Thursday, April 18, 2024

ऐसी कैसी मुलाकात..कि कोई तस्वीर ही नहीं – बीजेपी

मीडिया जगत में अक्सर तस्वीरें सुर्खियां बनती हैं,लेकिन कभी कभी तस्वीर ना होना भी खबर बन जाती है.हम बात कर रहे हैं रविवार को हुई एक खास राजनीतिक मुलाकात की.रविवार की शाम बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की. मुलाकात के बाद नीतीश कुमार और लालू यादव काफी उत्साहित दिखे और बीजेपी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने की बात भी की लेकिन बीजेपी नेताओं का दावा है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने बिहार सीएम और लालू यादव को भाव नहीं दिया.केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बिना नाम लिए कहा कि पता चला है कि सोनिया गांधी ने पलटू राम को दुत्कार कर भगा दिया है.

 

बेगूसराय सांसद गिरीराज सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई की संपादक स्मिता प्रकाश के ट्वीट को रीट्वीट किया है.
वहीं बीजेपी के मीडिया सेल ने भी नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के सोनिया गांधी से मिलने के दौरान एक भी तस्वीर ना होने पर सवाल उठाया .

 

बीजेपी मीडिया सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने ट्वीट किया
“नीतीश कुमार और लालू प्रसाद, सोनिया गांधी से मिलते हैं और उस चर्चित मुलाक़ात की कोई तस्वीर नहीं है. कांग्रेस अध्यक्षा ने बिहार का इतना अपमान किया और प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नीतीश कुमार को तिरस्कृत करके भेज दिया’
बिहार में सरकार जाने के बाद बीजेपी जेडीयू और आरजेडी पर तंज करने का कोई मौका छोड़ना नहीं चाहती है. शायद यही वजह है कि तीनों नेताओं के मुलाकात की कोई तस्वीर सामने नहीं आने पर बीजेपी को सवाल उठाने का मौका मिला है. आमतौर पर मुलाकात के दौरान पत्रकारों के लिए एक फोटो लेने का अवसर दिया जाता है.

 

तस्वीर क्यों नहीं खिचवाई इसकी कई वजह हो सकती है.कांग्रेस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सोनिया गांधी की तबीयत इन दिनों बेहद खराब चल रही है और वो पत्रकारों के सामने कम ही आ रही हैं. शायद इसीलिए इस मीटिंग की कोई तस्वीर देखने को नहीं मिली. लेकिन जो दिलचस्प और बड़ा बदलाव है वो है एजेंडा सेट करने का. पहले बीजेपी कुछ करती थी और विपक्ष सवाल करता था, लेकिन भारत जोड़ो यात्रा हो या नीतीश लालू की सोनिया से मुलाकात. ऐसा लगता है बिहार में सरकार बदलने के बाद से बीजेपी कांग्रेस के एजेंडे में उलझती जा रही है.

Latest news

Related news