Sunday, June 16, 2024

भारत जोड़ो यात्रा: कांग्रेस देश में हिंसा भड़काना चाहती है-बीजेपी

भारत जोड़ो यात्रा के पांचवें दिन के साथ ही एक नया विवाद भी शुरु हो गया है. इस बार विवाद की वजह कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष राहुल गांधी नहीं बल्कि कांग्रेस का ट्वीटर अकाउंट है. सोमवार सुबह कांग्रेस के आधिकारिक ट्वीटर अकांउट से एक पोस्ट शेयर की गई. पोस्ट के शेयर होने के चंद घंटे बाद बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा का बयान आया कि कांग्रेस देश को जलाना चाहती है. इसके साथ ही RSS विचारक डॉ मनमोहन वैद्य ने ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा-ये लोगों को नफरत से जोड़ना चाहते हैं. उनके बाप-दादा ने संघ का बहुत तिरस्कार किया और पूरी ताकत के साथ संघ को रोकने का प्रयास किया. मगर संघ रुका नहीं, संघ लगातार बढ़ रहा है.
कांग्रेस के ट्वीट में क्या है
सोमवार सुबह कांग्रेस के ट्वीटर अकांउट से एक पोस्ट शेयर की गई पोस्ट में लिखा था “देश को नफरत की बेड़ियों से मुक्त करना और भाजपा-आरएसएस द्वारा किए गए नुकसान की भरपाई करना। कदम दर कदम हम अपने लक्ष्य तक पहुंचेंगे। #BharatJodoYatra” इसके साथ ही एक फोटो शेयर की गई थी जिसमें आरएसएस की पुरानी पोशाक खाकी निक्कर थी जिसके एक कोने पर आग लगी नज़र आ रही थी.


संबित पात्रा ने क्या ट्वीट किया
बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने सबसे पहले कांग्रेस के ट्वीट का जवाब दिया. उन्होंने एक के बाद एक दो ट्वीट कर राहुल गांधी से पूछा कि क्या वो देश में हिंसा चाहते है. उन्होंने कांग्रेस से ये तस्वीर तुरंत हटाने की मांग भी की. “ये तस्वीर ट्वीट कर राहुल गांधी क्या आप इस देश में हिंसा चाहते हैं? क्या आप चाहते हैं कि लोग एक दूसरे को जला दें? ये ‘भारत जोड़ो आंदोलन’ नहीं बल्कि ‘भारत तोड़ो’ और ‘आग जलाओ आंदोलन’ है। कांग्रेस को तुरंत इस तस्वीर को हटाना चाहिए” इसके साथ ही उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा आग लगाओ यात्रा है.
“ये तस्वीर BJP और RSS को प्रतिनिधित्व करते हुए कांग्रेस ने ट्वीट किया और उसमें आग जलते हुए दिखाया है। कांग्रेस ने लोगों को उकसाने के लिए ये ट्वीट किया है। इनकी भारत जोड़ो यात्रा,आग लगाओ यात्रा है। ये पहली बार नहीं है जब कांग्रेस ने इस प्रकार की तस्वीर ट्वीट की हो”


कर्नाटक से बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या ने भी किया ट्वीट
कर्नाटक से बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या जो अपने नफरती बयानों के लिए अकसर चर्चा में रहते है उन्होंने ने भी कांग्रेस के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा- “1984 में कांग्रेस की आग ने दिल्ली को जला दिया। इसके इकोसिस्टम ने 2002 में गोधरा में 59 कारसेवकों को जिंदा जला दिया। उन्होंने फिर से अपने इकोसिस्टम से हिंसा का आह्वान किया है। राहुल गांधी के ‘भारतीय राज्य के खिलाफ लड़ने’ के साथ, कांग्रेस संवैधानिक साधनों में विश्वास करने वाला राजनीतिक दल नहीं रह गई है।“


बीजेपी और आरएसएस के हमले पर खामोश है कांग्रेस
बीजेपी और आरएसएस से आ रही प्रतिक्रियों को कांग्रेस नज़र अंदाज कर रही है. कांग्रेस महासचिव और संचार प्रभारी जयराम रमेश ने सिर्फ एक ट्वीट किया जिसमें लिखा था. “ये टीशर्ट और अंडरवियर पर टिप्पणी बिल्कुल बचकाना था, अगर मैं इसकी असलियत बता दूं तो आप हंसेंगे। मैं इस पर नहीं बोलना चाहता हूं। अगर वो इसे मुद्दा बनाना चाहते हैं तो ये बिल्कुल साफ है कि वो घबराए हुए हैं”


सोमवार दोपहर भी मीडिया से मुखातिब होते हुए कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने आरएसएस वाले ट्वीट पर कुछ नहीं कहा, उन्होंने कहा ”बीजेपी भारत जोड़ो यात्रा से घबरा गई है. उन्होंने कहा कि आरएसएस की दिक्कत ये है कि वह हमसे आक्रामक जवाब की उम्मीद नहीं करते है. जब हम आक्रामक होते है तो वह पीछे हट जाते हैं.”
विवादों से किसको होगा फायदा
कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा पहले दिन से ही सिर्फ विवादों के चलते सुर्खियाँ बटोर रही है. रोज नए आरोपों के साथ बीजेपी सोशल मीडिया से लेकर टीवी अखबारों में सिर्फ कांग्रेस की इस यात्रा को कभी भारत तोड़ो तो कभी नफरत जोड़ो जैसे अलग-अलग नाम से मुखातिब कर रही है. कांग्रेस खुद जितना इस यात्रा का प्रचार नहीं कर पा रही है उससे ज्यादा बीजेपी उसपर आरोप लगा कर उसका नकारात्मक ही सही प्रचार तो कर ही रही है. शायद बीजेपी भूल गई है बदनाम हुए तो क्या हुआ नाम तो हुआ.

Latest news

Related news