Monday, June 17, 2024

मनीष सिसोदिया के लॉकर की तलाशी,मुख्यमंत्री केजरीवाल ने किया बीजेपी पर पलटवार

अरविंद केजरीवाल मंगलवार को दिल्ली सरकार द्वारा बन रहे हॉस्पिटल का निरीक्षण करने पहुँचे. इस मौक़े पर केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोविड के दौरान हमने निर्णय लिया था हॉस्पिटल बनाने का और अब ये हॉस्पिटल अक्टूबर महीने तक बनकर तैयार हो जाएगा. यह 330 बेड का होगा. सीबीआई द्वारा मनीष सिसोदिया के बैंक लॉकर जांच के विषय पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि मुझे लगता है कि जब हम पब्लिक लाइफ में आते हैं तो हमें हर जांच का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए. सीबीआई ने मनीष जी के घर पर 14 घंटे जांच की उनके घर से भी कुछ नहीं निकला.7 घंटे तक गहन पूछताछ की, जितने सवाल पूछे सभी सवालों के संतुष्टिपूर्वक जवाब दिया. आज लॉकर चेक किया लॉकर में भी कुछ नहीं निकला. एक तरीके से आज क्लीन चिट मिल गई है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हफ्ते-10 दिन के अंदर मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार तो करेंगे ही सीबीआई के लोग क्योंकि यह सारी कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है.
क्लासरूम बनाने में हुए भ्रष्टाचार के आरोपों पर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं मीडिया में देख रहा था कि आरोप क्या हैं कि इन्होंने सरकारी स्कूल इतने ज़्यादा क्यों बना दिए, अरे ज़्यादा बनाए हैं तो देश के लिए अच्छी बात है…बच्चे पढ़ेंगे. मेरी फैमिली इन क्लास रूम में नहीं रह रही. फिर कह रहे हैं कि इतने ज़्यादा टॉयलेट क्यों बना दिए .टॉयलेट ज़्यादा इसलिए बनाए ताकि बच्चियों को दिक्कत ना हो .फिर क्लास रूम में लगाए गए महंगे इक्विपमेंट पर सवाल उठाए गए. हम अमीर-गरीब सब के बच्चों को अच्छी शिक्षा देना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि एमसीडी के स्कूलों का बहुत बुरा हाल हो रहा है. हमारी एमसीडी में जब सरकार आएगी तो हम MCD के स्कूलों को भी अच्छा करेंगे.
अन्ना हजारे के पत्र पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि जब भी ये कुछ कहते हैं और जनता इनकी सुनती नहीं है तो यह किसी और को सामने लाते हैं. जैसे पंजाब के पहले उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल आतंकवादी है तो फिर इन्होंने कुमार विश्वास को आगे कर दिया. फिर उन्होंने कहा शराब घोटाला हो गया तो सीबीआई ने कहा कि कोई घोटाला नहीं हुआ. अब सीबीआई ने कह दिया कि कोई घोटाला नहीं हुआ तो फिर अब अन्ना हजारे को आगे कर रहे हैं.
मुझे लगता है कि अब इसके ऊपर राजनीति नहीं होनी चाहिए. ये लोग दिल्ली में 20-20 करोड़ रुपए देकर एमएलए खरीदना चाहते थे, इसकी जांच होनी चाहिए. हम जांच से नहीं भाग रहे तो फिर यह जांच से क्यों भाग रहे हैं.

Latest news

Related news