Sunday, April 14, 2024

नीतीश के शपथग्रहण के साथ तल्ख हुए बीजेपी के बोल, गोपाल जी ठाकुर ने लांघी भाषा की मर्यादा

बिहार में सोमवार की तरह ही मंगलवार का दिन भी गहमागहमी भरा रहा. सुबह से ही पटना बीजेपी कार्यालय पर नेताओं और कार्यकर्ताओं का जुटना शुरु हो गया था. बिहार में JDU-BJP गठबंधन टूटने से नाराज़ बीजेपी ने बुधवार यानी 12 अगस्त को विश्वासघात दिवस के रुप में मनाने का एलान किया था. इसी के लिए पटना बीजेपी कार्यालय के बाहर बीजेपी के धरने में शामिल होने कई सांसद और विधायक पहुंचे थे. जिनमें बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जयवाल के साथ साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री, तारकिशोर प्रसाद, पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणू देवी, मंगल पांडे, पूर्व मंत्री शहनवाज़ हुसैन जैसे बड़े नाम भी शामिल थे.

धरने के दौरान एक एक कर कई नेताएं ने मंच संभाला और नीतीश कुमार के गठबंधन तोड़ने के फैसले के खिलाफ अपने गुस्से का इज़हार किया. इस मौके पर पूर्व मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि नीतीश कुमार से देखा नहीं गया की बीजेपी हर गाव और घर तक तिरंगा लेकर जाती इसलिए उन्होंने सरकार गिराने का काम किया. शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि इस बार बिहार बीजेपी प्रधानमंत्री मोदी की झोली में बिहार की 40 की 40 सीट डालने का काम करेगी.

धरने में नेता बोल रहे थे और सुनने वालों का जोश बढ़ता ही जा रहा था. कोई नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री पद का लालची बता रहा था तो कोई पलटू कुमार.


इस बीच राजभवन में शपथग्रहण की तैयारियां भी जोरों से हो रही थी. करीब दो बजे राजभवन के राजेन्द्र मंडपम में आयोजित शपथग्रहण समारोह में राज्यपाल फागू चौहान ने 8वीं बार नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद और गोपयिता की शपथ दिलाई. उनके साथ राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली. शपथग्रहण समारोह में महागठबंधन के सभी नेता मौजूद थे. शपथग्रहण के बाद तेजस्वी यादव ने पांव छूकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आशीर्वाद लिया. इस मौके पर पूर्व सीएम राबड़ी देवी, तेजप्रताप यादव, तेजस्वी यादव की पत्नी राजश्री यादव सहित कई लोग मौजूद रहे. शपथ ग्रहण के बाद राबड़ी देवी ने सबकों शुभकामना दी। राबड़ी देवी ने कहा कि ये बदलाव बिहार और देश के लिए अच्छा है। वहीं तेजप्रताप ने कहा कि सरकार में वह नौजवानों के लिए काम करने आए हैं। सीएम पद की शपथ लेने के बाद सीएम नीतीश कुमार ने 2024 लोकसभा चुनाव के लिए सभी विपक्ष दलों से एकजुट होने का आह्वान किया. इसके साथ ही नीतीश कुमार एक बार फिर सब को चौंकाते हुए राज्य के अगले विधानसभा चुनाव के बाद सीएम नहीं बनने की इच्छा भी जताई. नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए कहा कि “2014 में जो आए, वो 2024 के आगे रह पाएंगे कि नहीं रह पाएंगे, वो अपना समझें”
महागठबंधन की सरकार गठन के बाद जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह का बीजेपी पर जोरदार पलट वार किया. ललन सिंह ने कहा की बीजेपी गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही थी. उन्होंने कहा कि नीतीश जी ने अभी बीजेपी के साथ यदि विश्वासघात किए हैं, तो 2017 में जब BJP के साथ मिलकर सरकार बनाई थी, तब क्या किया था?… क्या तब वो जनमत का सम्मान था.
इधर महागठबंधन की सरकार जश्न मना रही थी तो उधर बीजेपी का पटना दफ्तर पर धरना जारी था. दिन भर के जोशीले भाषणों के बाद बीजेपी नेताओं की भाषा तल्ख होने लगी. बीजेपी सांसद गोपाल जी ठाकुर ने तो भाषा की मर्यादा ही लांघ दी. उन्होंने नीतीश कुमार पर ऐसा हमला बोला की समता पार्टी के जमाने से लेकर अब तक की बात याद दिला दी.

इस बीच नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव ने अपनी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक भी कर ली. वैसे बिहार में गर्मा गर्मी का माहौल 24 अगस्त तक तो ऐसा ही बना रहने वाला है. 24 अगस्त को नीतीश कुमार सरकार सदन में अपना बहुमत साबित करेगी.

Latest news

Related news