Sunday, July 14, 2024

बीजेपी ने भेजा संदेश “आप” तोड़कर भाजपा में आ जाओ, सारे CBI ED के केस बंद करवा देंगे”, सिसोदिया का बड़ा दावा

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के पीछे बीजेपी ने सीबीआई लगाई है या खुद मधुमक्खी के छत्ते में हाथ डाल लिया है. शुक्रवार को मनीष सिसोदिया के घर छापों के बाद से ही बीजेपी और आप में ज़ुबानी और सोशल मीडिया पर जंग जारी है. आरोप प्रत्यारोपों के सिलसिले में रोज़ दोनों ओर से एक आरोप जोड़ दिया जाता है.
सोमवार सुबह दिल्ली सरकार में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट कर दावा किया है कि उन्हें बीजेपी की ओर से ऑफर मिला है. उन्होंने दावा किया है कि बीजेपी ने उन्हें AAP तोड़कर पार्टी (BJP) में शामिल होने का संदेश दिया है. ट्वीट में सिसोदिया ने दावा किया है कि उन्हें कहा गया है कि अगर वो बीजेपी में आते हैं तो उनपर दायर किए गए सीबीआई-ईडी के केस बंद करवा दिए जाएंगे.
AAP नेता मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया- ” मेरे पास भाजपा का संदेश आया है- “आप” तोड़कर भाजपा में आ जाओ, सारे CBI ED के केस बंद करवा देंगे मेरा भाजपा को जवाब- मैं महाराणा प्रताप का वंशज हूँ, राजपूत हूँ. सर कटा लूँगा लेकिन भ्रष्टाचारियों-षड्यंत्रकारियों के सामने झुकूँगा नहीं। मेरे ख़िलाफ़ सारे केस झूठे हैं. जो करना है कर लो.”

इससे पहले रविवार के दिन डिप्टी सीएम सिसोदिया ने एक ट्वीट कर कहा था कि “आपकी सारी रेड फैल हो गयी, कुछ नहीं मिला, एक पैसे की हेरा फेरी नहीं मिली, अब आपने लुक आउट नोटिस जारी किया है कि मनीष सिसोदिया मिल नहीं रहा। ये क्या नौटंकी है मोदी जी? मैं खुले आम दिल्ली में घूम रहा हूँ, बताइए कहाँ आना है? आपको मैं मिल नहीं रहा?”
सिर्फ इस एक ट्वीट में नहीं मनीष सिसोदिया लगातार प्रधानमंत्री पर निशाना साध रहे है. उन्होंने 2014 से पहले के भाषण की क्लिप शेयर की है जिसमें प्रधानमंत्री मोदी तब कि सरकार पर सीबीआई के गलत इस्तेमाल का आरोप लगा रहे है. इस क्लिप के साथ डिप्टी सीएम ने लिखा है- “CBI छापों के बारे में मोदी जी के इस बयान को ज़रूर सुने. अगर नहीं सुना तो आप एक बहुत बड़े सच को जानने से वंचित रह जाएंगे.”


वैसे आप तोड़ बीजेपी में शामिल होने वाला आरोप मनीष सिसोदिया ने ऐसे वक्त लगाया है जब उनपर नई आबकारी नीति के मामले में सीबीआई ने एफआईआर दायर की है. आपको बता दें शुक्रवार को दिल्ली के डिप्टी सीएम के आवास समेत एनसीआर में करीब 30 जगहों पर सीबीआई ने छापे मारे थे. छापेमारी के बाद सीबीआई ने एक एफआईआर दायर की थी जिसमें दिल्ली के डिप्टी सीएम को नंबर एक आरोपी बनाया था.

Latest news

Related news