Sunday, June 16, 2024

कश्मीर टारगेट किलिंग: ओवैसी और कांग्रेस ने साधा पीएम और गृहमंत्री पर निशाना, कहा श्वेत पत्र जारी कर बताएं आखिर क्यों हुई कश्मीर नीति विफल

दक्षिण कश्मीर में एक बार फिर टारगेट किलिंग का मामला सामने आने के बाद विपक्ष केंद्र सरकार पर हमलावर हो गया है. शोपियां में मंगलवार को आतंकियों ने , छोटेपोरा इलाके में सेब के बाग में काम कर रहे दो भाइयों पर फायरिंग कर दी। इसमें एक भाई सुनील कुमार भट्ट की मौत हो गई है, जबकि दूसरा पिंटू कुमार घायल है। घायल को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी है और हमलावरों की तलाश शुरू कर दी गई है।
कांग्रेस ने मांगा पीएम और गृहमंत्री से जवाब
कश्मीरी पंडितों की हो रही इस टारगेट किलिंग पर कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर निशाना साधा. कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि समय आ गया है की पीएम और गृहमंत्री अपनी कश्मीर नीति को लेकर देश को संबोधित करें. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को श्वेत पत्र जारी कर देश को ये बताना चाहिए कि आखिर उनकी कश्मीर नीति क्यों विफल रही.
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कश्मीर के लोगों ने तिरंगा झंडा अपने घर में लगाया. जिससे घबराकर पाकिस्तानी आतंकवादी यह काम कर रहे है. उन्होंने कहा कि आतंकवादी कायर है. उन्होंने पाकिस्तान पर कश्मीर में खूनी खेल खेलना का आरोप भी लगाया.
कश्मीर में नाकाम साबित हुई है केंद्र सरकार-ओवैसी
कांग्रेस की तरह ही AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी बीजेपी सरकार को आड़े हाथ लिया. असदुद्दीन ने कहा “केंद्र द्वारा संचालित सरकार वहां (जम्मू-कश्मीर) नाकाम साबित हुई। 370 ये कहकर हटाया गया कि सारे पंडितों को फायदा होगा, कश्मीर में अमन हो जाएगा। आपकी सरकार उनको सुरक्षा प्रदान करने में नाकाम साबित हुई है और कश्मीरी पंडित अब कश्मीर छौड़कर जाना चाहते हैं”
घाटी को कब्रिस्तान बनाना चाहता है पाकिस्तान-बीजेपी
वहीं टरगेट किलिंग को लेकर जम्मू-कश्मीर बीजेपी के अध्यक्ष रविंदर रैना ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर में खूनखराबा चाहता है. पाकिस्तान घाटी को कब्रिस्तान बनाना चाहता है, लेकिन हम उसे उसके नापाक मंसूबों को पूरा नहीं करने देंगे. शोपियां क्षेत्र में कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी, उन्हें निश्चित रूप से दंडित किया जाएगा.
आतंकवादी घाटी में हमारे शांति लाने के प्रयास को नहीं रोक सकते-आईजीपी
वहीं शोपियां की घटना को लेकर जम्मू कश्मीर के आईजीपी ने बयान दिया है कि, ”महिलाओं, बच्चों, निहत्थे पुलिसवालों और बाहरी मजदूरों समेत निर्दोष नागरिकों को निशाना बनाकर आतंकवादी घाटी में हमारे शांति लाने के प्रयास को नहीं रोक सकते हैं. कश्मीर के सभी 3 इलाकों में, विशेष रूप से विदेशी आतंकवादियों के खिलाफ हमारे सीटी ऑपरेशन एक साथ जारी रहेंगे.’

Latest news

Related news