Sunday, June 16, 2024

दुमका हत्या कांड मामले में नींद से जागे विधायक बसंत सोरेन, पीड़ित परिजनों से मुलाकात के दौरान BJP पर बोला हमला !

झारखंड इन दिनों राजनीतिक ड्रामेबाजी का अड्डा बना हुआ है. जहाँ हर रोज़ देश के बड़े बड़े नेता दुमका हत्याकांड पर नाटक करने पहुंच जाते हैं. इसी कड़ी में झारखंड में विपक्ष के तमाम आरोपों के बीच दुमका से जेएमएम के स्थानीय विधायक और सीएम हेमंत सोरेन के छोटे भाई बसंत सोरेन आखिरकार 7 सितंबर को दुमका पहुँचे और बीते दिनों दरिंदगी की शिकार हुई दो नाबालिग लड़कियों के पीड़ित परिवार से मिले. विधायक बसंत सोरेन दोनों पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर शोक जताया और आर्थिक सहायता देने के साथ सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने का आश्वासन देते हुए अधिकारियों को निर्देश भी दिया. यहाँ भी अपनी आदतों से मजबूर राजनेता अपनी गंदी राजनीति से बाज़ नहीं आये . ऐसे मौके पर भी विधायक बसंत सोरेन ने बीजेपी पर खूब हमला बोला और उनके सभी आरोपों का जवाब भी दिया.
दरअसल दुमका में हाल ही में दो नाबालिग लड़कियों के साथ हुई दरिंदगी से पूरा देश सहमा हुआ है. देश के कोने कोने से तमाम पार्टियों के नेता दुमका पहुँचे पीड़ित परिजनों से मिले, लेकिन अभी तक इलाके के विधायक और मुख्यमंत्री के भाई बसंत सोरेन लापता थे. ऐसी वीभत्स घटना के बाद भी स्थानीय विधायक के लापता रहने पर विपक्षियों को उन्हें घेरने का मौका मिल गया. जिसके बाद आखिरकार बुधवार 7 सितंबर को वो दुमका पहुंचे. बसंत सोरेन ने सबसे पहले दुमका नगर थाना क्षेत्र में बीते 23 अगस्त को पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जलायी गयी नाबालिग लड़की के परिवार से मिले और उन्होंने पीड़िता के परिवार को सांत्वना दी. बसंत सोरेन ने पीड़िता की बहन को नौकरी देने का भरोसा दिया. मामले में पीड़िता को ज़िंदा जलाने वाला आरोपी शाहरुख हुसैन फिलहाल जेल की हवा खा रहा है.
वहीं दूसरी तरफ बीते 2 सितंबर को दुष्कर्म के बाद एक आदिवासी नाबालिग लड़की की हुई हत्या मामले में भी बसंत सोरेन ने दुःख जताते हुए पीड़िता के परिवार को करीब 9 लाख रुपये का चेक सौंपने के साथ पीड़िता की छोटी बहन का कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में एडमिशन कराने की बात कही. बसंत सोरेन ने पीड़िता के बीमार माता पिता के बेहतर इलाज की भी बात कही. उन्होंने ये भी कहा कि इससे पहले भी प्रशासन पीड़िता के परिवार को एक लाख रुपये दे चुका है. अब तक सरकार ने पीड़िता के परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता पहुंचाई है. साथ ही विधायक ने भी कहा कि दुमका में हाल के दिनों में ऐसी घटनाओं के मामले में अपराध को काबू में रखने के लिए जल्द ही DIG, DC और SP के साथ वो बैठक करेंगे.
बता दें दुमका में नाबालिग लड़की को पेट्रोल डालककर जिंदा जलाये जाने की घटना के बाद बीजेपी विधायक दल के नेता एवं झारखंड के पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी, सांसद निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी समेत, कपिल मिश्रा ने दुमका का दौरा किया था. इस दौरे पर विधायक बसंत सोरेन ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये लोग घटिया और निचले स्तर की राजनीति करते हैं और अक्सर ये लोग ऐसे मौके ढूंढते ताकि उसका राजनीतिकरण किया जा सके. किसी परिवार के साथ ऐसी घटनाएं घटती है और बीजेपी इसका राजनीतिकरण करने का प्रयास करती है.
यहां उन्होंने बीजेपी के दौरे को तो राजनीति बताया लेकिन जब ये घटना घटी तो वो खुद कहां थे . घटना के इतने दिन बाद जब वो पहुंचे हैं तो खुद बीजेपी के खिलाफ बोलकर राजनीति नहीं कर रहे. फिलहाल दुमका का पूरा इलाका बारूद की ढेर पर बैठा है.अगर इस तरह के मामले नहीं रुके और तनाव बढ़ा तो बारूद में धमाका तय है. अब सबकी नजर पुलिस विभाग पर है कि कैसे इन मामलों से निपटती है.

Latest news

Related news