Monday, July 22, 2024

लोकसभा चुनाव 2024: बीजेपी को चाहिये 144 और ….

दिल्ली 

लोकसभा चुनाव 2019 में 303 सीट पाने वाली भाजपा अब अपना ही रिकोर्ड तोड़ने की तैयारी मे जुट गई है. मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने केंद्रीय मंत्री और कलस्टर इंचार्ज के साथ बीजेपी हेडक्वाटर में एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई. बैठक में गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा चुनाव 2024 में पिछली बार से ज़्यादा सीटें जीतने का टारगेट दे दिया है. जिन सीटों पर बीजेपी कमजोर है उन सीटों पर खास तौर से विचार किया गया. बीजेपी के मुताबिक 144 लोकसभा सीटें है जहां बीजेपी कमजोर है.

बैठक में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी,अश्विनी वार्ष्णेय, भूपेंद्र यादव, अर्जुन मुंडा , गजेंद्र सिंह शेखावत ,जी किशन रेड्डी, एन मुरूगन, प्रहलाद पटेल , प्रहलाद जोशी,  पुरुषोत्तम रुपाला कृष्ण पाल गुर्जर, किरण रिजिजू ,अन्नपूर्णा देवी,अजय मिश्र टेनी ,महेंद्र पांडे ,पंकज चौधरी राजीव चंद्रशेखर ,संजीव बालियान वीके सिंह, फगन सिंह कुलस्ते, गिरिराज सिंह, रावसाहेब दानवे पाटील बीएल वर्मा, कौशल किशोर ,दर्शना जरदोष अनुराग ठाकुर, सुभाष सरकार मौजूद रहे.

सूत्रों के मुताबिक मंगलवार की बैठक में मोदी सरकार के मंत्री, लोकसभा क्षेत्रों की ग्राउंड जीरो रिपोर्ट और जीत के लिए किए जाने वाले उपायों पर चर्चा हुई है.

 

144 लोकसभा सीटों पर पार्टी ने केंद्रीय मंत्रियों को प्रवास की जिम्मेदारी सौंपी थी उससे मिले रिपोर्ट पर चर्चा हुई. संगठन को मजबूत करन के लिए केंद्रीय मंत्रियों और जो सांसद को खास तौर से जिम्मेदारी निभाने के लिए कहा गया.

बैठक में उन केंद्रीय मंत्रियों को खास तौर से हिदायत दी गई कि उन्हें जिस भी क्षेत्र का प्रवास सौंपा गया है उसे पूरा करें और संगठन को मजबूत करें. पूरे देश में  बीजेपी जिन 144 लोकसभा क्षेत्रों को कमजोर मान रही है उन सीटों पर ध्यान केंद्रीत करने पर चर्चा हुई. पार्टी के दोनों वरिष्ठ नेताओं (अमित शाह और जेपी नड्डा ) ने  हारी हुई सीटों के इंचार्ज मंत्रियों के अपने प्रवास पूरा ना करने पर असंतोष जताया सीटों पर प्रवास पूरा करने के निर्देश दिए गए.

बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी  कई महीनो पहले ही सुरु कर दिया था. इसी साल मई में पार्टी के आंतरिक श्रोतों के माध्यम से की गई रेकी के बाद  144 लोक सीटों को चिन्हित किया था जहां या तो बीजेपी कमजोर थी या कम मतों के अंतर से हारी थी. यहां पार्टी को मजबूत करने के लिए विशेष प्रयास करने की जरुरत पर बल दिया गया था. इन क्षेत्रों में बीजेपी की जीत सुनिश्चित करने के लिए उठाए जाने वाले आवश्यक कदमों की पहचान करने की जिम्मेदारी विभिन्न मंत्रियों को सौंपी गई थी. इन क्षेत्रों से आने वाली रिपोर्ट पर बैठक में चर्चा हुई. मंत्रियों ने लगभग सभी निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा किया है और चुनावी रणनीति के लिहाज से महत्वपूर्ण विवरण इकट्ठे किये हैं.

2024 के लोकसभा चुनाव में 2 साल से भी कम समय बचे होने के कारण 25 मई को गृहमंत्री अमित शाह  और अध्यक्ष जेपी नड्डा  ने ‘लोकसभा प्रवास’ अभियान शुरू किया था.प्रवास का उद्देश्य देशभर में बीजेपी की जीत के लिहाज से कमजोर  144  लोकसभा सीटों पर जमीनी स्तर पर पार्टी को मजबूत करना था.चुनिंदा केंद्रीय मंत्रियो को क्लस्टर प्रभारी और प्रवास मंत्रियो के रूप में नियुक्त किया गया था जो अगले 18 महीनों लिए लोकसभा सीटों के समूह में इस अभियान की निगरानी करने वाले थे.

केंद्रीय मंत्रियों को आबंटित लोकसभा में 2024 के आम चुनावों के परिप्रेक्ष्य के साथ आउटरीच शुरू करने के लिए मंत्रियों को 30 जुलाई 2022 से पहले इन चयनित लोकसभा सीटों का दौरा करने को कहा गया था.

मंगलवार की बैठक में पार्टी की तरफ से इन 144 केंद्रीय लोकसभा सीटों और उनकी विधानसभा सीटों के लिए चुनावी रूप से  महत्वपूण  सूचनाओं  का मिलान, लोकसभा से बूथ स्तर तक पार्टी की मजबूती के लिए प्रयास और लोकसभा सीटों पर पार्टी को मजबूत करने का रोडमैप तैयार किया गया.

Latest news

Related news