Saturday, April 13, 2024

यूपी सीएम योगी ने किया मुरादाबाद मंडल का दौरा,करोड़ों की योजनाओं का लोकार्पण किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने सर्किट हाउस, मुरादाबाद में मुरादाबाद मण्डल के सभी जनपदों के विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की. समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री जी एवं जनप्रतिनिधिगणों के समक्ष जिलाधिकारियों एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों/पुलिस अधीक्षकों ने वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अभिनव कार्यों, नवाचार योजनाओं व कानून व्यवस्था के क्रियान्वयन का प्रस्तुतिकरण किया.
मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को शासन की मंशा के अनुरूप समग्र विकास की पद्धति अपनाने एवं जनाकाक्षांओं की पूर्ति हेतु संवेदनशीलता के साथ कार्य करने के निर्देश दिये. उन्होंने कहा कि आम आदमी की संतुष्टि सबसे महत्वपूर्ण है तथा शासन-प्रशासन से जुड़े सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इसे समझना होगा. तहसीलदारों, प्राधिकरणों एवं समस्त कार्यालयों जिनका जनमानस से सीधा जुड़ाव है, हर दिन 1 घंटे की अवधि जनसुनवाई के लिए नियत होनी चाहिए. इस अवधि में अधिकारीगण जनता से मिलें तथा उनकी शिकायतों व समस्याओं का मेरिट के आधार पर समय से निस्तारण करें.
अधिकारी फील्ड का नियमित भ्रमण करते हुए क्षेत्र में रात्रि विश्राम करें तथा मण्डल, रेंज और जोन स्तर के अधिकारी अलग-अलग जिलों में रात्रि विश्राम करते हुए स्थानीय समस्याओं व संभावनाओं की जानकारी प्राप्त करें और यथाआवश्यक कार्यवाही करें. इसी प्रकार जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक भी माह में कम से कम एक बार अलग-अलग तहसील व सर्किल में बारी-बारी से रात्रि विश्राम करें. इससे पूरा सिस्टम एवं सरकारी मशीनरी एक्टिव बनी रहेगी। त्वरित कार्यवाही और संवाद-संपर्क अप्रिय घटनाओं को संभालने में सहायक सिद्ध होते हैं.
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अगर दृढ़ इच्छा शक्ति एवं अपने कर्तव्यों का निर्वहन ठीक प्रकार से किया जाये तो नवाचार की अपार संभावनायें सृजित की जा सकती है तथा अधिक से अधिक संस्थाओं, विशेषज्ञों इत्यादि को जोड़कर बेहतर परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं.उन्होंने सभी योजनाओं के बेहतर एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से क्रियान्वित किये जाने तथा मध्य गंगा नहर परियोजना के द्वितीय चरण को जनहित में यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए.
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोई भी असामाजिक व शरारती तत्व जो सामाजिक सद्भाव को बिगाड़ने की कोशिश करता है तो ऐसे लोगों को किसी भी स्तर पर बख्शा न जाये तथा निःसंकोच बगैर दबाव के निष्पक्ष एवं प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये.
मुख्यमंत्री जी ने जनपद मुरादाबाद में 107.31 करोड़ रुपये से अधिक लागत की 27 परियोजनाओं का लोकापर्ण एवं शिलान्यास किया। इनमें 92.75 करोड़ रुपये से अधिक लागत की 23 परियोजनाओं-स्मार्ट सिटी मिशन के अर्न्तगत मुरादाबाद स्मार्ट लि0 द्वारा स्थापित 20 ई-क्योस्क, सीटिंग ब्रान्डिंग परियोजना, 18 सोलर बेस्ड स्मार्ट टायलेट, 15 सोलर बेस्ड वाटर ए0टी0एम0 एवं स्मार्ट सिटी लि0 द्वारा स्थापित इलेक्ट्रिक बस चार्जिंग स्टेशन, अटल पथ निर्माण कार्य, गुलाबवाडी में एम0आर0एफ0 सेन्टर कार्य, वर्टिकल गार्डन कार्य, महानगर में नवनिर्मित 5 नलकूप, कस्तूरबा गांधी छात्रावास बिलारी, कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास कुन्दरकी, कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास कांठ, मुरादाबाद, भगतपुर टांडा राजकीय आई0टी0आई0 निर्माण कार्य, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ढक्का, मूढापाण्डे में मल्टीपरपज हॉल, कुन्दरकी पेयजल योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अर्न्तगत ग्राम ढक्का में दुर्बल आय वर्ग के भवनों का निर्माण, इलेक्ट्रिक बस चार्जिंग स्टेशन, मोढ़ा पेयजल योजना का लोकापर्ण किया गया। साथ ही, 14.56 करोड़ रुपये से अधिक लागत की 04 परियोजनाओं-09 वाहिनीं पी0ए0सी0 मुरादाबाद में टाइप-2 के लिए 24 नग आवासीय भवनों का निर्माण कार्य, स्मार्ट सिटी योजना के अर्न्तगत नेताजी सुभाषचन्द्र बोस स्पोर्ट्स स्टेडियम परिसर में निर्माण कार्य, ग्रीन हैरिटेज ट्राइंगल कार्य तथा 07 बस स्टाप निर्माण का शिलान्यास किया गया.
समीक्षा बैठक के पश्चात मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग से डबल इंजन की सरकार द्वारा जनपद मुरादाबाद, बिजनौर, सम्भल, अमरोहा और रामपुर में विकास योजनाओं को प्रभावी ढंग से संचालित किया जा रहा है। लोगों को शासन की योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव प्राप्त हो रहा है.वर्ष 2018 में प्रदेश सरकार द्वारा एक जनपद एक उत्पाद योजना प्रारम्भ की गयी थी। वर्ष 2017 तक जनपद मुरादाबाद मंे परम्परागत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग से लोग एक प्रकार से हट से गये थे। लोगों में निराशा व हताशा व्याप्त थी। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और अन्य विभागों की तमाम बंदिशों के कारण यहां से पलायन हो रहा था। एक जनपद एक उत्पाद योजना के बहुत अच्छे परिणाम सामने आये हैं। वर्ष 2017 तक मुरादाबाद जनपद से चार से साढ़े चार हजार करोड़ रुपये के ही पीतल उत्पाद निर्यात हो पाते थे। कोविड-19 के बावजूद आज 10 हजार करोड़ रुपये का निर्यात मुरादाबाद से हो रहा है.
इसके उपरान्त मुख्यमंत्री जी ने लाकड़ी फाजलपुर स्थित ‘प्रधानमंत्री आवास योजना’ (शहरी) के अर्न्तगत बनें आवासीय भवनों का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की लाभार्थी सुश्री प्रियंका चौधरी एवं श्री अशोक कुमार को आवास की चाभी सौंपी. कार्यक्रम के अवसर पर कुल 384 आवास लाभार्थियों को प्रदान किये गये। उन्होंने कहा कि बिना भेदभाव के सभी को आवास दिया जा रहा है और प्रधानमंत्री जी के संकल्प ‘सबका साथ, सबका विश्वास, सबका विकास’ को सार्थक किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि एक घर की कीमत 12 लाख रुपये है परन्तु यह घर 2.50 लाख रुपये में उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसमें 1.50 लाख रुपये केन्द्र सरकार व 01 लाख रुपये राज्य सरकार के योगदान से तथा बकाया राशि एम0डी0ए0 द्वारा उपलब्ध करायी जा रही है.
इस अवसर पर पशुधन एवं दुग्ध विकास तथा मण्डल प्रभारी मंत्री श्री धर्मपाल सिंह, माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) श्रीमती गुलाब देवी, गन्ना विकास मंत्री श्री संजय सिंह गंगवार सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

Latest news

Related news