Monday, February 26, 2024

अंकिता हत्याकांड का पूरा सच, बीजेपी नेता के बेटे ने क्यों की हत्या?

उत्तराखंड में रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है.अंकिता की लाश चिला नहर से बरामद कर ली गई है . इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. मामले में मुख्य आरोपी पूर्व BJP नेता का बेटा बताया जा रहा है. पूछताछ में आरोपियों अपने गुनाह को कबूल किया है की उन्होंने ही अंकिता को नहर में धक्का दिया था . इसी कड़ी में अंकिता की हत्या के आरोपियों पर धामी सरकार का पीला पंजा भी चल चुका है.जिस रिसोर्ट में अंकिता काम करती थी उसे बुलडोज़र से ध्वस्त कर दिया गया है. लेकिन सवाल यह उठ रहा है कि आखिर आरोपियों ने अंकिता की हत्या क्यों की, इसके पीछे क्या वजह रही है?

18 सितंबर 2022 से अंकिता भंडारी गायब थी. पुलिस 19 साल की अंकिता की तलाश में जुटी थी .मामला बढ़ने और पुलिस की कार्रवाई शुरू होने के बाद अंकिता की गुमशुदगी मामले में गिरफ्तारियां हुईं. जिसमें जहाँ वो काम करती थी उस रिसोर्ट के मालिक और उसके कुछ साथियों को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ करने पर आरोपियों ने ये बात कबूल की है कि उन्होंने उसको चिल्ला नहर में धक्का दिया था. आरोपियों के कबूलनामे के बाद अंकिता के शव को चिला नहर से बरामद किया गया . अंकिता के पिता ने भी शव की पहचान कर ली है.
जैसे ही लाश बरामद हुई वैसे ही सीएम के विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार ने बताया कि सीएम के आदेश पर पुलकित आर्य के ऋषिकेश के वनतारा रिजॉर्ट पर बुलडोजर चलाया गया है.
लेकिन अंकिता की हत्या कि वजह क्या है ?
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि रिजॉर्ट का मालिक पुलकित आर्य अंकिता पर ग्राहकों से शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाता था. 18 सितंबर की रात भी कुछ ऐसा ही हुआ था. उस दिन दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था. जिसके बाद पुलकित अंकिता को लेकर वहां से निकल गया था.
आरोपियों ने बताया कि वह तीनों अंकिता को लेकर बैराज तक आए थे. आरोपियों ने यह भी कबूला है कि बैराज पर पहुंचने के बाद सभी ने फास्ट फूड खाया और शराब भी पी. इसी बीच अंकिता भंडारी धमकी देने लगी कि वो सभी को बता देंगी कि पुलकित आर्य उस पर ग्राहकों से संबंध बनाने का दबाव बनाता है,और किस तरह रिसोर्ट में गलत काम किये जाते हैं . इसी बात को लेकर अंकित और पुलकित के बीच विवाद बढ़ गया और फिर तीनों ने मिलकर अंकिता को नहर में धक्का दे दिया.

पुलकित आर्य बीजेपी राज्य मंत्री विनोद आर्य का बेटा बताया जा रहा है। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इसके साथ-साथ रिजॉर्ट के मैनेजर सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता को गिरफ्तार किया गया है.
अंकिता हत्याकांड के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के सभी रिजॉर्ट की जांच के लिए जिलाधिकारियों को आदेश दे दिए हैं. मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि जो रिजॉर्ट अवैध बने हैं या अवैध रूप से संचालित हैं, उनके खिलाफ तत्काल आवश्यक कार्रवाई की जाए.

अंकिता भंडारी की मौत को लेकर स्थानीय लोगों में बेहद गुस्सा है. सीसीटीवी फुटेज और सर्विलांस से जानकारी जुटाने के बाद जब पुलिस तीनों आरोपियों को पकड़कर जीप से थाने ले जा रही थी तभी भीड़ ने जीप को रोक लिया. भीड़ ने आरोपियों को जमकर पीटा. उनके कपड़े तक फाड़ दिए. वहीं लोगों ने पुलकित के रिजॉर्ट में भी जमकर तोड़फोड़ की है.
अंकिता की हत्या के माले में पुलिस ने रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित उर्फ पुलकित गुप्ता को गिरफ्तार किया है. सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 201, 120-B के तहत केस दर्ज किया गया है. हत्या का मुख्य आरोपी पुलकित आर्य BJP राज्य मंत्री विनोद आर्य का बेटा है.
इस खबर ने उत्तरखंड समेत पूरे देश में फिर से खलबली मचा दी है. आज फिर एक बेटी को बेरहमी से मौत के घात उतार दिया गया। जिस महिला सुरक्षा कि बात सरकार करती है. दावा करती है वो ज़मीनी स्तर पर कितनी खोकली है ये आप समझ ही गए होंगे.

Latest news

Related news