Friday, February 23, 2024

सीएम केजरीवाल का दावा “हमारे विधायक कट्टर ईमानदार हैं”

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने सोमवार को विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश किया. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में प्रस्ताव पेश रखते हुए केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला. सदन की कार्यवाही शुरू होते ही हंगामें के बाद स्पीकर राखी बिड़ला ने विपक्ष के विधायकों को पूरे दिन के लिए बाहर करने का आदेश दिया. इसके बाद मार्शल्स, बीजेपी के विधायकों को बाहर ले गए. बीजेपी विधायक दिल्ली के सरकारी स्कूलों में क्लासरूम बनाने को लेकर हुए कथित भ्रष्टाचार के मामले को उठाने की मांग कर रहे थे.

हमारे विधायक कट्टर ईमानदार हैं-केजरीवाल
सदन में विश्वास प्रस्ताव पेश करते हुए दील्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोगों ने पूछा कि विश्वास प्रस्ताव की क्या ज़रूरत है, मैंने कहा विश्वास प्रस्ताव से हम दिखाना चाहते हैं कि AAP का एक-एक विधायक और कार्यकर्ता कट्टर ईमानदार हैं. मध्य प्रदेश, गोवा, महाराष्ट्र, कर्नाटक में ऑपरेशन लोटस सफल रहा लेकिन दिल्ली में आकर वह टायं-टायं फिस हो गया. केजरीवाल ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि उन्होंने हमारे विधायक खरीदने की पूरी कोशिश की. विश्वास प्रस्ताव से हम साबित करेंगे कि एक भी विधायक नहीं बिका.
केजरीवाल ने कहा कि बीजीपी का इरादा हमारे 40 विधायकों को था तोड़ने का था. मुख्यमंत्री ने कहा हमारे 12 विधायकों ने बताया कि 20 करोड़ रुपए ऑफर किए जा रहे हैं, कह रहे हैं AAP छोड़कर बीजेपी में आ जाओ. 40 विधायकों को तोड़ने का इनका प्लान था. केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी ने मध्य प्रदेश कर्नाटक महाराष्ट्र गोवा मणिपुर अरुणाचल प्रदेश बिहार और कुछ दिन में झारखंड की भी सरकार गिरा देंगे. इन्होंने पिछले कुछ सालों में 277 विधायक खरीदे, 20 करोड़ के हिसाब से 6300 खर्च किया. अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि “देख लेना झारखंड की सरकार गिरी तो पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ेंगे”
अरविंद केजरीवाल ने कथित शराब घोटाले पर भी बीजेपी को आड़े हाथों लिया उन्होंने कहा “यह नौटंकी कर रहे हैं, कह रहे हैं शराब में पैसा खा लिया. आज इनको ऊपर से आर्डर मिला है कि शराब पर बात नहीं करनी बल्कि क्लासरूम की बात करनी हैं. कह रहे हैं टॉयलेट ज़्यादा बना दिये- हां जी बनाएंगे.”
इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल ने कहा कि “मैं चैलेंज करता हूं कि एक भी विधायक तोड़ कर दिखा दो.”

महंगाई बढ़ाने के लिए केंद्र जिम्मेदार-केजरीवाल
वहीं सदन में विश्वास मत पेश करने से पहले सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आम जनता को लगता है कि महंगाई अपने आप बढ़ रही है लेकिन ऐसा नहीं है. केंद्र के अनाप-शनाप टैक्स की वजह से महंगाई बढ़ रही है. इस टैक्स का खर्च आम लोगों पर नहीं किया जा रहा है बल्कि उससे अरबपति लोगों के लोन माफ किए जा रहे हैं.
सीएम ने कहा कि एक ओर जहां पूरी दुनिया में पेट्रोल डीजल के दाम घटते हैं तो वहीं भारत में इसका दाम बढ़ता रहता है. आखिर ये पैसा कहां जा रहा है. ये पैसा ऑपरेशन लोटस में जाता है. जहां अलग-अलग राज्यों के विधायकों को डरा धमका के खरीदा जाता है. बीजेपी ने आम आदमी पार्टी के 40 विधायकों को खरीदने के लिए 800 करोड़ रुपये रखे हुए थे लेकिन हमारे विधायक ईमानदार हैं. सीएम अरविंद केजरीवाल
सीएम ने कहा-“यह बड़े दुख की बात है कि आज इतने अहम विषय पर चर्चा होनी है और विपक्ष गैर जिम्मेदाराना रवैया रख रहा है और वह चर्चा करना ही नहीं चाहते, केवल ड्रामेबाजी करना चाहते हैं. लोग देख रहे होंगे कि यह लोग बात ही नहीं करते नौटंकी करते हैं. आज पूरे देश के लोग महंगाई से बहुत परेशान हैं उनके घर नहीं चल रहे.”
उन्होंने कहा “बहुत से लोगों ने एक टाइम की सब्जी लेने कम कर दी दूध लेना कम कर दिया. लोगों से पूछते हैं तो बहुत से लोगों को लगता है कि महंगाई अपने आप हो रही है जबकि महंगाई अपने आप नहीं हो रही इन लोगों ने टैक्स लगाया है इस वजह से हो रही है. इन्होंने दही पर टैक्स लगा दिया, 75 साल में दही लस्सी छाछ गेहूं चावल पर टैक्स नहीं लगा, इन पर तो टैक्स अंग्रेजों ने भी नहीं लगाया था.”

दोस्तों के कर्ज माफ कर रहे प्रधानमंत्री-केजरीवाल
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा “मेरे गुजरात के दोस्त बता रहे थे कि इन्होंने तो गरबा डांस पर भी टैक्स लगा दिया, देवी के सामने गरबा डांस होता है उनको भी नहीं छोड़ा. टैक्स लगाने से अरबों खरबों रुपए इनके पास आ रहे हैं यह पैसा जा कहाँ रहा है? उनके कुछ खरबपति दोस्त हैं, उन्होंने बैंकों से हजारों करोड़ रुपए के कर्ज़ लिए, कर्ज लेने के बाद इनके दोस्तों की नियत खराब हो गई. उनके पास कर्ज लौटाने के पैसे हैं, लेकिन नियत खराब हो गई.”
मुख्यमंत्री ने कहा, “उन्होंने जाकर इनको बोला कि हमारे बैंकों के कर्ज माफ करा दो इन्होंने माफ करा दीजिए, 10 लाख करोड़ रुपए के कर्जे माफ किए. किसान दर-दर की ठोकर खा रहा है, उसका कर्ज़ माफ नहीं करते. किसान अगर 1 इंस्टॉलमेंट ना दे तो घर पर आ जाते, एक मिडिल क्लास वाला अपनी कार की एक किस्त ना दे उसको नहीं छोड़ते.”

Latest news

Related news