Monday, February 26, 2024

”कांग्रेस अध्यक्ष का पद, एक वैचारिक पद है”-राहुल गांधी

कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव की अधिसूचना 22 सितंबर यानी गुरुवार को जारी कर दी गई. अब 24 से 30 सिंतबर के बीच नामांकन की प्रक्रिया होगी. कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने फिर एक बार संकेत दिए है कि वो पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ने वाले है. राहुल ने मीडिया के सभी सवालों का जवाब दिया. उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है पार्टी का अगला अध्यक्ष एक व्यक्ति एक पद के नियम का पालन करेगा. राहुल के इस बयान के बाद ट्वीटर पर सचिन पायलट ट्रेंड करने लगा. लोगों का कहना था कि राहुल का ये बयान राजस्थन के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए है जो अध्यक्ष पद के लिए सोनिया गांधी की पहली पसंद बताए जा रहे हैं.

राहुल गांधी की कांग्रेस के नए अध्यक्ष के लिए सलाह
भारत जोड़ों यात्रा के दौरान हुए एक प्रेस वार्ता में जब राहुल गांधी से पूछा गया कि वह नए पार्टी अध्यक्ष को क्या सलाह देंगे?. इस सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि “ आप एक ऐतिहासिक स्थान ले रहे हैं. एक ऐसा स्थान जो भारत के एक विशेष दृष्टिकोण को परिभाषित करती है. कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ एक संगठनात्मक पद नहीं है बल्कि यह एक वैचारिक पद है” कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा “इसलिए मेरी सलाह है कि जो कोई भी कांग्रेस का अध्यक्ष बने, उसे यह याद रखना चाहिए कि वह एक विचारधारा, एक विश्वास प्रणाली और भारत की दृष्टि का प्रतिनिधित्व करेगा”

भारत जोड़ो यात्रा की सफलता पर क्या बोले राहुल गांधी
भारत जोड़ों यात्रा के 15वें दिन राहुल गांधी ने फिर दोहराया कि उनकी यात्रा विचारधारा से जुड़ी है. उन्होंने कहा कि “यात्रा की सफलता कुछ विचारों पर आधारित है. पहला विचार यह है कि एक भारत अखंड खड़ा है, अपने आप से युद्ध में नहीं है, अपनों से नाराज़ नहीं है, नफरत से भरा नहीं है. यह(यात्रा) कुछ ऐसा है जिसकी अधिकांश भारतीय लोग सराहना करते हैं और पसंद करते हैं” कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि “दो अन्य विचार भी हैं जो यात्रा को आगे बढ़ा रहे हैं. एक है बेरोजगारी का स्तर, जिसका सामना आज भारत कर रहा है. तीसरा मुद्दा कीमतों का है. ये तीन विचार हैं जो यात्रा को आगे बढ़ा रहे हैं और प्रोत्साहित कर रहे हैं. ये विचार आपस में जुड़े हुए हैं”

राहुल गांधी ने कहा पीएम मोदी का हर शब्द लोगों को विभाजित करता है
राहुल गांधी ने फिर एक बार बीजेपी और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी सरकार सद्भाव को नष्ट करने पर आमादा है. राहुल गांधी ने कहा कि “भारत एक ऐसा देश है जो सद्भाव, करुणा और विनम्रता के लिए जाना जाता था. लेकिन आज हम ऐसा देश देख रहे हैं जो नफरत, क्रोध और अहंकार से भरा हुआ है. घृणा, क्रोध और अहंकार भारतीय लोगों का स्वभाव नहीं है. हमारी सरकार सद्भाव को नष्ट करने पर आमादा है” कांग्रेस MP राहुल गांधी ने कहा कि पीएम का हर शब्द देश को विभाजित करता है, “भारत के प्रधानमंत्री द्वारा बोला गया प्रत्येक शब्द देश को विभाजित करने और लोंगो की भावनाओं को आहत करने के लिए बोला जाता है”

Latest news

Related news