Sunday, May 26, 2024

लुफ्तांसा एय़रलाइन्स के पायलटों की हड़ताल खत्म,यात्रियों ने ली राहत की सांस

दुनिया की सबसे बड़ी एयरलाइंस लुफ्तांसा के पायलटों की हड़ताल खत्म हो गई है.  देर रात 1.30 मिनट पर दिल्ली से पहली उडान भरी जायेगी. पायलट यूनियन वेरेइनिगंग कॉकपिट (वीसी) के हड़ताल पर चले जाने के कारण 2 सितंबर को दुनिया भर में लुफ्तांसा एयरलाइन की 800 उड़ानें रद्द कर दी गई, जिसके कारण दुनिया भर के कई देशों में एयरपोर्ट्स पर अफरा तफरी और विरोध की स्थिति दिखाई दी. उड़ानें रद्द होने के कारण दुनिया भर के कई एयरपोर्ट्स पर सैंकड़ों यात्री फंसे गये. दिल्ली के अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर भी लुफ्तांसा के यात्रियों की बड़ी भीड़ जमा है. करीब 700 यात्री अपनी फ्लाइट रद्द होने के कारण एयरपोर्ट पर बैठे नजर आये.एयरलाइंस की तरफ से कुछ स्थित साफ ना होने के कारण एयरोपर्ट पर यात्री नारे लागाते दिखाई दिये. यात्रियों की मांग थी कि या तो उनके लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था की जाये या रिफंड किया जाये.

यूरोपीय देशों में भी कई एयरपोर्ट पर यात्री उडानें रद्द होने की वजह से  परेशान होते नजर आये. फैंकफ्रर्ट और म्यूनिक एयरपोर्ट पर लोगों की बड़ी भीड़ नजर आई. जर्मनी और यूरोप के कई देशों में गर्मी की छुट्टियों के खत्म होने के बाद लोग अपने अपने ठिकानों पर वापसी के लिए एयरपोर्ट पर है. पायलटों की हड़ताल के कारण उड़ानों के संचालन पर जबर्दस्त प्रभाव पड़ा.

क्यों हुई हड़ताल

कोविड महामारी के दौरान दुनिया भर के ज्यादातर व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ रहा है. लुफ्तांसा एयरलाइन भी इनमें से एक है. लुफ्तांसा एयरलाइन के पायलट्स की मांग है कि कंपनी नये कर्मचारियो को काम पर रखे. कर्मचारियो की कम संख्या के कारण उनपर ज्यादा काम का बोझ पड़ रहा है.

हडताल पर कंपनी का बयान

हड़ताल से हो रही परेशानी के बाद लुफ्तांसा एयरलाइंस के श्रम निदेशक माइकल निगेमैन ने बयान जारी कर कहा है कि इस हड़ताल को किसी भी तरह से ठीक नहीं कहा जा सकता है. कपंनी ने कोविड महामारी  के दौरान हुए घाटे का बावजूद कर्मचारियों के लिए एक प्रस्ताव बनाया है जिसमें 18 महीने की अवधि में दो चरणों में वेतन में वृद्धि की जायेगी, इसमें लुफ्थांसा और लुफ्थांसा कार्गो के पायलटों को दो चरणों में प्रति माह मूल वेतन में कुल 900 यूरो अधिक प्राप्त होंगे.इससे खासतौर पर एंट्री लेवल सैलरी को फायदा होगा. एक एंट्री-लेवल को-पायलट को समझौते की अवधि के दौरान 18 प्रतिशत से अधिक अतिरिक्त मूल वेतन मिलेगा, जबकि अंतिम चरण में एक कप्तान को पांच प्रतिशत मिलेगा. कंपनी ने कहा कि वे ग्राउंड स्टाफ के वेतन वृद्धि करने के लिए भी तैयार हैं.

एयर लाइंस क तरफ से आश्वसन मिलने के बाद पिलहाल पायलट्स काम पर लौट गये हैं.

Latest news

Related news