Monday, June 17, 2024

मुफ्त सुविधाओं की मांग पर नाराजगी जता फंसी बिहार की IAS, महिला आयोग ने दिया नोटिस

पटना में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान एक छात्रा के स्कूलों में मुफ्त सैनिटरी पैड की मांग करने पर दिए जवाब को लेकर बिहार महिला एवं बाल विकास निगम के प्रबंध निदेशक हरजोत कौर भामरा मुश्किल में आ गई है. आईएएस हरजोत कौर को जहां इस मामले में मीडिया ट्रायल का सामना करना पड़ रहा है वही अब राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी उन्हें एक नोटिस जारी कर इस मामले में लिखित जवाब देने को कहा है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कही कार्रवाई की बात
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “आज सुबह हमें इस बारे में जानकारी मिली कि उसने (हरजोत कौर) ऐसा कुछ बोल दिया है जिससे महिलाओं को बुरा लगा है। मैंने मामले की पूरी जानकारी ली है। हम सभी चीजों को देख रहे हैं और अगर कुछ भी गलत होगा तो कार्रवाई की जाएगी.”

महिला आयोग ने जारी किया नोटिस
राष्ट्रीय महिला आयोग ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जानकारी दी है कि उसने बिहार महिला एवं बाल विकास निगम के प्रबंध निदेशक को नोटिस जारी कर 6 दिन के अंदर जवाब मांगा है. महिला आयोग के विज्ञप्ति में कहा गया है कि “ राष्ट्रीय महिला आयोग को कई मीडिया पोस्ट मिले हैं, जिसमें कथित तौर पर यह बताया गया है कि पटना में एक शर्मनाक घटना में, बिहार महिला एवं बाल विकास निगम के प्रबंध निदेशक ने एक स्कूली छात्रा से पूछा कि क्या उसे भी कंडोम चाहिए? सस्ते सैनिटरी नैपकिन.
आयोग ने पाया है कि एक जिम्मेदार पद पर किसी व्यक्ति का ऐसा असंवेदनशील रवैया निंदनीय और बेहद शर्मनाक है. एनसीडब्ल्यू ने मामले का संज्ञान लिया है. अध्यक्ष सुश्री रेखा शर्मा ने सुश्री हरजोत कौर भामरा, आईएएस को पत्र लिखकर उनकी अनुचित और अत्यधिक आपत्तिजनक टिप्पणी पर स्पष्टीकरण मांगा है.
आयोग ने उनके द्वारा छात्रों को दी गई टिप्पणियों के लिए लिखित स्पष्टीकरण मांगा है. उन्हें जवाब सात दिनों के भीतर देने के लिए कहा गया है.”

क्या है पूरा मामला
राजधानी पटना में महिला एवं बाल विकास निगम द्वारा यूनिसेफ की मदद से सशक्त बेटियां समृद्धि बिहार विषय पर एक दिवसीय वर्कशॉप का आयोजन किया गया. इस वर्कशॉप में कई छात्राएं पहुंची थी. कार्यक्रम में सरकारी अधिकारी महिला सशक्तिकरण की बात करने आए थे, लेकिन मौके पर मौजूद बाल विकास निगम की अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक हरजोत कौर भामरा ने एक छात्रा की स्कूलों में मुफ्त सैनिटरी पैड की मांग पर कुछ ऐसा जवाब दिया, जिसे सुनने के बाद वहां मौजूद लोग हैरान रह गए. आईएएस अधिकारी छात्रा की मांग पर उन्हें याद दिलाने लगी कि सरकार पहले ही काफी कुछ दे उन्होंने कहा कि ऐसे में जींस पैंट, जूते और परिवार नियोजन के लिए कंडोम की मांग सरकार से करना क्या उचित है.

इतना ही नहीं मिलर स्कूल की एक छात्रा के सवाल पर भी अधिकारी उलटा जवाब देती ही नज़र आई. छात्रा ने स्कूल में लड़कियों के शौचालय की दीवार टूटे होने और उसमें लड़कों के आ जाने की शिकायत की. छात्रा ने कहा हम शौचालय ना जाना पड़े इसके लिए पानी कम पीते हैं. इस पर हरजोत कौर ने बयान दिया कि यह बताओ तुम्हारे घर में अलग से शौचालय है, हर जगह अलग से बहुत कुछ मांगोगी तो कैसे चलेगा. उन्होंने कहा कि सरकार लड़कियों को आर्थिक मदद भी कर रही है और लड़कियों के सशक्तिकरण के लिए कई कार्यक्रम भी चला रही है. इस पर एक लड़की ने अधिकारी को याद दिलाया की सरकार का फर्ज़ है कि वह हमारे लिए पैसा दें क्योंकि वह हमसे वोट लेने आती है इस पर हरजोत कौर ने कहा बेवकूफी की इंतहा है, वोट तुम पैसे की एवज में देती हो, चली जाओ पाकिस्तान. इस पर छात्रा ने जवाब दिया मैं हिंदुस्तानी हूं पाकिस्तान क्यों जाऊं
वैसे खुद प्रधानमंत्री मोदी गरीबों के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं को रेवड़ियां बता चुकें है. पीएम ने तो ऐसी योजनाओं को देश के भविष्य के लिए खतरानाक भी बताया था. फिर अगर एक सरकारी अधिकारी ऐसी बता करें तो इसमें हैरानी किस बात की.

Latest news

Related news