Monday, July 22, 2024

यूपी मानसून सत्र: अखिलेश यादव के मार्च को पुलिस ने रोका, धरने पर बैठे एसपी नेता

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज जबरदस्त हलचल है. विधान सभा का मानसून सत्र आज से शुरु हो गया है. इसके साथ ही शहर में राजनीतिक सरगर्मियां भी बढ़ गई है. मानसून सत्र हंगामेदार होगा इसकी झलक आज लखनऊ की सड़कों पर नज़र आ रही है. विपक्ष सदन से लेकर सड़क तक सरकार को घेरने की तैयारी में है. इसी कड़ी में महंगाई और बेरोज़गारी के मुद्दे पर समाजवादी पार्टी अपने नेता अखिलेश यादव के नेतृत्व में सड़क पर मार्च कर रही थी. खबर है कि अखिलेश यादव के इस मार्क को पुलिस ने रोक दिया है. पुलिस की कार्रवाई से नाराज़ अखिलेश यादव सड़क पर घरना देने बैठ गए हैं.

सरकार लगातार महंगाई बढ़ाती जा रही है-अखिलेश यादव
मार्च का नेतृत्व कर रहे समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर आरोप लगाए कि जनता महंगाई में पिस गई है, सरकार लगातार महंगाई बढ़ाती जा रही है. कानून व्यवस्था राज्य में इससे ज्यादा खराब कभी नहीं हुआ था. उन्होंने कहा राज्य में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है.
अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य के कुछ हिस्सों में बाढ़ ग्रस्त हो तो कुछ सूखा ग्रस्त. लेकिन सरकार न ही किसानों के नुकसान की भरपाई कर रही है न ही उन्हें राहत दे रही है. अखिलेश यादव ने कहा राज्य में लम्पी वायरस का प्रकोप है. हजारों-हजार गायें इसकी चपेट में आकर जान गवा बैठी हैं, लेकिन सरकार जानवरों की देखभाल और उनके बचाव के लिए कुछ नहीं कर पा रही है. इससे पहले सुबह ही पुलिस ने समाजवादी पार्टी कार्यालय को घेर लिया था. पुलिस की सुरक्षा में सुबह से पार्टी कार्यालय पर एसपी कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ जुटना शुरु हो गई थी.

मार्च पर क्या बोले सीएम आदित्यनाथ
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी के मार्च पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी से किसी नियम या किसी शिष्टाचार को माने की उम्मीद करना केवल एक कपोल कल्पना ही कही जा सकती है. सीएम योगी ने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से अगर कोई दल या व्यक्ति अपनी बात रखता है तो इसमें कोई बुराई नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर मार्च के लिए समाजवादी पार्टी ने कोई अनुमति मांगी होगी, तो उन्हें जो भी सरल मार्ग होगा, वो प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराया गया होगा.

जनता के मुद्दों पर सदन में बात करें एसपी-केशव प्रसाद मौर्या
वहीं समाजवादी पार्टी के मार्च पर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि समाजवादी पार्टी जिसे मार्च के नाम पर विरोध प्रदर्शन कर रही है वह जनता के हितों से जुड़ा हुआ है ही नहीं. उन्होंने कहा कि अगर एसपी जनता से जुड़े किसी मुद्दे पर चर्चा करनी है तो सदन में करनी चाहिए. उन्होंने समाजवादी पार्टी को कार्यवाही का हिस्सा बनने को कहा. उप मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार चर्चा के लिए तैयार है.

रविवार को हुई मार्च की तैयारी
समाजवादी पार्टी के विधायकों और एमएलसी सदस्यों की रविवार को एक बैठक बुलाई गई. इस बैठक में मानसून सत्र को लेकर रणनीति पर चर्चा हुई. इसी बैठक में फैसला लिया गया कि सोमवार को समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता सड़क पर उतरेंगे. बैठक के बाद समाजवादी पार्टी विधायक मनोज पांडेय ने मीडिया को मार्च के बारे में जानकारी दी.

मार्च के साथ आरएलडी, बीएसपी खिलाफ
समाजवादी पार्टी के मार्च को जहां आरएलडी का समर्थन मिला है वहीं बीएसपी इसके खिलाफ है. आरएलडी ने समाजवादी पार्टी के प्रदर्शन में शामिल होने का एलान किया है. आरएलडी के नेता विधानमंडल में अपने नेता राजपाल बालियान के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहे हैं. लेकिन बसपा ने अपने को बाकी विपक्ष से अलग रखा रहा. बीएसपी ने एसपी के मार्च पर विरोध जताया है. बसपा नेता और विधायक उमाशंकर सिंह ने पार्टी का पक्ष मीडिया के सामने रखा.

मानसून सत्र 19 से 23 सितंबर तक चलेगा
आपको बता दें उत्तर प्रदेश विधानसभा का ये सत्र सोमवार से शुरु होकर शुक्रवार तक चलेगा.

Latest news

Related news