CM नीतीश के मंत्रिमंडल में आपराधिक छवि वालों की भरमार, तेजस्वी यादव समेत कइयों पर दर्ज हैं मुक़दमे!

0
142

हमारा नेता कैसा हो? जैसा भी हो एक गुंडा, बदमाश या अपराधी तो ना हो. अपने इलाके में गरीब जनता की सुनने वाला हो. बस यही चाहती हैं जनता लेकिन ये बात शायद राजनेताओं को समझ नहीं आती. तभी तो सत्ता के लालच में गुंडे, बदमाशों, बाहुबलियों को भी सत्ता का ठेकेदार बना दिया जाता है. देश के कई राज्यों की बड़ी-बड़ी पार्टियों में ऐसे ऐसे नेता शामिल हैं. जिन पर ढेरों मुक़दमे चल रहे हैं.

ऐसे में बिहार में भी मंत्री मंडल का विस्तार हुआ BJP से गठबंधन तोड़ने के बाद नीतीश कुमार ने RJD कांग्रेस हम जैसी पार्टियों के साथ मिलकर फिर एक बार महागठबंधन की सरकार बनाई. अब आपको बताते हैं CM नीतीश के मंत्री मंडल के उन नेताओं के बारे में जिनकी छवि एक दागदार नेता की है.

बिहार में नीतीश कुमार कैबिनेट के नए मंत्रियों ने शपथ ले ली. शपथ ग्रहण के कुछ घंटे बाद ही नीतीश ने अपने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा भी कर दिया. नई सरकार में जहाँ एक तरफ 33 साल के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सबसे युवा मंत्री हैं. तो वहीं दुसरी तरफ 76 साल के ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव सबसे बुजुर्ग मंत्री हैं. तेजस्वी ने चुनावी हलफनामे में खुद को क्रिकेटर बताया है. वहीं, सबसे ज्यादा मंत्रियों ने खुद को किसान बताया है. क्या आप जानते हैं लालू के सपूत तेजस्वी यादव नीतीश कुमार की कैबिनेट के सबसे कम पढ़े-लिखें मंत्री हैं. वहीं आपराधिक गतिविधियों में सबसे ऊपर. मंत्री मंडल में शामिल कई नेताओं को लेकर अब सवाल खड़े हो रहे हैं कि आखिर क्यों CM नीतीश ने ऐसे नेताओं को अपने मंत्री मंडल में शामिल किया जिनपर आपराधिक मुक़दमे दर्ज हैं.
अब बताइये जब गठबंधन बनाने वाले नेता ही ऐसा होंगे तो पूरा मंत्री मंडल कैसा होगा. चलिए अब आपको बताते हैं तेजस्वी नीतीश के महागठबंधन में दागदार नेताओं के नाम.
सूची में सबसे पहला नाम हैं बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का जिन्होंने अपने हलफनामे में खुद का पेशा क्रिकेटर बताया था.
पार्टी – RJD
शिक्षा – 8 वीं पास
केस – 11
संपत्ति – 5.88 करोड़

सूची में दूसार नाम है बिहार के सहाकारिता मंत्री सुरेन्द्र प्रसाद यादव
पार्टी – RJD
शिक्षा – परास्नातक
केस – 09
संपत्ति – लगभग 9 करोड़

तीसरा नाम है कला संस्कृति एवं युवा मंत्री जितेंदर राय का
पार्टी – RJD
शिक्षा -BA
केस – 05
संपत्ति – 4 करोड़

चौथा नाम हैं लालू प्रसाद यादव के बड़े सुपुत्र और बिहार के नए पर्यावरण,वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री तेजप्रताप यादव
पार्टी – RJD
शिक्षा – 12 वीं पास
केस – लगभग 3 करोड़
संपत्ति – 05

पांचवा नाम हैं बिहार के राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री अलोक मेहता का
पार्टी- RJD
शिक्षा – BA
केस – 03
संपत्ति – 7 करोड़

फिर आते हैं पशु एवं मत्स्य संसाधन अफाक आलम
पार्टी – कांग्रेस
शिक्षा – MA
केस – 01
संपत्ति – 90 लाख
फिर आते हैं अल्पसंख्यक कल्याण. मंत्री मो. जमा खां
पार्टी – JDU
शिक्षा – 12 वीं पास
केस – 3
संपत्ति – 30 लाख
अब आते हैं बिहार के आपदा प्रबंधन मंत्री शाहनवाज़ आलम
पार्टी – RJD
शिक्षा – LLB
केस – 01
संपत्ति – 2.50 करोड़
बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह
पार्टी – RJD
शिक्षा – BA
केस – 02
संपत्ति – 5 .20 करोड़

बिहार की पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री अनीता देवी
पार्टी – RJD
शिक्षा – 12 वीं पास
केस – 01
संपत्ति – 1 करोड़ 20 लाख

बिहार के सूचना प्रावैद्यिकी मंत्री इस्माइल मंसूरी
पार्टी – RJD
शिक्षा – 12 वीं पास
केस – 02
संपत्ति- 96 लाख

बिहार के समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी
पार्टी – JDU
शिक्षा – BA
केस – 02
संपत्ति – 2 करोड़

बिहार के विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री सुमित सिंह
पार्टी – निर्दलीय
शिक्षा -BA
केस – 01
संपत्ति – लगभग 4 करोड़

बिहार के पर्यटन मंत्री कुमार सर्वजीत
पार्टी – RJD
शिक्षा – BA
केस – 01
संपत्ति – 6 .29 करोड़

बिहार के पंचायत राज मंत्री मुरारी प्रसाद
पार्टी – RJD
शिक्षा – BA
केस – 01
संपत्ति – 17 लाख

बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर यादव
पार्टी – JDU
शिक्षा – परासन्नताक
केस – 03
संपत्ति – 2 .30 करोड़

 

बिहार के खान एवं भूतत्व मंत्री डॉ रामानंद यादव
पार्टी – RJD
शिक्षा – PHD
केस -04
संपत्ति – लगभग 11 करोड़

बिहार के जल संसाधन,सूचना एवं जन संपर्क मंत्री संजय झा
पार्टी – JDU
शिक्षा – परासन्नतक
केस – 02
संपत्ति – 22 करोड़

बिहार के लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री ललित यादव
पार्टी – RJD
शिक्षा – परासन्नातक
केस – 01
संपत्ति – 17 करोड़

बिहार के अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण मंत्री संतोष सुमन
पार्टी – हम
शिक्षा – PHD
केस – 02
संपत्ति – 2.55 करोड़

बिहार के कानून मंत्री कार्तिक सिंह
पार्टी – RJD
शिक्षा- BA
केस – 04
संपत्ति – 22 करोड़

बिहार के श्रम संसाधन सुरेंदर राम
पार्टी – RJD
शिक्षा – स्त्रातक
केस – 04
संपत्ति – 1.31 करोड़
इन सभी नेताओं को लेकर अब नीतीश की महागठबंधन सरकार BJP के निशाने पर हैं. नीतीश की नई कैबिनेट पर भाजपा नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी निशाना साधा और नई कैबिनेट को असंतुलित बताया है. उन्होंने कहा कि नई कैबिनेट में 33 फीसदी से ज्यादा मंत्री यादव और मुस्लिम समाज से आते हैं. नीतीश ने नई कैबिनेट में कई दागियों को भी जगह दी है. इस तरह BJP ने CM नीतीश पर जाती वाद और अपराध को बढ़ावा देने के आरोप लगाए हैं. इस पर आपकी क्या राये हैं हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बातएं.