Monday, June 17, 2024

Chhattisgarh Second Phase Election : बुधवार शाम थम गया प्रचार, शनिवार को 70 सीटो पर होगा मतदान

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में आज बुधवार (15 नवंबर) को चुनाव प्रचार थम गया है. इस दोनों राज्यों में शुक्रवार (17 नवंबर) को मतदान होगा. मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटो के लिए एक चरण में मतदान होगा तो वहीं छत्तीसगढ़ की 70 विधानसभा सीटो पर शनिवार को दूसरे चरण में मतदान होगा. यहां 7 नवंबर को पहले चरण का मतदान हुआ था जब 20 सीटो के लिए वोट डाले गए थे.

छत्तीसगढ़ की 70 सीटो पर पड़ेंगे वोट

छत्तीसगढ़ चुनाव के दूसरे चरण में 90 विधानसभा सीटो में से 70 पर वोट पड़ेंगे. इन 70 सीटो पर कुल 953 उम्मीदवार मैदान में है. जिनमें से 827 पुरूष, 130 महिला और 1 तृतीय लिंग उम्मीदवार हैं.

700 मतदान केंद्रों में सिर्फ महिला मतदान कर्मी पदस्थ

दूसरे चरण के लिए कुल 18 हजार 833 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. जिनपर कुल 1 करोड़ 63 लाख 14 हजार 479 मतदाता वोट डालेंगे. इन ढेड़ करोड़ से उपर मतदाताओं में 81 लाख 41 हजार 624 पुरुष मतदाता है जबकि 81 लाख 72 हजार 171 महिला मतदाता है वहीं, तृतीय लिंग के भी 684 मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल करेंगे. 18 हज़ार से ज्यादा इन मतदान केंद्रों में 700 संगवारी मतदान केंद्र हैं जहां सिर्फ महिला मतदान कर्मी ही तैनात की गई हैं.

953 उम्मीदवारों में से कम से कम 100 के खिलाफ दर्ज हैं आपराधिक मामले

पिछले हफ्ते जारी की गई छत्तीसगढ़ इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के मुताबिक छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण किस्मत ज़माने वाले 953 उम्मीदवारों में से 100 (10%) से ज्यादा उम्मीदवार के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनमें से 56 के खिलाफ गंभीर अपराध के मामले दर्ज हैं.
राजनीतिक दलों के हिसाब से अगर आपराधिक मामलों वाले उम्मीदवारों की बात करें तो, सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस के 19% उम्मीदवार यानी 70 में से 13 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज है तो वहीं बीजेपी के भी 12 उम्मीदवार दागी हैं. बात अगर आम आदमी पार्टी की करें तो उसके 27% प्रतिशत यानी 12 उम्मीदवारों पर आपराधिक मुकदमे दर्ज है जबकि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के 11 के उम्मीदवारों ने अपने हलफनामे में आपराधिक मामलों की घोषणा की है.

छत्तीसगढ़ में छाया रहा महादेव एप भ्रष्टाचार का मुद्दा

छत्तीसगढ़ में मुख्य मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच है. कांग्रेस यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में आसान जीत का दावा कर रही है वहीं मोदी के चेहरे के साथ मैदान में उतरी बीजेपी ने भी प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ी. कासकर महादेव एप को लेकर बीजेपी मुख्यमंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही है. बीजेपी के स्टार प्रचारक असम के मुख्यमंत्री ने तो ये तक कहा कि चुनाव के बाद ईडी भूपेश बघेल के दरवाज़े पहुंचेगी. वहीं असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के बयान पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, “… भूपेश बघेल डरने वाला नहीं है. आपकी(हिमंत बिस्वा सरमा) तरह हम भगोड़े नहीं हैं. हम लोग डटकर सामना करते हैं. अगर हमने कुछ गलत नहीं किया तो डरने का सवाल ही नहीं बनता. भाजपा और केंद्र सरकार जो कुछ भी कर ले.”

ये भी पढ़ें-Bihar BJP: मांझी के अपमान को क्या बीजेपी दलित अपमान के मुद्दे में बदल पाएगी, मांझी ने क्यों दिलाई राम विलास पासवान की याद

Latest news

Related news