के बाद अधीर रंजन चौधरी ने आज पत्रकारों के सामने सफाई  दी  कि  “मेरे जुबान से गलती से राष्ट्रपत्नि निकला, मैंने अपनी गलती स्वीकारी.वे चुनाव के दौरान सोनिया गांधी के बारे में क्या कहते हैं? शशि थरूर की पत्नी और रेणुका चौधरी के बारे में क्या कहा? मैंने राष्ट्रपति से समय मांगा है ,मैं उनसे बात कर माफी मांगूंगा.”

लेकिन बीजेपी नेताओं की मांग है कि  जिस तरह अधीर रंजन ने पब्लिकली अपमानजनक शब्द का प्रयोग किया उसी तरह पब्लिकली माफी मांगे

दरअसल अधीर रंजन चौघरी पहले भी कई बार इसी तरह अपने बयानों से  कांग्रेस को मुश्किल में डाल चुके हैं लेकिन हर बार वो बंगाली होने और हिंदी भाषा पर अपनी पकड़ ना होने की बात कह कर बाहर निकल जाते हैं लेकिन इस बार मामला राष्ट्रपति पद का है और बात महिला आयोग तक पहुंच चुकी है. .ऐसे में अधीर रंजन की दी गई सफाई अब कितनी कारगर होगी ये देखना होगा.फिलहाल अधीर रंजन ने पत्रकारों के सामने माफी मांग कर मामले को रफा दफा करने की कोशिस की है, वहीं बीजेपी कांग्रेस के इस कद्दावर नेता को हल्के में छोड़ने के मूड में दिखाई नहीं दे रही है.इस बहाने बीजेपी समृति इरानी की बेटी के रेस्टोरेंट औऱ गुजरात में जहरीली शराब से हुई मौत के मामले को दबाने का मौका मिल गया है .

Latest news

Related news