Saturday, February 24, 2024

Budget 2024 : महिलाओं-किसानों के लिए बजट में कई एलान, सीतारमण ने बताईं विकास योजनाएं

दिल्ली :  Budget 2024  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में अंतरिम बजट पेश किया. यह बजट मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतिम बजट है. वित्तमंत्री ने इस बार छठा बजट सदन में पेश किया. मोरारजी देसाई के बाद सीतारमण ही दूसरी वित्त मंत्री हैं, जिन्हें छह बार बजट पेश करने का मौका मिला. यह चुनावी साल है, इसलिए इस बार सरकार ने अंतरिम बजट पेश किया है. 2024 के आम चुनाव के बाद सरकार अपने इस विजन को आगे बढ़ाने का काम शुरू करेगी. इस बीच वित्त मंत्री ने विकास से जुड़े कई बिंदुओं पर अहम एलान किए हैं.

 Budget 2024
                                                       Budget 2024

उन्होंने कहा कि देश को बिजली में और आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक करोड़ घरों को 300 यूनिट सोलर बिजली ​फ्री में दी जाएगी. सोलर एनर्जी के उपयोग और इसे और बढ़ाने को लेकर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कृत संकल्पित हैं. यह हाल ही में देखा गय. जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा करने के बाद आम लोगों के लिए सोलर बिजली को लेकर बड़ा फैसला लिया. यही कारण है कि पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना शुरू करने का ऐलान किया इनमें प्रधानमंत्री आवास योजना से लेकर नवीकरणीय ऊर्जा को लेकर भी कई बड़े एलान हैं.

Budget 2024 : पीएम आवास योजना-ग्रामीण और रूफटॉप सौर ऊर्जा

सीतारमण ने पीएम आवास योजना-ग्रामीण के अगले चरण का एलान करते हुए कहा कि इसके तहत तीन करोड़ आवास बनाए जाएंगे. इनमें दो करोड़ आवास अगले पांच वर्ष में बनने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य हर नागरिक की आकांक्षाओं को पूरा करना है. पिछड़े जिलों के विकास पर सरकार जोर दे रही है. वित्त मंत्री ने कहा कि जिन एक करोड़ घरों पर सौर ऊर्जा के पैनल लगाए जाएंगे. उन्हें 300 यूनिट फ्री बिजली दी जाएगी. जिसमे 15-18 हजार रुपये की बचत होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि ऊर्जा सुरक्षा और इसमें निवेश पर सरकार का फोकस है.

 पूर्वोत्तर पर होगी नजर

केंद्रीय वित्त मंत्री ने बजट Budget 2024 में पूर्वोत्तर के लिए अहम एलान किए. उन्होंने कहा कि लोगों को भारत की विकास यात्रा का अहम अंग बनाया जाएगा.

 ई-व्हीकल की चार्जिंग

वित्त मंत्री ने कहा कि बड़े पैमाने पर ई-व्हीकल चार्जिंग स्टेशन की स्थापना होगी. इससे वेंडरों को बड़े पैमाने पर काम मिलेगा.

 ‘रेलवे के लिए किए गए ये एलान’

तीन रेलवे कॉरिडोर ऊर्जा, खनिज और सीमेंट के लिए बनाए जाएंगे। पीएम गति शक्ति के तहत इनकी पहचान की गई है. इससे लागत कम होगी और सामान की आवाजाही सुगम होगी. डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर से विकास दर बढ़ाने में मदद मिलेगी. 40 हजार सामान्य बोगियों को वंदे भारत के पैमानों के अनुरूप विकसित किया जाएगा ताकि यात्रियों की सुरक्षा और सहूलियत को बढ़ाया जा सके.

 स्वास्थ्य

मौजूदा स्वास्थ्य ढांचे का ही इस्तेमाल करते हुए हम और मेडिकल कॉलेज बनाएंगे. हमारी सरकार 9 से 14 साल की बच्चियों को सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा. मातृत्व और बाल विकास के लिए एक समग्र योजना बनाई जाएगी. आंगनवाड़ी केंद्रों को अपग्रेड किया जाएगा। पोषण 2.0 के अमल में तेजी लाई जाएगी. टीकाकरण को मजबूत किया जाएगा. आयुष्मान भारत के तहत सभी आशा और आंगनवाड़ी कर्मियों को इसके दायरे में लाया जाएगा.

सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन

वित्त मंत्री ने कहा कि 9-14 वर्ष की बच्चियों को सर्वाइकल कैंसर से बचाने के लिए मुफ्त वैक्सीन लगाई जाएगी. उन्होंने आयुष्मान योजना को सभी आशा बहनों तक बढ़ाने का ऐलान किया है. मेडिकल सम्बन्धी समस्याओं को सुलझाने के लिए एक कमिटी बनाई जाएगी.

ये भी पढ़ें : Interim Budget: मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट, निर्मला सीतारमण ने शुरु…

मातृत्व और बाल विकास

इसके लिए एक समग्र योजना बनाई जाएगी. आंगनवाड़ी केंद्रों को अपग्रेड किया जाएगा. पोषण 2.0 के अमल में तेजी लाई जाएगी. टीकाकरण को मजबूत किया जाएगा सभी आशा और आंगनवाड़ी कर्मियों को इसके दायरे में लाया जाएगा.

कृषि-किसान

प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना से 38 लाख किसानों को फायदा मिला है और 10 लाख रोजगार के अवसर उत्पन्न हुए हैं. उपज के बाद होने वाले नुकसान को रोकने के लिए भी योजनाओं पर काम हो रहा है. हम कृषि उपज होने के बाद की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की भागीदारी मजबूत करेंगे. आत्मनिर्भर तेल बीज अभियान को मजबूत किया जाएगा. इसके तहत कृषि की नई प्रौद्योगिकी और कृषि बीमा को बढ़ावा दिया जाएगा. डेयरी से जुड़े किसानों की भी मदद की जा रही है. राष्ट्रीय गोकुल मिशन जैसी योजनाएं चलाई जा रही हैं. मत्स्य संपदा को भी मजबूत किया जा रहा है. सी-फूड का उत्पादन दोगुना है. मत्स्य संपदा योजना के जरिए उत्पादकता को तीन से बढ़ाकर पांच टन प्रति हेक्टेयर किया जाएगा. रोजगार के 55 लाख नए अवसरों को उत्पन्न किया जाएगा. पांच समेकित एक्वा पार्क बनाए जाएंगे.

लखपति दीदी

नौ करोड़ महिलाओं से जुड़े 83 लाख स्वयं सहायता समूहों अहम योगदान रखते है.। उनकी कामयाबी से एक करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाने में मदद मिली है. वे दूसरों के लिए प्रेरणा हैं. हमने तय किया है कि लखपति दीदी के लिए लक्ष्य को दो करोड़ से बढ़ाकर तीन करोड़ किया है.

Latest news

Related news