Saturday, February 24, 2024

Chhattisgarh Budget : साय सरकार ने 1,47, 500 करोड़ का पहला बजट किया पेश, अयोध्या दर्शन और धार्मिक पर्यटन पर जोर,2028 तक GDP 10 लाख करोड़ करने का लक्ष्य

रायपुर : Chhattisgarh Budget छत्तीसगढ़ की विष्णुदेव साय सरकार ने अपना पहला बजट पेश कर दिया है. वित्तमंत्री ओपी चौधरी ने आज विधानसभा में एक लाख सैतालिस(47) पांच सौ (500) करोड़ का बजट सदन के पटल पर रखा . छत्तीसगढ़ की नई नवेली साय सरकार ने इस बार अपने बजट का थीम अमृतकाल और ग्रेट छत्तीसगढ़ (GREAT CG)  पर रखा.

Chhattisgarh Budget : छत्तीसगढ़ सरकार का विजन डॉक्यूमेंट 

सीएम विष्णुदेव साय ने इस बजट के साथ ही राज्य को 2047 तक एक विकसित राज्य के कैटेगरी में खड़े दिखाई देने के लिए विजन डाक्यूमेंट तैयार करने की भी घोषणा की है. इस विजन डाक्यूमेंट को सरकार ‘अमृत काल-छत्तीसगढ़ विजन @ 2047 का नाम देगी.

आज के बजट की खास बातें

राज्य के विकास की रणनीति 10 स्तंभो पर आधारित होगी. इस में GYAN यानी गरीब(G),युवा (Y),अन्नदाता (A)यानी किसान और नारी (N) से जुड़े विकास कार्य सरकार की प्राथमिकता होगी.

शासन प्रशासन में तकनीक के प्रयोग को बढ़ावा दिया जायेगा. तकनीक पर आधारित रिफॉर्म के लिए सरकार ने 266 करोड़ रुपया आवंटित किया है. सरकार में  किसी तरह की गड़बड़ी  पर नकेल कसने के लिए तकनीक के प्रयोग को बढ़ावा दिया जायेगा.यानी शासन -प्रशासन में ज्यादा ट्रांसपेरेसी लाने के लिए तकनीक के प्रयोग को हर विभाग में बढ़ावा दिया जायेगा.

 राज्य में हेल्थ, वेडिंग और टूरिस्ट डेस्टिनेशन बढ़ाने पर जोर 

विष्णुदेव साय सरकार ने कहा है कि नई सरकार छत्तीसगढ़ की प्रकृतिक संपदा का न्यायपूर्ण तरीके से विस्तारण करेगी और यहां मौजूद प्रकृतिक संपदाओं को हेल्थ डेस्टिनेशन, वेडिंग डेस्टिनेशन और टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाकर स्थानीय लोगों के लिए रोजगार और व्यापार दोनों को बढ़ावा देंगी.

 आर्थिक रुप से राज्य को बढ़ाने पर जोर 

बजट के दौरान वित्तमंत्री ओपी चौधरी ने कहा कि प्रदेश में निजी निवेश को सुनिश्चित करना सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है. बस्तर सरगुजा से क्षेत्र सरकार की आर्थिक रणनीति का हिस्सा होगी.सरकार ने प्रदेश की GDP को 10 लाख करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है.

य़ुवाओं के लिए छत्तीगढञ क्रांति उद्यम योजना लाई गई है, वहीं मजदूरो के लिए दीनदयाल उपाध्याय कृषि मजदूर योजन के तहत 500 करोड़ का प्रवधान किया गया है.

धार्मिक पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा  

सरकार ने शक्तिपीठ योजना के लिए 5 करोड़ का प्रावधान हैं .अय़ोध्या श्रीरामलला लला के दर्शन के लिए 35 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है , जिसमें सरकार रेल के जरिये श्रद्धालुओं को अयोध्या दर्शन के लिए लेकर जायेगी.

राज्य के विकास के लिए स्टेट कैपिटल योजना शुरु होगी, जिसके लिए  5 करोड़ रुपये का प्रवधान रखा गया है.

प्रदेश के कुनकुरी में कृषि अनुसंधान केंद्र खुलेगा. तेंदुपत्ता जमा करने वालों को 5500 रुपया बोरा सरकार की तरफ से मिलेंगे.

छत्तीघढ़ में भी होगा इन्वेस्टर्स समिट

छत्तीसगढ़ में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए इंवेस्ट छत्तीसगढ़ का आयोजन होगा. बीजेपी शासित अन्य राज्यों  में जहां हर साल निवेशको के लिए समिट आयोजित करके सरकार राज्य के विए हजारों करो़ड़ का निवेश आकर्षित करती है, उस तर्ज पर अब छत्तीसगड़ में  इवेस्टर समिट का आयोजन होगा.

सरकार ने विधानसभा मे कहा कि वर्तमान में छत्तीगढ़ की GDPS लगभग 5 करोड़ है वहीं इसे 2028 तक 10 लाख करोड़ करने का लक्ष्य है.

य़े भी पढ़े :- Bharat Ratan: चौधरी चरण सिंह, नरसिम्हा राव और एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न, पीएम ने पोस्ट कर दी जानकारी

 

रायपुर बिलासपुर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए जहां 402 करोड़ का प्रवधान किया गया है वहीं नई सड़के बनाने के लिए 841 करोड़ का प्रावधान किया गया है. राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री पर्यटन योजना की शुरुआत होगी. वहीं 5 करोड़ की राशि छत्तीसगढ़ में मौजूद 5 शक्तिपीठों के  विकास के लिए आवंटित की गई है.चरण पादुका स्थल के विकास के लिए 35 करोड़ का प्रावधान है. गोंडी  भाषा के विकास के लिए 2.5 करोड़ रखा गया है.

Latest news

Related news