Monday, July 22, 2024

भारत जोड़ो यात्रा: कब होगी बेरोज़गारी और महंगाई पर बात?

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा चौथे दिन में प्रवेश कर गई है. यात्रा से पहले भारत जोड़ो पर आपत्ति जता चुकी बीजेपी ने 2 दिन तक यात्रा को नज़रअंदाज़ किया. तीसरे दिन राहुल गांधी की महंगी टी-शर्ट को लेकर कांग्रेस की यात्रा पर निशाना साधा तो अब चौथा दिन एक नये विवाद के साथ शुरु हुआ है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है. वीडियो में राहुल गांधी हिंदू विरोधी टिप्पणियों के लिए कुख्यात पादरी जॉर्ज पोन्नैया से बात करते नज़र आ रहे है. कहा जा रहा है कि पादरी ने राहुल के सामने हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया और वो खामोश सुनते रहे.
बीजेपी का राहुल पर हमला
बीजेपी अब इस वीडियो को लेकर राहुल के हिंदू विरोधी होने का हंगामा कर रही है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है “क्या ये भारत जोड़ो है? दूसरे के तुष्टिकरण के लिए एक धर्म की निंदा करना..आमतौर पर कांग्रेस और विशेष रूप से राहुल की यह “हिंदू नफरत” अब कोई छुपा मामला नहीं है … राहुल इसे अपनी गर्व से अपने आस्तीन पर पहनते हैं! “भारत-तोड़ो”.”


बीजेपी नेता संबित पात्रा ने ये भी कहा कि सिर्फ इस बार नहीं राहुल गांधी और सोनिया गांधी कई बार हिंदू देवी देवताओं का अपमान करते रहे है.
क्या है राहुल के वीडियो का सच
कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने अपनी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान शुक्रवार यानी 9 सितंबर 2022 को तमिलनाडु में पादरी जॉर्ज पोन्नैया से मुलाकात की. इसी मुलाकात के दौरान हुई एक चर्चा की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. वीडियो में जीसस क्राइस्ट के बारे में चर्चा हो रही है.पादरी राहुल गाँधी को समझा रहे हैं कि यीशु ही असल में ईश्वर हैं. वो शक्ति या दूसरे हिंदू देवी-देवताओं की तरह अवतार नहीं है वो मनुष्य के रुप में भगवान है. जिसपर राहुल सवाल पूछते और सर हिलाते नज़र आ रहे है. इसी वीडियो को लेकर ट्वीटर पर कई हैश टैग चल रहे है
#rahulgandhi, #shakti #pastor #bharatmata #Christianity #sonofgod #hindugod .
इन हैशटैग के जरिए राहुल को हिंदू विरोध कहा जा रहा है. कहा जा रहा है कि खुद को जनेऊधारी बताने वाले राहुल गाँधी को हिंदू देवताओं के ऐसे अपमान पर चुपचाप बैठे पादरी की बातों को सुनते देखा जा सकता है. पादरी ये दर्शाते रहते हैं कि जीसस क्राइस्ट ही असली भगवान हैं जबकि हिंदू देवता काल्पनिक हैं. लेकिन राहुल इस पर कुछ नहीं बोलते.
कौन है पादरी जॉर्ज पोन्नैया
राहुल गाँधी जिस पादरी जॉर्ज पोन्नैया से बात करते नज़र आ रहे है उनपर पहले हिंदू धर्म के खिलाफ आपत्तिजनक बातें करने के आरोप है. जुलाई 2021 में पादरी जॉर्ज पोन्नैया का एक वीडियो सामने आया था जिसमें उनके हिंदू धर्म के खिलाफ बोलने का आरोप था. जिस पर विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने वीडियो को आधा अधूरा बताते हुए माफ़ी माँग ली थी. जनवरी 2022 में पादरी जॉर्ज पोन्नैया ने अपने खिलाफ दर्ज इस FIR को रद्द करने की अपील की जिसे मद्रास हाईकोर्ट ने अस्वीकार कर दिया था. तब हाईकोर्ट ने पादरी के बयान को हिंदुओं के लिए बेहद अपमानजनक माना था.
भाजपा की हेट फैक्ट्री का एक घटिया ट्वीट- जयराम रमेश
वायरल हो रहे ट्वीट पर कांग्रेस ने भी अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वीडियो में जो ऑडियो है उसका एक दूसरे से संबंध नहीं है. ये बीजेपी की हेट फैक्ट्री से निकला है. ऐसे वीडियो वायरल करना बीजेपी का विशिष्ट तुच्छ तरीका है. कांग्रेस के प्रवक्ता जयराम रमेश ने एक ट्वीट के ज़रिए बीजेपी के ट्वीट को झूठा करार दिया है. जयराम रमेश ने लिखा है.“भाजपा की हेट फैक्ट्री एक घटिया ट्वीट वायरल करने का प्रयास कर रही है.ऑडियो में जो कुछ भी रिकॉर्ड किया गया है,उससे इसका कोई संबंध नहीं है.यह भाजपा का विशिष्ट तुच्छ तरीका है। #BharatJodoYatra के सफल शुरुआत और लोगों द्वारा मिल रहे समर्थन को देखकर ये हताश हो गए हैं”


जयराम रामेश ने एक और ट्वीट भी किया जिसमें उन्होंने लिखा, “जो लोग महात्मा गांधी की हत्या के लिए ज़िम्मेदार हैं। जिन लोगों ने नरेंद्र दाभोलकर, गोविंद पानसरे, गौरी लंकेश और एमएम कलबुर्गी जैसे लोगों की हत्या की, वो आज सवाल उठा रहे हैं। कैसा विकृत मज़ाक है! #BharatJodoYatra की भावना को ठेस पहुँचाने के ऐसे सभी प्रयास बुरी तरह विफल होंगे!”


कब होगी महंगाई और बेरोज़गारी पर बात
कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के चार दिन में जिस तरह के विवाद उठ रहे है उससे तो ये साफ है कि बीजेपी यात्रा से लोगों का ध्यान हटाना चाहती है. यात्रा को खबरों में तो कम जगह मिल रही है लेकिन विवादों पर घंटों बहस चल रही है. लड़ाई मीडिया के तीनों रुपों में दिख रही है. अखबार और टीवी पर तो कांग्रेस पहले ही आरोप लगा चुकी है कि वो सत्ता के साथ है. सोशल मीडिया पर वो अपनी यात्रा को सफल बनाने की कोशिश में थी पर लगता है अब यहाँ भी यात्रा के 150 दिन विवाद ही देखने को मिलेगा.

Latest news

Related news