Friday, June 21, 2024

Chhattisgarh Baloda Bazar Ruckus : बलौदा बाजार में 7-8 हजार की भीड़ ने काटा बवाल,25 पुलिसकर्मी घायल

Chhattisgarh Baloda Bazar Ruckus : छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार में उस समय हालात तनावपूर्ण हो गये जब  सोमवार को सतनामी समाज के लोग एक साथ भीड़ की शक्ल में उग्र प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंच गये. ये लोग हंगामा करने के इरादे से ही आये थे, क्योंकि आने के साथ ही इन लोगों ने सबसे पहले इलाके में लगे सीसीटीवी को तोड़ दिया, जिसके कारण पूरे  इलाके में स्थिति तनावपूर्ण हो गई.

भीड़ की शक्ल में एक साथ 7 से 8 हजार लोगों ने कलेक्ट्रेट पर धावा बोल दिया. उग्र भीड़ ने कलेक्ट्रेट को आग मे झोंक दिया. इलाके मे सड़को पर लगी सैकड़ो कारों और बाइकों मे तोड़ फोड़ की, उनमें आग लगा दिया.  गरौदपुरी की पवित्र गुफा नें 15 -16 मई का रात कुच लोगों ने जैजखांभ को तोड़ने की कोशिश की. इस मामले मे पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार भी किया लेकिन सतनामी समाज का कहना है कि इस घटना के पीछे कई और लोगों के भी हाथ हैं, जिन्हें गिऱफ्तार किया जाना चाहिये.

सतनामी समाज के इन लोगों का विरोध प्रदर्शन संत अमरदास की तपोभूमि जैतखाम को कीटे जान के लेकर था. मामले में शुरुआती जांच के दौरान ये बात साने आई है कि इन लोगों ने इलाके में आते ही तोड़ पोड़ किया. सड़क पर लगी चीजें तोड़ी, सीसीटीवी तोड़ दिया ताकि पहचान ना हो सके.

Chhattisgarh Baloda Bazar Ruckus:  हिंसा के मामले 60 से ज्यादा लोग हिरासत में

हिंसा और तोड़फोड के बाद पुलिस ने 60 लोगोंक हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ चल रही है. सोमवार की इस हिंसक वारदात में 25 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गये हैं . भीड़ ने बलौदाल बाजार मे घुसते ही सबसे पहले कलेक्चट्रेट पर धावा बोला और वहां आदृगजनी कि फिर सड़को पर खड़ी सौकड़ों बाइक और वाहनों में आग लगा दी.

संत अमरदास की तपोभूमि तोड़फोड के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग  

पूछताछ के आधार पर जो जानकारी निकल कर सामने आई है उसके मुताबिक  पिछले कुछ दिनों से ये प्रदर्शन गिरौदपुरी के महकौनी मे बाबा संत अमरदास की तपोभूमि के जैतखाम को काटे जाने के सीबीआई जांच की मांग हो रही है.  बताया गया इस घटना के विरोध में सतनामी समाज  के लोग बड़ी संख्या में बलौदा बाजार पहुंच गये. लोग यहां के दशहरा मैदान में जमा हुए और देखते ही देखते विरोध प्रदर्शन उग्र हो गया और लोगों ने तोड़ फोड़ मचानी शुरु कर दी. हांलांकि प्रशासन को ये अंदेशा था इसलिए पुलिस बल की तैनात रखी गई थी.  लोगों ने सीसीटीवी तोड़ा लेकिन ड्रोन से भी इन पर निगरानी की जा रही थी. ड्रोन फुटेज के आधार पर लोगों की पहचान क जा रही है. अब तक पुलिस ने 60 लोगों को हिरासत में  ले लिया है. पुलिस पूछताछ कर रही है.

Latest news

Related news