Saturday, April 13, 2024

राज्यसभा सांसद सुशील मोदी की लालू यादव को सलाह- ‘तोड़ दीजिये जेडीयू और अपने बेटे को बना लीजिये मुख्यमंत्री’

ब्यूरो चीफ, अभिषेक झा-महागठबंधन टूटने और कथित तौर पर नीतीश कुमार के धोखे का बीजेपी नेताओं पर इतना गहरा असर हुआ है कि वो किसी भी सूरत में नीतीश कुमार को बर्बाद कर देना चाहते हैं. फिर चाहे उसके लिए उन्हें कुछ भी करना पड़े .हद तो ये है कि वो नीतीश कुमार के मौजूदा साथी लालू यादव को जेडीयू तोड़ने की सलाह तक दे रहे हैं. वैसे बीजेपी पर विधायक खरीद और सरकारों को गिराने के आरोप तो लगते रहे है लेकिन किसी ने ये नहीं सोचा होगा कि इस खेल में बीजेपी नेता इतने महारथी हो गए है कि अब उनके लिए नैतिकता नाम की कोई चीज़ बची ही नहीं है. सत्ता का ऐसा नशा है कि खुद करें तो करें दूसरों को भी सलाह दे रहें है कि सिर्फ 5 विधायक तोड़ ले बाकी जोड़ तोड़ विधानसभा में आपका अध्यक्ष देख लेगा.

जी हां  party with a difference की बात कर सत्ता में आने वाली बीजेपी का नैतिक पतन देखना है तो कभी बिहार में नीतीश कुमार के साथ सरकार चलाने वाले सुशील मोदी के बोल सुन ले. कभी नीतीश तो कभी लालू यादव को नैतिकता और राजधर्म का ज्ञान देने वाले सुशील मोदी अब दिल्ली में बैठकर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को विधायक तोड़ने की सलाह दे रहे हैं. सलाह भी ऐसी जिसे सुनकर आप सकते में आ जाये. गृहमंत्री अमित शाह पर भले ही विपक्षी दलों की सत्ता वाले राज्यों में ऑपरेशन लोटल चला कर विपक्षी विधायकों को अपनी पार्टी में आने के लिए उत्साहित करने का आरोप लगता रहा है लेकिन कभी बीजेपी या अमित शाह ने भी किसी को खुले आम ये नहीं कहा कि आप किसी की पार्टी के पांच विधायक तोड़ लीजिए और अपनी सत्ता बना लीजिये.

लेकिन बिहार से आने वाले बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुशील मोदी की इसे नीतिश कुमार के लिए नफरत कहें या फिर हार की तिलमिलाहट की वो लालू प्रसाद यादव को ये सलाह देते-देते की आप नीतीश कुमार पर भरोसा मत कीजिए. वो आपके बेटे को कभी मुख्यमंत्री नहीं बनने देंगे. इतने आगे निकल गए की ये तक बताने लगे की वो कैसे नीतीश की पार्टी के पांच विधायकों को तोड़ विधानसभा में अपने स्पीकर की मदद से आसानी से सरकार बना सकते है.

वैसे तो आजकल राजनीति में नैतिकता ढूंढना काजल की कोठरी में उजाला ढूंढने जैसा है लेकिन इतना खेल फर्रुखाबादी भी पहली बार ही देखने को मिला. सुशील मोदी ये भी भूल गए की वो अपने ड्राइंग रूम में बैठ चर्चा नहीं कर रहे है बल्कि मीडिया के कैमरे के सामने हैं

Latest news

Related news