Saturday, February 24, 2024

Abu Dhabi BAPS Temple : आबूधाबी का पहला भव्य हिंदु मंदिर बनकर तैयार,वैलेनटाइन डे के दिन पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन

नई दिल्ली : इस्लामिक देश संयुक्त अरब अमीरात के शहर आबूधाबी में पहला हिंदु मंदिर Abu Dhabi BAPS Temple बन कर उद्घाटन के लिए तैयार है. करीब 700 करोड़ की लागत से  दुनिया के बेहतरीन पत्थर और संगमरमर से बना ये मंदिर हिंदु अरब स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना बनने जा रहा है.

Abu Dhabi BAPS Temple नक्काशी और अद्भुत स्थापत्य कला का बेजोड़ संगम

खूबसूरत नक्काशी  और अद्भुत स्थापत्य कला के बेजोड़ संगम से बना ये मंदिर करीब 27 एकड़ भूमि पर बन कर तैयार है. इस मंदिर के उद्घघाटन के लिए अबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है . पीएम मोदी इस मदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे और मंदिर का उद्घाटन भी करेंगे.इस मंदिर को भारत और यूएई के बीच सद्भाव के प्रतीक को तार पर बनाया गया है,. 14 फरवरी को उद्घाटन के बाद 18 फरवरी को आम लोगों के लिए खोल दिया जायेगा.

Abudhabi hindu temple
Abudhabi hindu temple

राम मंदिर की तर्ज पर बना है आबूधाबी का हिंदू मंदिर

देखने वालों के लिए ये मंदिर एक अलग ही अनुभूति देने वाला है. एक इस्लामिक देश में जहां मूर्ति पूजा पर सख्त पाबंदी है ,वहां की इस्लामिक सरकार ने विश्व के सबसे बड़े बहुधर्मी लोकतांत्रिक देश के साथ आपसी सद्भावना को कायम करने के लिए मंदिर बनाने की अनुमति दी है.

Abudhabi hindu temple carving
Abudhabi hindu temple carving

ऐसा पहली बार है कि किसी इस्लामिक देश में सरकार ने हिंदु मंदिर बनाने की अनुमति दी है. जिस देश  ने आज तक केवल अजान की आवाज सुनी है, अब वहां मंदिर की घंटियों की आवाज भी सुनाई देगी.  आइए नजर डालते हैं इसकी खासियतों पर.

Abudhabi BAPS Temple
Abudhabi BAPS Temple

आबूधाबी के इस बेहद खूबसूरत मंदिर का निर्माण बीएपीएस नाम की  संस्था कर रही है. इस संस्था ने दुनियाभर में 1100 से ज्यादा बेहकरीन हिंदु मंदिर बनाये हैं. इसी संस्था ने अहमदाबाद और दिल्ली में अक्षरधाम मंदिर का निर्माण करवाया है.

700 करोड़ में हुआ है बन कर तैयार BAPA TEMPLE

27 एकड़ जमीन में बने इस विशाल और खूबसूरत मंदिर के निर्माण पर लगभग 700 करोड़ रुपये की लागत आई है. इस मंदिर में भारत के राजस्थान से लाये गये गुलाबी के  साथ साथ इटली से लाये संगमरमर भी लगाये गये हैं  और उनपर बेजोड़ नक्काशी की गई है. इस मंदिर में लगाने के लिए खास तरह के पत्थर की शिलायें राजस्थान के भरतपुर से लाई गईं हैं, जिनके बारे में कहा जाता है कि इस पर चाहे कितनी गर्म पड़ जाये, ये ये पत्थर गर्म नहीं होते हैं. यूएई जैसी गर्म जगह में भी इस पत्थर पर गर्मी का कोई असर नहीं पड़ेगा. इस मंदिर को बनाने के लिए यूएई के क्राउन प्रिंस शेख मुहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने 27 एकड़ जमीन  BAPS संस्था को दान में दिया था.

Abudhavi Hindu Temple
Abudhavi Hindu Temple

अक्षरधाम जैसे मंदिर को बनाने वाले कारीगरों ने तैयार किया मंदिर

इस मंदिर को  पूरी तरह से उन भारतीय कारीगरों ने बनाकर तैयार किया जिन्होने भारत में अक्षरधाम जैसे मंदर बनाये हैं. ये मंदिर हिंदु और अरबी संस्कृति का संगम होगा.पूरे मंदिर परिसर में देवी देवताओं गणों का प्रतिमाएं  उकेरी गईं है.

Abudhavi Hindu Temple Craft
Abudhavi Hindu Temple Craft

एशिया का सबसे बड़ा हिंदु मंदिर  

यूएई  के आबूधाबी में बन रहा इस  मंदिर  की गिनती एशिया के सबसे बड़े मंदिर के रुप मे की जा रही है . इस मंदिर की उंचाऊ 108 फीट, चौड़ाई 54.86 मीटर और लंबाई 79.86 मीटर है. इस मंदिर को बनाने में 18 लाख इंटो का प्रयोग किया गया है.

ये भी पढ़े :- Ayodhya Shri Ram Mandir बन रहा हैं हरदिन नया रिकार्ड, 11 दिन में पहुंचे 25 लाख श्रद्धालु, चढावा इतना कि जानकर रह जायेंगे दंग

मंदिर में मौजूद है 7 शिखर और 96 स्तंभ

आबूधाबी के इस मंदिर में कुल मिलकर 7 शिखर यानी 7 मंदिर हैं.जिनमें 96 स्तंभ लगाये गये हैं. मंदिर को घंटियों से सजाया गया है. आपको बता दें कि ये मंदिर कुल मिलकर 27 एकड़ जमीन पर बना है जिसमें 13 एकड़ में मंदिर है और 13 एकड़ मे पार्किंग बनाई गई है.इस मंदिर की नक्काशी में रामायण की कहानी का उल्लेख है. जगह जगह पर रामायण और भारत के अन्य पौराणिक कहानियां दीवारों पर उकेरी गई है.

Latest news

Related news