Monday, July 22, 2024

सीमांचल में अमित शाह ने लालू यादव को किया आगाह. नीतीश कुमार को कहा धोखेबाज़

बीजेपी नेता और गृहमंत्री अमित शाह बिहार के सीमांचल के दौरे पर हैं. अमित शाह यहां दो दिन रहने वाले हैं.जैसी की उम्मीद थी बिहार पहुंचते ही अमित शाह ने नीतीश कुमार और लालू यादव पर कड़ा प्रहार किया. अपनी जन भावना महासभा में उन्होंने कहा कि लालू जी सरकार में जुड़ गए हैं और नीतीश जी लालू की गोद में बैठे हैं. अब यहां डर का माहौल बन गया है. अमित शाह ने नीतीश कुमार को धोखेबाज़ भी कहा लेकिन अमित शाह के भाषण का एक हिस्सा चर्चा का विषय बन गया.

क्या बिहार के सीमांचल पर किसी और देश का कब्जा है ?

अपने भाषण में अमित शाह ने कहा कि “मैं आपको कहने आया हूं कि ये सीमावर्ती ज़िले भारत का हिस्सा हैं. किसी को डरने की जरूरत नहीं है. यहां पर नरेंद्र मोदी की सरकार है.” अमित शाह का ये बयान काफी चर्चा का विषय है. पहली बात तो ये कि क्या बिहार के सीमांचल के जिलों को लेकर किसी और देश का दावा है. अगर ऐसा नहीं है तो अमित शाह ने ये बात क्यों की ?

अमित शाह के इस बयान का मतलब क्या है? इस बयान के ज़रिए अमित शाह के निशाने पर कौन है? गृहमंत्री के बारे में कहा जाता है वो जो भी बोलते हैं बहुत आगे का सोच के बोलते हैं. तो इस बयान के जरिए अमित शाह भविष्य के किस मुद्दे को तैयार कर रहे हैं?

आमित शाह ने साधा नीतीश कुमार पर निशाना

पूर्णियां जनसभा में गृहमंत्री अमित शाह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी सरकार पर जम कर बरसे. गृहमंत्री शाह ने नीतीश कुमार पर धोखा देने का आरोप लगाया. नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि हम स्वार्थ और सत्ता की राजनीति की जगह सेवा और विकास की राजनीति के पक्षधर हैं. प्रधानमंत्री बनने के लिए नीतीश बाबू ने जिस एंटी कांग्रेस राजनीति से जन्म लिया था उसी की पीठ में छुरा घोंपकर RJD और कांग्रेस की गोदी में बैठने का काम किया. अमित शाह ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर नीतीश कुमार को घेरते हुए पूछा कि “आप चारा घोटाले के बारे में बात करते थे अब क्या हुआ चारा घोटाले वाले आपकी सरकार में मंत्री हो गये हैं.”

गृहमंत्री की लालू यादव को सलाह

पूर्णियां की जनसभा में गृहमंत्री के निशाने पर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से ज्यादा उनके पिता लालू यादव रहे. गृहमंत्री ने लालू यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरे यहां आने से नीतीश कुमार और लालू यादव की जोड़ी के पेट में दर्द हो रहा है. वह कह रहे हैं कि बिहार में झगड़ा लगाने आये हैं. कुछ करके जायेंगे. झगड़ा लगाने के लिए मेरी क्या जरूरत है लालू जी,आप झगड़ा लगाने के लिए पर्याप्त हो.आपने पूरा जीवन यही काम किया है.

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अपने भाषण में आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव को सलाह भी दे डाली. अमित शाह ने कहा कि “लालू जी आप ध्यान रखियेगा, जिस तरह ये बीजेपी को धोखा देकर आपके साथ हो गये, कहीं आपको धोखा देकर नीतीश कुमार कांग्रेस की गोद में ना बैठ जाये. उन्होंने आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव को याद दिलाया कि नीतीश जी ने प्रतिष्ठित समाजवादी जार्ज फर्नांडिस को भी धोखा दिया था, उनका स्वास्थ्य खराब होते ही समता पार्टी के अध्यक्ष बन गये थे. लालू जी आप भी सावधान रहिये.”

कुल मिलाकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अपने पहले ही भाषण में ये बता दिया कि वो बिहार में जेडीयू-बीजेपी गठबंधन टूटने से नाराज हैं और किसी भी हालत में नीतीश कुमार को बख्शने के मूड में नहीं हैं.

उन्होंने साफ कहा कि नीतीश कुमार ने सत्ता औऱ स्वार्थ की राजनीति की है. नीतीश कुमार कुर्सी के लिए कुछ भी कर सकते हैं. 2024 में लालू-नीतीश की जोड़ी का पत्ता साफ होने वाला है.

Latest news

Related news