Thursday, April 18, 2024

गुजरात में अरविंद केजरीवाल का बयान:राक्षसों का विनाश करने आया हूं…

आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी के साथ साथ कांग्रेस के खिलाफ भी मोर्चा खोल दिया है. गुजरात चुनाव के पहले राज्य में चुनावी माहौल गर्म है,इसे और गर्म करते हुए दिल्ली सीएम अरविंद केजरवील ने कहा कि वो गुजरात में राक्षसों के विनाश के लिए आये हैं. सूरत पहुंचे अरविंग केजरीवाल ने विपक्ष की तुलना राक्षसों कर दी. खुद को भगवान का अवतार बताते हुए कहा कि इस दुनिया में उनका आगमन ही राक्षसों के अंत के लिए हुआ है.इससे पहले शनिवार को भी अरविंद केजरीवाल ने खुद के कृष्ण जन्माष्टमी पर पैदा होने की बात करते हुए कहा कि उनका जन्म ही राक्षसो के अंत के लिए हुआ है.
सूरत पहुंचे केजरीवाल ने कहा कि भले ही कांग्रेस और बीजेपी उपर से अलग खुद को दिखाते है लेकिन गुजरात के मामले में दोनों एक ही हैं.बीजेपी और कांग्रेस की सांठगांठ हैं. दोनो मिल कर कुछ खिचड़ी पका रहे हैं. ,बीजेपी को भी गुजरात की जनता की चिंता नही है.बीजेपी दूसरे राज्यों मे जाकर उन्हें मुफ्त में बिजली पानी देने की बात करती है लेकिन गुजरात की जनता को मुफ्त कुछ भी नहीं देना चाहती है. बीजेपी पिछले 27 सालों से गुजरात में शासन कर रही है फिर भी कुछ भी ठीक नही है.
आप नेता अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर कहा कि इस दुनिया में उनका आगमन राक्षसो के अंत के लिए हुआ है .जो लोग भगवान के खिलाफ पोस्टर पर असभ्य भाषा लिख रहे हैं वो कंश की औलादें हैं.

जैसे जैसे गुजरात चुनाव नजदीक आ रहे है ,वैसे वैसे आम आदमी पार्टी गुजरात में अपने रणनीति में बदलाव कर रही है. अभी तक बिजली पानी स्वास्थ शिक्षा की बात कर रही AAP अब राम और कृष्ण से भी खुद को जोड़ती नजर आ रही है. अरविंद केजरीवाल ने पहले यहां लोगों को मुफ्त धार्मिक यात्रा की पेशकश की , वहीं अब खुद को जन्माष्टमी पर जन्में होने की बात बार बार रेखांकित कर रहे हैं. इससे साफ है कि शिक्षा स्वास्थ के साथ साथ चुनावों के लिए हिंदुत्व और हिंदुवादी विचारधारा को पकड़ लिया है. गुजरात जैसे राज्य में अरविंद केजरीवाल जम कर इसका प्रयोग कर रहे हैं.
इस बीच राजेंद्र पाल गौतम के बौद्ध कार्यक्रम में शामिल होने के बाद से शुरु हुए विवाद के बाद अपने मंत्री से इस्तीफा ले लिया है.इस्तीफे को बीजेपी हलांकि अपनी जीत बता रही है लेकिन इस मोर्चे पर भी अरविंद केजरीवाल ने इस्तीफा लेकर अपने विरोधियो पर बढ़त बनाने की कोशिश की है. आप ने बता दिया है कि हिंदु सेंटिमेट को वो किसी भी तरह से चोट पहुंचाना नहीं चाहते हैं. भले ही मामला बौद्ध धर्म से जुड़ा हो लेकिन राजेंद्रपाल गौतम का इस्तीफा लेकर केजरीवाल ने साफ कर दिया है कि फिलहाल वो बहुसंख्यक हिंदु सेंटिमेंट के साथ पंगा लेकर गुजरात में अपने खिलाफ माहौल बनने नहीं देना चाहते हैं.

Latest news

Related news