Sunday, April 14, 2024

क्या दूषित पानी पाकर बीमार हुए भगवंत मान !

ये सवाल इसलिए उठ खड़ा हुआ है क्योंकि दो दिन पहले ही पंजाब सीएम भगवंत मान पेट में दर्द की शिकायत के साथ दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भर्ती हो हुए थे. इस बीच आज आम आदमी पार्टी की पंजाब यूनिट ने अपने ट्वीटर हैंडिल से सीएम भगवंत मान की एक तस्वीर साझा की है जिसमें कहा गया है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान सुल्तानपुर लोधी में पवित्र जल पीते हुए..गुरु नानक साहिब के चरण स्पर्श की पवित्र भूमि..इस नदी की सफाई का श्रेय राज्यसभा सांसद संत सिंचेवाल को दिया गया है. दरअसल इस तस्वीर में सीएम भगवंत मान एक नदी से ग्लास में पानी लेकर पीते दिखाई दे रहे हैं. तो लोगों को ऐसा लग रहा है कि कहीं सीएम मान दूषित पानी की वजह से तो बीमार नहीं पड़े?
ये वीडियो पिछले रविवार का है. पर्यावरणविद और राज्यसभा सांसद बाबा बलवीर सिंह ने सीएम मान को काली बैं की सफाई की 22वीं वर्षगांठ पर शामिल होने के लिए बुलाया था. उन्हें पवित्र नदी के प्रदूषित पानी का गिलास दिया गया जिसे सीएम ने बेझिझक पी लिया .सुल्तानपुर लोधी का ये वो नदी जिसके बारे में मान्यता है कि गुरुनानक देव यहां स्नान किया करते थे. सीएम मान ने इस नदी की सफाई अभियान की सराहना करते हुए लोगों को दिखाया कि नदी का पानी साफ है और इसे पीया भी जा सकता है.
दरअसल पंजाब में दूषित पानी का मुद्दा बेहद गंभीर है औऱ इस बार के चुनाव में भी ये मुद्दा बार बार उठा था. आम आदमी पार्टी ने मुफ्त बिजली और साफ पानी के मुद्दे पर चुनाव लड़ा था और वादा किया था कि उनकी सरकार बनी तो लोगों को साफ पानी और मुफ्त पानी मुहैय्या करायेंगे.लोगों ने वादे पर भरोसा करके छप्पड़फाड़ वोट दिया और AAP की सरकार बन गई. AAP की सरकार बनने के बाद मुफ्त बिजली का वादा तो सरकार ने पूरा किया लेकिन दूषित पानी का मामला जैसा का तैसा बना हुआ है.
सीएम मान ने सुल्तानपुर लोधी के पवित्र नदी से जल पीकर ये साबित करने की कोशिश की कि सफाई अभियान में यहां का पानी पूरी तरह
से साफ है और इसे पीया भी जा सकता है. लेकिन वर्तमान में इस नदी की सच्चाई ये है कि ये नदी से नाला बन चुका है और इसमें आस पास के गांवों और कस्बों के सीवेज का पानी और कचरा आता है.
अब आम आदमी पार्टी के इस वीडियो को देखने के बाद लोगों के जेहन में ये सवाल उठ रहा है कि कहीं इस पानी की वजह से तो सीएम मान बीमार नहीं पड़ गए, क्योंकि जांच के दौरान ये पाया गया था कि सीएम मान के पेट में इंफेक्शन था.
यहां ये बात गौर करने वाली है कि इस वीडियो को पोस्ट करने के पीछे भले ही पार्टी की मंशा सीएम मान के एक्ट को एक जनता का सीएम बताने की रही हो लेकिन इस वीडियो का असर उल्टा भी हो सकता है, क्योंकि जिस पानी को मुख्यमंत्री साफ बता कर पी कर दिखा रहे हैं , जब उस नदी का ये हाल है तो बाकी जगहों का हाल क्या होगा, ये समझा जा सकता है. यहां भी सरकार साफ सफाई के नाम पर केवल खाना पूर्ती करती दिखाई दे रही है .

Latest news

Related news