Thursday, April 18, 2024

चंबल की दस्यु सुंदरी सरला जाटव 17 साल बाद जेल से रिहा

इटावा

नामी डकैत निर्भय गुर्जर के दत्तक पुत्र श्याम जाटव की पत्नी सरला जाटक शुक्रवार को इटावा के जिला जेल से जमानत पर रिहा कर दी गई. सरला जाटव डकैत निर्भय गुर्जर के साथ गैंग की सक्रिय सदस्य रही थी. डकैती,अपहरण और पुलिस बल पर हमला करने के मामले में 2005 में हाइकोर्ट से जीवन कारावास की सजा हुई थी

सरला जाटव का इतिहास

सरला जाटव उत्तर प्रदेश के ही औरेया के गंगदासपुरा की रहने वाली है.कहा जाता है कि निर्भय गुर्जर ने दिल्ली से श्याम जाटव का अपहरण किया था और बाद मे उसे ही अपना दत्तक पुत्र बना लिया था. निर्भय गुर्जर ने अपने दत्तक पुत्र श्याम गुर्जर की शादी सरला जाटव से कराई थी.शादी के बाद सरला जाटव भी निर्भय गुर्जर गैंग की सक्रिय सदस्य बन गई.सरला और श्याम जाटव डाकू निर्भय गुर्जर के सबसे विश्वासपात्र थे. निर्भय गुर्जर की अनुपस्थिति में यही दोनों गैंग चलाते थे.निर्भय गैंग में रहते हुए ही सरला जाटव ने सहसो में पुलिस पार्टी पर हमला बोला था.हमले के दौरान एक राशन डीलर की गोली मार कर हत्या कर दी थी और गांव के ही 6 किसानों का अपहरण भी कर लिया था.जिसके बाद उसे पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया था.

सरला जाटव छोटी उम्र मे ही गैंग में शामिल हो गई थी. उसे मंहंगे कपड़ों और चश्मो का शौक रहा है. कम उम्र में ही वो अपनी कमर में कारतूस लटका कर चला करती थी. लूट अपहरण के मामलों के कारण वो पुलिस की वांटेड लिस्ट में शामिल हो गई थी.

Latest news

Related news